ताज़ा खबर
 

डीएम को आया गुस्‍सा, अफसर को बोले- ऐ गधा एडीएसओ, बेवकूफ, तुम्‍हारी जेब से काटेंगे पैसे

डीएम को बाढ़ राहत सामग्री में धांधली की जानकारी मिली थी, जिसके बाद उन्होंने फूड पैकेजिंग सेंटर का औचक निरीक्षण किया था।

बिहार के मोतिहारी के डीएम रमन कुमार।(Photo Source: Video Grab)

बिहार में बाढ़ ने कई दिनों से तबाही मचा रखी है। कई लोगों की इसमें मौत हो गई तो कई बेघर हो गए। बाढ़ में कईयों के घर, जानवर, फसल बह गई है। ऐसे में सरकार की ओर से बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री बांटी जा रही है। राज्य के मोतिहारी जिले में बाढ़ राहत सामग्री बांटने में धांधली देखने को मिली है। धांधली देखकर वहां के डीएम रमन कुमार अपने जूनियर अधिकारियों पर भड़क पड़े। उन्होंने सबके सामने ही एक अधिकारी को फटकार लगाई। रिपोर्ट्स के मुताबिक डीएम को राहत सामग्री में धांधली की शिकायत मिली थी, जिसके बाद उन्होंने फूड पैकेजिंग सेंटर का औचक निरीक्षण किया।

औचक निरीक्षण पर डीएम ने पाया कि वहां धांधली हो रही है। इसके अलावा उन्होंने वहां पूछताछ भी की। जब उन्हें धांधली के बारे में पता चला तो वे वहां पर मौजूद एडीएसओ पर भड़क गए। उन्होंने सबके सामने गुस्से में एडीएसओ को ‘गधा’ कहकर पुकारा। डीएम ने कहा, ‘अरे गधे एडीएसओ, इधर आओ… बेवकूफ कहीं का… मेरे को बोला सारे पैकेट सेंटर से निकल गए हैं… क्या रखा हुआ है तुम्हारे यहां… तुम्हारे जेब से काटकर हम देंगे सरकार के खाते में पैसा जमा कराएंगे।’ हालांकि, इस दौरान एडीएसओ अपनी सफाई देते रहे, लेकिन डीएम ने एक नहीं सुनी।

बिहार में बाढ़ से मरने वालों की संख्या 500 से ज्यादा है। बिहार में आई बाढ़ से 19 जिलों किशनगंज, अररिया, पूर्णिया, कटिहार, पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण, दरभंगा, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, सीतामढी, शिवहर, समस्तीपुर, गोपालगंज, सारण, सिवान, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा एवं खगड़िया की एक करोड़ 71 लाख 64 हजार आबादी प्रभावित हुई है। बाढ़ से सबसे अधिक अररिया में 95 लोग, सीतामढी में 47, पूर्णिया में 44, पश्चिमी चंपारण में 42, कटिहार में 40, दरभंगा में 37, पूर्वी चंपारण में 32, मधेपुरा में 29, मधुबनी में 28, किशनगंज में 24, मुजफ्फरपुर में 21, गोपालगंज 20, सुपौल में 16, सारण में 13, खगड़िया में 10, सहरसा में 8, शिवहर 6 तथा समस्तीपुर में 2 व्यक्ति की मौत हुई है।

राज्य में बाढ़ प्रभावित इलाके से सुरक्षित स्थान पर पहुंचाये गए 854936 लोगों में से 106650 व्यक्ति अभी भी 115 राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं। बाढ़ से प्रभावित लोगों के लिए सरकार हसंभव मदद की कोशिश कर रही है। राज्य सरकार ने कई शिविर लगाए हैं और बाढ़ पीड़ित लोगों को राहत सामग्री बांट रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App