ताज़ा खबर
 

Bihar Election: नरम नहीं पड़ रहे LJP चीफ चिराग पासवान के तेवर, जेपी नड्डा से मिले; कहा- जदयू को कम सीट दे भाजपा, नीतीश के ख़िलाफ़ हैं लोग

चिराग पासवान ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर राज्य की राजनीतिक स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने लिखा कि बिहार में इस बार नीतीश कुमार सरकार के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर है।

Bihar election, LJP chief, Chirag Paswan, BJP president,बिहार में एनडीए के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर बातचीत जारी है। (फाइल फोटोः पीटीआई)

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले जनता दल यूनाइटेड और लोक जनशक्ति पार्टी के बीच तकरार खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ लोजपा प्रमुख चिराग पासवान के तेवर नरम नहीं पड़ रहे हैं।

चिराग पासवान ने मंगलवार रात भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की थी। चिराग ने पीएम नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिख कर राज्य की राजनीतिक स्थिति से अवगत कराया। उन्होंने लिखा कि बिहार में इस बार लोग नीतीश सरकार के खिलाफ हैं। ऐसे में भाजपा को जदयू से अधिक सीटों पर चुनाव लड़ना चाहिए। पार्टी के प्रमुख महासचिव अब्दुल खालिक ने एनडीए में कार्यकाल के बारे में पूछे जाने पर कहा कि वे अगली बैठक में “बिहार पहले, बिहारी पहले” के विजन डॉक्यूमेंट पर चर्चा करेंगे।

उन्होंने कहा कि एलजेपी केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक में पार्टी ने चिराग पासवान को एनडीए गठबंधन पर अंतिम निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया है। इस संबंध में फैसला हमारी अगली बैठक के बाद होगा। बुधवार की बैठक के बाद जारी एक बयान में, पार्टी ने कहा, ‘चिराग पासवान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा बिहार के लिए उठाए गए कदमों के बारे में सभी सदस्यों को बधाई दी।

उन्होंने देर रात भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ बैठक के साथ ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे एक पत्र के बारे में बताया।’ बुधवार को लोजपा नेताओं की एक बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की आलोचना की गई। लोक जनशक्ति पार्टी सूत्रों ने कहा कि पासवान ने नड्डा से मुलाकात में उन्हें यह सुझाव दिया कि भाजपा को नीतीश नीत जनता दल (यूनाइटेड) से एक सीट अधिक पर चुनाव लड़ना चाहिए।

गौरतलब है कि भाजपा, जद(यू) और लोजपा राज्य में सत्तारूढ़ राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के घटक दल हैं तथा 243 सदसयीय विधानसभा चुनाव के लिये इन दलों के बीच सीट बंटवारे को लेकर बातचीत चल रही है। जद(यू) और भाजपा ने 2019 का लोकसभा चुनाव 17-17 सीटों पर लड़ा था, जबकि शेष छह सीटें लोजपा के लिये छोड़ी थी।

जद(यू) का मानना है कि उसे विधानसभा चुनाव लड़ने के लिये भाजपा से अधिक सीटें मिलनी चाहिए क्योंकि भगवा पार्टी की तुलना में उसके अधिक विधायक हैं। हालांकि, भाजपा ने सीटों की अपनी संभावित हिस्सेदारी पर कोई आधिकारिक टिप्प्णी नहीं की है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली दंगा: बड़ी साजिश को लेकर पुलिस ने यूएपीए के तहत 15 लोगों के खिलाफ 10 हजार पन्नों का आरोपपत्र दाखिल किया
2 Bihar Election: उप मुख्यमंत्री बोले- बिहार के लोगों को पलायन करने में मजा आता है…इसलिए लोग जाते हैं, राजद ने कहा- शर्म करो
3 करोड़ों रुपये के नमक घोटाले में योगी सरकार के मंत्री पर लटकी तलवार, नोटिस भेजने की तैयारी में यूपी पुलिस; गुजरात के व्यापारी ने दर्ज कराई थी FIR
ये पढ़ा क्या?
X