ताज़ा खबर
 

बिहार चुनावः अटकलें हुईं खत्म, एनडीए का हिस्सा बने जीतन राम मांझी, कहा- बिना शर्त जदयू से गठबंधन

मांझी ने कहा कि जिस गठबंधन के साथ हम लोग फैसला ले रहे हैं नीतीश कुमार के साथ और NDA के साथ, उसे जिताने के लिए हमारे कार्यकर्ता समस्त बिहार में लगेंगे। राज्यहित में बिहार में NDA की सरकार बने इसके लिए हम लोग एड़ी चोटी का पसीना एक कर देंगे।

Bihar election, HAM, jeetan ram manji, RJDजीतन राम मांझी ने कहा कि उनके चुनाव लड़ने का फैसला पार्टी करेगी। (फाइल फोटो)

बिहार चुनाव से पहले तमाम अटकलों को खत्म करते हुए हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्यूलर) बुधवार को एनडीए का हिस्सा बन गई। पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले जेडीयू के साथ गठबंधन करने का ऐलान कर दिया।

मांझी ने कहा कि हम बिना शर्त जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के साथ गठबंधन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम जेडीयू के साथ मिलजुल कर चुनाव लड़ेंगे। चूंकि नीतीश कुमार एनडीए के अंग हैं, इसिलए हम भी एनडीए के पार्टनर हैं। लेकिन हम नीतीश कुमार के नजदीक बने रहेंगे। मांझी ने कहा कि जिस गठबंधन के साथ हम लोग फैसला ले रहे हैं नीतीश कुमार के साथ और NDA के साथ, उसे जिताने के लिए हमारे कार्यकर्ता समस्त बिहार में लगेंगे।

राज्यहित में बिहार में NDA की सरकार बने इसके लिए हम लोग एड़ी चोटी का पसीना एक कर देंगे। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद के गलत चक्कर में हम पड़ गए कि आओ भाई जो NDA काम कर के नहीं दे रही है वो हम करके देंगे। लेकिन वहां हमें यही लगा कि वहां तो भाई-भतीजावाद है, करप्शन है, हर तरह से अपने बारे में विशेष सोच है न कि राज्य के लिए।

खुद के चुनाव लड़ने के सवाल के जवाब में पूर्व मुख्यमंत्री मांझी ने कहा कि यदि उनकी पार्टी के नेता, कार्यकर्ता और जेडीयू के लोग चाहेंगे तो मैं भी चुनाव जरूर लड़ूंगा। हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के अध्यक्ष ने कहा कि यह मामला सहयोगी दलों पर निर्भर करेगा। मांझी ने कहा कि मेरा व्यक्तिगत रूप से मानना है कि 75 वर्ष की आयु के बाद व्यक्ति को सक्रिय राजनीति में नहीं रहना चाहिए।

इससे पहले हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (सेक्युलर) के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने बताया कि उनकी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मांझी 3 सितंबर को मोर्चा के एनडीए का हिस्सा होने की घोषणा करेंगे। उन्होंने कहा, ‘‘हमारे लिए सीट को लेकर समझौता कभी एजेंडा नहीं रहा था। हम विकास को लेकर एनडीए के साथ जा रहे हैं।

हमारी पार्टी का कोई विलय नहीं हो रहा है। हम एनडीए में शामिल होंगे और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की विकास की धारा को आगे बढाने का काम करेंगे।’’

Next Stories
1 ‘सत्ताधारियों का अन्याय व अत्याचार हमेशा नहीं चलता, आज़म खान को भी जल्द न्याय मिलेगा’, डॉ. कफील के बहाने योगी सरकार पर अखिलेश यादव का निशाना
2 STF का शुक्रिया कि एनकाउंटर नहीं किया- रिहाई के बाद कफील खान का योगी सरकार पर तंज
3 बिहार: सड़क और पुल शिलान्यास के सहारे पीएम मोदी करेंगे चुनावी प्रचार का आगाज, हफ्ते भर में 18,000 करोड़ की आठ मेगा प्रोजेक्ट से शुरुआत
ये पढ़ा क्या?
X