महिलाओं के कमरे में तलाशी लेने पहुंचे पुरुष पुलिसकर्मी, VIDEO शेयर कर राबड़ी देवी ने जताई नाराजगी, कहा- ये निजता के अधिकार का उल्लंघन

बिहार पुलिस के एक छापे का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में बिहार पुलिस कमरों की तलाशी लेती दिख रही है। इस दौरान वहां पर महिलाएं भी मौजूद हैं।

rabri devi, bihar liquor ban
पुलिस की हरकत से नाराज हुईं राबड़ी देवी (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

बिहार में इन दिनों शराबबंदी को लेकर जमकर हंगामा मचा हुआ है। जहरीली शराब की मौत के बाद विपक्ष जहां सरकार से इस कानून को रद्द करने की मांग कर रहा है, वहीं सरकार ने इसके खिलाफ और अभियान तेज कर दिया है। इसी क्रम में पटना समेत कई जगहों पर पुलिस ने छापे मारे हैं।

अब इन्हीं पुलिसिया कार्रवाई पर सवाल उठ रहे है। दरअसल एक छापे का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में पुलिस कमरों की तलाशी लेती दिख रही है। इस दौरान वहां पर महिलाएं भी मौजूद हैं। अब इसी वीडियो को लेकर विपक्ष ने पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठा दिए हैं।

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री और राजद नेता राबड़ी देवी ने इस कार्रवाई की आलोचना करते हुए कहा है कि महिलाओं के कमरे की तलाशी पुरुष पुलिसकर्मी ले रहे हैं। ये निजता का उल्लंघन है। उन्होंने ट्वीट कर कहा- बिहार पुलिस शराबबंदी के नाम पर बिना महिला पुलिसकर्मियों के दुल्हन के कमरों और कपड़ों की तलाशी ले रही है। यह निजता के अधिकार का उल्लंघन है। बिहार में शराब कैसे व क्यों पहुंच रही है, कौन पहुंचा रहा है? उसकी जांच और खोजबीन नहीं, लेकिन उल्टा सनकी सरकार महिलाओं को ही परेशान कर रही है”?

उन्होंने एक और ट्वीट में कहा- अब लोग शादी करें या तानाशाह की सनक मिटाए। बिहार पुलिस, शराब माफिया और सरकार के गठजोड़ से ये खुद शराब मंगवाते, बेचते और बिकवाते हैं। उस पर कारवाई ना करने की बजाय आम नागरिकों को परेशान करना, उनकी निजता का उल्लंघन कर, उनके निजी जीवन में अतिक्रमण करना कौन सा कानून है? CM जवाब दें”।

बता दें कि बिहार में इन दिनों कई लोग शराब के साथ पकड़े गए हैं। विपक्ष के आरोपों के बीच नीतीश सरकार ने इस कानून को वापस लेने की बजाय कार्रवाई में तेजी लाने के निर्देश दिए हैं। जिसके बाद से पुलिस लगातार कार्रवाई कर रही है।

वहीं राज्य कांग्रेस की ओर से भी इस कानून को वापस लेने की मांग की गई है।बिहार में 2016 से शराब पर प्रतिबंध लगा हुआ है। कानून का उल्लंघन करने पर सजा का प्रावधान है।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट