ताज़ा खबर
 

लालू की RJD को झटका! BJP का दामन थामेंगे पूर्व सांसद

सीताराम यादव के बारे में बताया जाता है कि वो सीतामढ़ी से दो बार सांसद और पुपरी से तीन बार विधायक रह चुके हैं।

bihar, rjd, jduसीताराम यादव 3 बार विधायक रह चुके हैं। फोटो सोर्स – फेसबुक, @sitaram yadav

बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को बड़ा झटका लगा है। पार्टी के पूर्व सांसद सीताराम यादव 27 जनवरी को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में शामिल होंगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 27 जनवरी को पटना में आयोजित एक कार्यक्रम में सीताराम यादव भाजपा का दामन थामेंगे। 69 साल के सीताराम यादव सीतामढ़ी के कद्दावर नेताओं में शामिल हैं। बिहार में पंचायत चुनाव होने वाले हैं। कई चुनावी विश्लेषकों को मानना है कि सीताराम यादव के बीजेपी में जाने से लालू प्रसाद यादव की पार्टी को बड़ा झटका लग सकता है। कभी लालू के करीबियों की लिस्ट में शुमार रहे सीताराम यादव सीतामढ़ी सीट से सांसद और तीन बार विधायक रह चुके हैं।

सीताराम यादव के बारे में बताया जाता है कि वो सीतामढ़ी से दो बार सांसद और पुपरी से तीन बार विधायक रह चुके हैं। सीताराम यादव के बड़े बेटे दिलीप राय विधान पार्षद तो बहू उषा किरण जिला परिषद अध्यक्ष रह चुकी हैं।

बताया जा रहा है कि सीताराम यादव की लालू-राबड़ी सरकार में खूब चलती थी। लालू ने उन्‍हें कैबिनेट मंत्री भी बनाया था। आरजेडी में भी उनकी गहरी दखल थी। पिछले लोकसभा चुनाव में लालू प्रसाद यादव ने उन्हें टिकट नहीं दिया। उनके बदले अर्जुन राय को प्रत्याशी बना दिया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इससे सीताराम की भावना आहत हो गई। हालांकि उस वक्त तो उन्होंने तुरंत बगावत नहीं किया, लेकिन चुनाव के दौरान पूरी तरह निष्क्रिय हो गए। सीताराम का असर सीतामढ़ी के आसपास के कई क्षेत्रों में व्यापक माना जाता है। उनके निष्क्रिय हो जाने का आरजेडी प्रत्याशी के प्रदर्शन पर असर पड़ा और पार्टी की हार हो गई।

हाल ही में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में उन्होंने आरजेडी प्रत्याशी के खिलाफ खुलेआम प्रचार किया। तब जेडीयू के टिकट पर सुरसंड विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रहे दिलीप राय के पक्ष में उन्होंने प्रचार भी किया और आरजेडी प्रत्याशी अबु दोजाना का विरोध किया। शिकायत फिर आलाकमान तक पहुंची। जिसके बाद सीताराम यादव को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था। हालांकि यह माना जा रहा था कि सीताराम यादव को राजद मनाएगी और अपने पाले में वापस बुलाएगी लेकिन अब उन्होंने अपने समर्थकों के साथ भाजपा ज्वायन करने का फैसला किया है।

Next Stories
1 OnePlus 9, OnePlus 9 Pro के स्पेसिफिकेशन लॉन्च से पहले लीक, इनमें होगा स्नैपड्रेगन 888 प्रोसेसर
2 कृषि कानून पर पैनलिस्ट को समझा रहे अर्नब गोस्वामी को मिला जवाब- झूठ क्यों बोल रहे, वकील हूं मैं
3 FAU-G App कल होगा लॉन्च, इंस्टॉल करने से पहले जान लें इसके बारे में सब कुछ
ये पढ़ा क्या?
X