ताज़ा खबर
 

खुला चैलेंज देते हैं, कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता मेरा- वर्दी की धौंस दिखाते दारोगा का वीडियो वायरल

बिहार के खगड़िया के चित्रगुप्त नगर थाने के दरोगा का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह तेज आवाज में वर्दी की धौंस देते हुए दिखाई देते हैं। वीडियो में दरोगा खुद को सनकी बताते हुए कह रहे हैं कि उनकी ऊपर तक पहुंच है और कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता है।

खगड़िया के चित्रगुप्त नगर थाने में तैनात प्रिय रंजन कुमार का धौंस देने वाला वीडियो वायरल हो रहा है। (यूट्यूब के वीडियो से लिया गया स्क्रीनशॉट)

बिहार के खगड़िया के चित्रगुप्त नगर थाने के दरोगा का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह तेज आवाज में वर्दी की धौंस देते हुए दिखाई देते हैं। वीडियो में दरोगा खुद को सनकी बताते हुए कह रहे हैं कि उनकी ऊपर तक पहुंच है और कोई उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकता है। दरोगा का वीडियो ईटीवी भारत के बिहार डेस्क नाम के यूट्यूब चैनल पर शेयर किया गया है। इस पर दी गई जानकारी के मुताबिक वर्दी की धौंस देने वाले दरोगा का नाम प्रिय रंजन कुमार है। स्थानीय मीडिया के अनुसार दरोगा प्रिय रंजन कुमार ने जांच के नाम शहर के बाहर परीक्षा देने जा रहे एक प्ले स्कूल के संचालक के बेटे को थाने में बैठा लिया था। दरोगा पर आरोप है कि उन्होंने बिना वजह छात्र को परेशान किया और जब छात्र के पिता थाने पहुंचे तो उनसे बदतमीजी से बात की। दरोगा वीडियो में मेज पर हाथ पटकते हुए और तेज आवाज में बोलते हुए दिखाई देते हैं।

दरोगा प्रिय रंजन कुमार वीडियो में जोर-जोर से और जल्दी-जल्दी जो कहते हुए दिख रहे हैं उसमें धौंस भरी बातें सुनाई देती हैं। जैसे कि मेरा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। मेरी पहुंच ऊपर तक है। मैं सनकी टाइप आदमी हूं। हम आपको चैलेंज देते हैं कि मेरा कुछ भी करके दिखा दीजिए। मेरे बारे में नहीं मालूम है कि हम क्‍या हैं? हम सिर्फ दारोग नहीं हैं। पावर की बात है तो हमको बहुत पावर है। जो दारोगा अपनी पावर नहीं पहचानता है, वह दारोगा नहीं है… वगैरह-वगैरह।

सोशल मीडिया पर आने पर दरोगा का वीडियो खूब देखा और शेयर किया जा रहा है। इसका कारण वीडियो में दिख रहा दरोगा का गुस्सा है। वीडियो वायरल होने पर जब मीडिया ने दरोगा प्रिय रंजन कुमार से संपर्क किया तो उन्होंने कहा कि वर्दी उतरवाने की मिल रही धमकियों के चलते ऐसा बोला। दरोगा के वीडियो के मामले में खगड़िया की एसपी मीनू कुमारी ने मीडिया को बताया कि मामले की जांच का आदेश दिया गया है। वहीं स्कूल के संचालक का कहना है कि दरोगा प्रिय रंजन कुमार जिस तरह से व्यवहार करते हैं, उसे देखते हुए लोग थाने नहीं जाना चाहते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App