ताज़ा खबर
 

बिहार चुनाव में बीजेपी उतारेगी दो-दो प्रभारी, साथियों को साधने से लेकर टिकट बांटने तक भूपेंद्र और देवेंद्र को जिम्मेदारी

भाजपा अपने प्रमुख नेताओं को राज्य चुनावों की जिम्मेदारी सौंपती रही है। भूपेंद्र यादव पिछले साल महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी प्रभारी थे। दिवंगत भाजपा नेता अनंत कुमार 2015 में बिहार विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी के प्रभारी थे।

Bihar election, Bihar news, patna news, BJP leader, Devendra Fadnavisभाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव (बाएं) और महाराष्ट्र के पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस। (फाइल फोटो)

बिहार चुनाव के लिए भाजपा अपनी तैयारियों में कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाह रही है। यही वजह है कि पार्टी ने इस बार विधानसभा चुनाव में दो-दो प्रभारियों को जिम्मेदारी देने जा रही है। भाजपा महासचिव भूपेंद्र यादव अब तक बिहार मामलों के लिए पार्टी के मुख्य व्यक्ति थे। वह राज्य के लिए भाजपा प्रभारी भी हैं।

अब पार्टी सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि चुनाव आयोग द्वारा तारीखों की घोषणा किए जाने के बाद फडणवीस को बिहार चुनाव प्रभारी बनाया है। 5 साल तक महाराष्ट्र की सीएम रहे पार्टी के युवा चेहरे फडणवीस को संघ का करीबी माना जाता है। वह फिलहाल महाराष्ट्र में नेता प्रतिपक्ष हैं। दोनों प्रभारी मिलकर राज्य में टिकट बांटने से लेकर साथियों व विरोधियों को साधने तक की अहम जिम्मेदारी अदा करेंगे। फडणवीस को चुनाव प्रभारी बनाए जाने की खबर पर पार्टी सांसद रामकृपाल यादव ने कहा कि यह स्वागत योग्य कदम है।

यह घटनाक्रम ऐसे समय हुआ है जब अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को लेकर बिहार और महाराष्ट्र सरकार ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए हैं। सुशांत के गृह राज्य बिहार में इस मुद्दा ने भावनात्मक रूप ले लिया है। बताया जा रहा है कि फडणवीस को पार्टी नेतृत्व ने चुनावी तैयारियों के लिए चुना है। और उन्होंने हाल ही में पार्टी की बिहार कोर कमेटी की एक बैठक में भाग लिया था।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता देवेंद्र फडणवीस बिहार विधानसभा चुनावों के मद्देनजर अपनी पार्टी की तैयारियों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। राज्य में भगवा गठबंधन में कुछ मतभेद की खबरों के बीच इसे महत्वपूर्ण घटनाक्रम माना जा रहा है। भाजपा के एक सूत्र ने कहा, “उन्होंने अपना काम पहले ही शुरू कर दिया है और वह सक्रिय भूमिका निभाएंगे।

उनकी जिम्मेदारी के बारे में औपचारिक घोषणा पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा द्वारा बाद में की जा सकती है।” भाजपा के दो सहयोगी दलों, चिराग पासवान नीत लोक जनशक्ति पार्टी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार नीत जनता दल (यूनाइटेड) के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। ऐसे में भाजपा का यह कदम अहम है।

सूत्रों के अनुसार, लोजपा ने भाजपा नेतृत्व को अवगत कराया है कि उसके द्वारा उठाए गए मुद्दों से जिस तरीके से निपटा गया है, वह उससे खुश नहीं है। उन्होंने कहा कि हाल ही में चिराग पासवान ने नड्डा से मुलाकात की थी और कई मुद्दों पर बातचीत की थी। भाजपा अपने दोनों सहयोगियों के बीच संतुलन के लिए प्रयासरत रही है और उसने पहले ही घोषणा कर दी है कि कुमार राजग की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार होंगे।

(भाषा इनपुट के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 स्वतंत्रता दिवस से ऐन पहले शरारती तत्वों ने सरकारी दफ्तर पर फहराया ‘खालिस्तानी झंडा’, डीसी बोले- ये कायर और देशविरोधी हरकत
2 खेल-खेल में बेटे को बच्ची ने दिया धक्का तो पड़ोसी ने कर दी हत्या, बोरी से लाश बरामद
3 केरल में अगस्त सितंबर में होगा कोरोना विस्फोट! रोज आ सकते हैं 10 से 20 हजार केस- स्वास्थ्य मंत्री ने चेताया
ये पढ़ा क्या?
X