ताज़ा खबर
 

पत्रकारों ने पूछा- तेजस्वी यादव कहां हैं? भड़क गईं बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, कहा- आपके घर में है

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी विधानसभा के मानसूत्र के पहले ही दिन पत्रकारों पर भड़क गई। पत्रकारों ने राबड़ी से विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव के बारे में पूछा तो वह नाराज हो गईं।

Author नई दिल्ली | Published on: June 29, 2019 10:50 AM
राबड़ी देवी विधानसभा के मानसून सत्र के पहले दिन हिस्सा लेने पहुंची थीं। (फाइल फोटो/पीटीआई)

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री उस समय भड़क गईं जब पत्रकारों ने उनसे विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और उनके बेटे तेजस्वी यादव के बारे में सवाल पूछ लिया। पत्रकारों के सवाल पर भड़की राबड़ी देवी ने कहा, ‘आपके घर के अंदर है।’ राबड़ी देवी विधान परिषद् की बैठक में हिस्सा लेने पहुंची थी। शुक्रवार को बिहार में विधान मंडल के मानसून सत्र का पहला दिन था।

बिहार विधान परिषद में प्रतिपक्ष की नेता राबड़ी ने आगे कहा कि वे छिप नहीं रहे हैं। वह जहां भी हैं, जल्द ही आ जाएंगे। वे बैठे हुए नहीं हैं। अपने काम में लगे हुए हैं। उल्लेखनीय है कि तेजस्वी ने हाल में संपन्न लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार की गत 28 मई को समीक्षा की थी पर दो जून को अपनी मां और पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी द्वारा आयोजित इफ्तार पार्टी में साथ ही 11 जून को अपने पिता और राजद प्रमुख लालू प्रसाद के जन्मदिवस के अवसर पर अनुपस्थित रहे थे।

तेजस्वी ने किया ट्वीटः इन सब के बीच तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि पिछले कुछ सप्ताह से वह अपनी लंबे समय से लिगामेंट और एसीएल इंजरी का इलाज करा रहे थे। उन्होंने लिखा कि मैं राजनीतिक विरोधियों के साथ ही मीडिया के एक धडे़ की तरफ से चटपटी खबरें पेश किए जाने को लेकर हैरान हूं।

कांग्रेस और भाकपा माले सदस्यों ने किया विरोधः बिहार विधानसभा की कार्यवाही शुरू होने के पहले कांग्रेस और भाकपा माले के विधायकों ने सदन परिसर में हाथों में तख्तियां लेकर प्रदर्शन करते हुए एईएस (चमकी बुखार) जिससे गर्मी के मौसम में 150 से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है, को महामारी घोषित करने की मांग की। विपक्षी दलों ने इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय को बर्खास्त करने की मांग की। बिहार विधानसभा की कार्यवाही के पहले दिन मुख्यमंत्री नीतीश कुमार मौजूद थे।

इससे पहले विधान मंडल के सत्र के पहले दिन एक्यूट इंसेफेलाइटिस सिंड्रोम (एईएस) से मरने वाले बच्चों और लू से मरने वाले लोगों के साथ-साथ दिवंगत हुए जननायकों को श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इसके बाद दोनों सदनों को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया गया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories