ताज़ा खबर
 

Bihar Election: चुनाव बाद एनडीए से नाता तोड़ लेगें नीतीश कुमार? चिराग बोले- 2024 में नरेंद्र मोदी को चुनौती देंगे सीएम

चिराग ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार बार-बार पल्टी मारने के कारण ‘‘पलटूराम’’ के तौर पर जाने जाते हैं। वह इस चुनाव के बाद फिर पल्टी मार सकते हैं। कुछ साल बाद उन्होंने पुराने सहयोगी भाजपा से नाता तोड़ लिया और अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वी के साथ गठबंधन किया।

Bihar Election, NDA, Nitish Kumar, chirag paswanबिहार के खगड़िया में चुनावी रैली को संबोधित करते चिराग पासवान। (फोटोः पीटीआई)

लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) अध्यक्ष चिराग पासवान ने रविवार को दावा किया बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस चुनाव के नतीजे आने के बाद भाजपा से नाता तोड़कर प्रदेश की मुख्य विपक्षी पार्टी राजद के नेतृत्व वाले महागठबंधन में शामिल हो जाएंगे। 2024 के लोकसभा चुनाव में एनडीए को चुनौती देने की एक और कोशिश करेंगे।

बिहार विधानसभा चुनाव अकेले लड़ने का फैसला करने वाले चिराग पासवान को इस चुनाव के बाद नीतीश मुख्यमंत्री के तौर पर स्वीकार्य नहीं हैं और वह मौजूदा विधानसभा चुनाव के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का हाथ मजबूत करने के लिए भाजपा का समर्थन करने का दावा करते रहे हैं। उन्होंने रविवार को दावा किया, ‘‘नीतीश कुमार (जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष), जो बार-बार पल्टी मारने के कारण ‘‘पलटूराम’’ के तौर पर जाने जाते हैं, इस चुनाव के बाद फिर पल्टी मार सकते हैं।

वह राजद प्रमुख लालू प्रसाद के साथ लंबी राजनीतिक लड़ाई के बाद बिहार में सत्ता में आए थे। कुछ साल बाद उन्होंने पुराने सहयोगी भाजपा से नाता तोड़ लिया और अपने कट्टर प्रतिद्वंद्वी के साथ गठबंधन किया।’’ चिराग ने एक समाचार चैनल से बातचीत के दौरान 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी का प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर नीतीश द्वारा विरोध किए जाने को याद किया।

उन्होंने  आरोप लगाया, ‘‘राष्ट्रीय स्तर पर खुद को प्रधानमंत्री को संभावित चुनौती देने वाले के तौर पर पेश करने के लिए नीतीश ने पांच साल पहले हुए विधानसभा चुनाव में मोदी के खिलाफ कितना जहर उगला था। दो साल में लालू प्रसाद को छोड़ दिए और एनडीए में वापस लौट आए।’’

उल्लेखनीय है कि चिराग पासवास के दिवंगत पिता और लोजपा के संस्थापक रामविलास पासवान 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले एनडीए में शामिल हुए थे। जमुई से सांसद चिराग पासवान ने कहा, ‘‘मेरी बात को याद रखें कि नीतीश अपने चुनाव प्रचार के दौरान लालू प्रसाद के प्रति बहुत सजग हैं और एक बार फिर से महागठबंधन के साथ अगली सरकार बनाने की कोशिश कर सकते हैं। यहां तक कि 2024 में खुद को मोदी के एक विकल्प के रूप में पेश करने की कोशिश कर सकते हैं।’’

इससे पहले, लोजपा प्रमुख ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान नीतीश के सात निश्चय में भ्रष्टाचार के अपने आरोपों को दोहराया जिसमें हर घर में पाइप के जरिए पेयजल और पक्की गली एवं नाली की योजनाएं शामिल हैं। मालूम हो कि बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से 140 से अधिक सीटों पर लोजपा ने अपने उम्मीदवार अधिकांश जदयू के प्रत्याशियों के खिलाफ खड़े किए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पंजाब में कृषि कानून को लेकर भाजपा को एक और झटका, युवा भाजपा महासचिव ने छोड़ी पार्टी
2 म.प्र उपचुनाव के प्रचार के अंतिम दिन फिसली शिवराज की जुबान, खुद को बता बैठे पूर्व CM; देखें VIDEO
3 Bihar Elections 2020: क्या नीतीश बाबू के भाई RS पहुंचे, क्या मोदी का रिश्तेदार कहीं पहुंचा क्या?- परिवारवाद को लेकर RJD पर PM का निशाना
यह पढ़ा क्या?
X