ताज़ा खबर
 

Bihar Elections: RLSP में टूट! प्रदेश अध्यक्ष गए RJD में, बोले- कुशवाहा के चलते गर्त में दल; नीतीश को भी दे चुके हैं झटका

आरजेडी में शामिल होने के बाद भूदेव चौधरी ने आरएलएसपी प्रमुख कुशवाहा पर खूब निशाना साधा।

bihar elections 2020भूदेव चौधरी को आरजेडी की सदस्यता दिलाते तेजस्वी यादव। (ट्विटर)

बिहार विधानसभा चुनाव से पहले प्रदेश में नेताओं का दूसरे दलों में शामिल होने का सिलसिला जारी है। प्रदेश में विपक्षी महागठबंधन में आरजेडी की सहयोगी आरएलएसपी को उस समय बड़ा झटका लगा जब उसके प्रदेश अध्यक्ष भूदेव चौधरी ने सोमवार को लालू प्रसाद की पार्टी का दामन थाम लिया। राजद प्रमुख लालू प्रसाद के राजनीतिक उत्तराधिकारी माने जाने वाले उनके छोटे पुत्र तेजस्वी यादव ने भूदेव को अपनी पार्टी की सदस्यता आरएलएसपी के संस्थापक उपेंद्र कुशवाहा के दिल्ली से लौटने के कुछ देर बाद दिलाई और पार्टी उपाध्यक्ष बना दिया गया। कुशवाहा के एनडीए में वापसी को लेकर भाजपा के शीर्ष नेताओं के साथ मुलाकात होने की चर्चा है।

आरजेडी में शामिल होने के बाद भूदेव चौधरी ने आरएलएसपी प्रमुख कुशवाहा पर खूब निशाना साधा। उन्होंने कहा उपेंद्र कुशवाहा निजी स्वार्थ में पड़ गए हैं। वो सिर्फ निजी हित सोचते हैं। यही कारण है कि पार्टी गर्त में जा रही है। महागठबंधन ने बीते लोकसभा में उपेंद्र कुशवाहा को पूरा सम्मान दिया। उन्हें उनकी ताकत से अधिक सीटें दी फिर भी वे महागठबंधन के खिलाफ बोल रहे हैं।

चौधरी बांका के धोरैया या भागलपुर के पीरपैंती विधानसभा से चुनाव लड़ सकते हैं। धोरैया से वे विधायक रह चुके हैं। बता दें चौधरी पहले सीएम नीतीश की पार्टी जेडीयू में थे, बाद में वो आरएलएसपी में शामिल हो गए और अब आरजेडी का दामन थाम लिया।

इधर महागठबंधन में असंतुष्ट चल रहे कुशवाहा ने हाल में पटना में आयोजित पार्टी की एक आपात बैठक के दौरान कहा था कि आरजेडी ने जिस नेतृत्व (तेजस्वी यादव) को खड़ा किया है उसके पीछे रहकर प्रदेश में परिवर्तन लाना संभव नहीं। उन्होंने कहा था कि बिहार की जनता चाहती है कि नेतृत्व ऐसा हो जो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सामने ठीक से खड़ा हो सके।

इससे पहले आरजेडी ने 1990 के दशक के बाहुबली आनंद मोहन की पत्नी पूर्व सांसद लवली आनंद को भी अपनी पार्टी में शामिल किया। आनंद मोहन को गोपालगंज के तत्कालीन जिलाधिकारी जी कृष्णैया की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी और वह जेल में है। लवली आनंद अपने बेटे चेतन आनंद के साथ आरजेडी में शामिल होने के लिए तेजस्वी के आवास पर पहुंचीं जिसके बाद उनके बेटे के भी राजनीति के क्षेत्र में उतरने की अटकलें लगाई जानी शुरू हो गई हैं। (एजेंसी इनपुट)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CM के खिलाफ चलाया था ‘भ्रष्टाचार’ को लेकर स्टिंग ऑपरेशन, अब चैनल के ठिकानों पर हुई तलाशी, एंकर से भी पूछताछ
2 Bihar Elections 2020: 2015 के फॉर्म्युले पर मिलकर लड़ेंगी RJD और Congress? बोली लालू की पार्टी- 58 सीट से ज्यादा नहीं देंगे
3 हमारी विरासत: पेट के लिए हल, खेत के लिए जल, परंपरागत साधन और समाधान
IPL 2020 LIVE
X