ताज़ा खबर
 

निक्कर-बनियान में विधानसभा पहुंचे बिहार के ये विधायक, कहा- कुर्ता मोदी सरकार को और पैजामा बिहार सरकार को दे दिया

लौरिया विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक विनय बिहारी आज विधानसभा की कार्यवाही में भाग लेने, शॉर्ट्स और बनियान पहनकर ही पहुंच गए।
विनय बिहारी। (Source: ANI)

बिहार में एक बीजेपी विधायक ने अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए विरोध करने का नया तरीका ढूंढ निकाला है। पश्चिमी चम्पारण की लौरिया विधानसभा सीट से बीजेपी विधायक विनय बिहारी आज विधानसभा की कार्यवाही में भाग लेने, शॉर्ट्स और बनियान पहनकर ही पहुंच गए। विनय का दावा है कि वह पिछले एक महीने से अपने क्षेत्र में शार्ट्स पहनकर ही घूम रहे हैं और वह ऐसा तब तक करेंगे जब तक, उनके क्षेत्र की सड़कें नहीं बन जातीं। दरअसल विनय अपने क्षेत्र के बेटिया और रतवाल इलाकों को जोड़ने के लिए सड़क निर्माण की मांग कर रहे हैं और जब तक उनकी मांग पूरी नहीं हो जाती उन्होंने ऐसे ही निक्कर और बनियान पहनकर घूमने का प्रण लिया है।

वहीं आज बिहार विधानसभा में भी विनय जब निक्कर और बनियान पहनकर पहुंच गए तो उन्हें अंदर जाने की इजाजत नहीं दी गई। विनय के पहनावे की वजह से उन्हें सत्र में भाग लेने की अनुमति नहीं मिली जिसका विरोध करते हुए वह विधानसभा के बाहर ही बैठ गए। विनय के मुताबिक 2013 में बिहार के मुख्य मंत्री नीतीश कुमार ने भी सड़क बानवाने का वादा किया था लेकिन अभी तक कुछ नहीं हुआ है। इसके अलावा विनय ने यह जानकारी भी दी कि निर्माणकार्य से जुड़ी सभी औपचारिक प्रक्रियाएं भी पूरी की जा चुकी हैं लेकिन इसके बावजूद भी काम शुरु कराने में देरी की जा रही हैं।

विनय के मुताबिक बीते विधानसभा चुनाव के बाद, राजनीतिक कारणों से इस प्रॉजेक्ट को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है। विनय ने यह भी कहा कि सड़क का काम कराने के लिए उन्होंने अपना कुर्ता भारत सरकार को और पैजामा बिहार सरकार को दे दिया है। विनय बिहारी अभी बीजेपी के विधायक हैं। इससे पहले वह पिछली नीतीश कुमार की सरकार और जीतन राम मांझी की सरकार में भी मंत्री पद पर थे। विनय बिहार विधानसभा में निर्दलीय सदस्य थे और ठीक 2015 के विधानसभा चुनाव से पहले वह बीजेपी में शामिल हो गए थे।

देखें विनय बिहारी निक्कर और बनियान में

वीडियो: दिल्ली: नोटबंदी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.