ताज़ा खबर
 

बिहार चुनाव: जेल में बंद अनंत सिंह को तेजस्वी ने दिया टिकट, 2015 में उनके अपराधों को बनाया था मुद्दा

अनंत सिंह ने 2015 में बतौर निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की थी। तब भी वो जेल में ही थे और उनके अपराधों को आरजेडी ने मुद्दा बनाया था।

bihar elections 2020 RJD JDU BJPबाहुबली नेता अनंत सिंह। (ट्विटर)

बिहार विधानसभा चुनाव में आरजेडी ने बाहुबली नेता अनंत सिंह को टिकट दिया है। एके-47 और ग्रेनेड मामले में पटना की बेऊर जेल में बंद अनंत सिंह बुधवार यानी आज मोकामा विधानसभा क्षेत्र के लिए नामांकन भरेंगे। एमपीएमएलए कोर्ट के स्पेशल जज विपुल सिन्हा ने उन्हें नामांकन दाखिल करने की अनुमति दे दी है। मोकामा से निर्दलीय विधायक और छोटे सरकार के नाम से मशहूर अनंत सिंह लगातार चुनाव जीतते आए हैं।

अनंत सिंह ने 2015 में बतौर निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की थी। तब भी वो जेल में ही थे और उनके अपराधों को आरजेडी ने मुद्दा बनाया था। दरअसल तब विधानसभा चुनाव के दौरान बाढ़ में एक हत्या हुई थी और परिजनों ने इसके लिए अनंत सिंह को जिम्मेदार ठहराया। उस समय अनंत सिंह जेडीयू में थे और लालू यादव के साथ जेडीयू का गठबंधन था। मृतक यादव जाति का था। उस वक्त आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने ही अनंत सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। चुनाव से पहले ही उनकी गिरफ्तारी हो गई थी। उसके बाद से ही वो जेल में हैं। इसके बाद उन्हें जेडीयू से बाहर होना पड़ा।

2020 में उनके घर से एके-47 की बरामदी भी हुई थी। उस मामले में अभी जांच चल रही है। पार्टी नेता तेजस्वी यादव ने भी दिसंबर 2018 में उन्हें बैड एलिमेंट बताया था। हालांकि पार्टी ने अब उन्हें टिकट दिया है। अनंत सिंह ने पिछले दिनों कोर्ट में अपनी पेशी के दौरान मीडिया से कहा था कि वो इस बार आरजेडी के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे और तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाने की दिशा में काम करेंगे।

उल्लेखनीय है कि महागठबंधन में आरजेडी के हिस्से में 144 सीटें और कांग्रेस को 70 सीटें मिली। भाकपा (माले) को 19, माकपा को 4 और भाकपा को 6 सीटें दी गई हैं। बिहार में पहले फेज में 71 सीटों पर चुनाव है। पहले चरण जिन सीटों पर आररजेडी अपने उम्मीदवार उतारेगी वो सीटें इस प्रकार हैं-

बोधगया, इमामगंज, जहानाबाद, डिहरी, नोखा, दिनारा, भभुआ, रामगढ़, बह्रमपुर, शाहपुर, जगदीशपुर, मोकामा, चकाई, बाराचट्टी, शेरघाटी, गुरुआ, रजौली, धौरैया, सूर्यगढ़ा, मखदूमपुर, टेकारी, गोह, ओबरा, झाझा, जमुई, गोविंदपुर, नवादा, बाढ़, लखीसराय, कटोरिया, सुल्तानगंज, बांका, बेलहर, मुंगेर, बराहरा, संदेश, मसौढ़ी, अतरी और बेलागंज।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 PFI का सदस्य होना क्या गुनाह है? RSS तो 3 से 4 बार बैन हो चुका है, डिबेट में बोले अतीक उर रहमान
ये पढ़ा क्या?
X