ताज़ा खबर
 

Bihar Election: पूर्व राजद नेता की हत्या मामले में तेज प्रताप और तेजस्वी यादव के खिलाफ एफआईआर दर्ज, पत्नी की शिकायत पर हुई कार्रवाई

मृतक के परिवारवालों का आरोप है कि शक्ति मलिक अररिया के रानीगंज से विधानसभा चुनाव लड़ने वाला था इस लिए राजद नेताओं ने उसे रास्ते से हटा दिया।

bihar election 2020 tejashwi yadav tej pratap yadav rjdराजद नेता की हत्या के मामले में दर्ज एफआईआर में तेजस्वी यादव और तेज प्रथाप यादव का भी नाम शामिल है। (PTI Photo)

बिहार चुनाव से पहले राजद को बड़ा झटका लगा है। पूर्व राजद नेता की हत्या के मामले में तेजस्वी यादव और तेजप्रताप समेत 6 लोगों के खिलाफ पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। मालूम हो कि राजद के एससी/एसटी प्रकोष्ठ के पूर्व सचिव शक्ति मलिक की रविवार को हत्या हो गई थी। इस मामले में पूर्णिया के एसपी विशाल शर्मा ने कहा कि मृतक की पत्नी खुशबू देवी की शिकायत पर राजद के वरिष्ठ नेता तेजस्वी प्रसाद यादव, तेज प्रताप यादव, अनिल कुमार साधु समेत 6 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

इस मामले में नेताओं की संलिप्तता निर्धारित करने को लेकर जांच की जा रही है। रविवार को पूर्णिया जिले में मुर्गी फार्म रोड के पास 35 वर्षीय मलिक की अज्ञात लोगों द्वारा हत्या कर दी गई थी। मृतक के परिवारवालों का आरोप है कि शक्ति मलिक अररिया के रानीगंज से विधानसभा चुनाव लड़ने वाला था इस लिए राजद नेताओं ने उसे रास्ते से हटा दिया। मलिक साल 2019 में राजद में शामिल हुआ था। इसके बाद पार्टी ने उसे एससी/एसटी प्रकोष्ठ का राज्य सचिव बना दिया था।

हालांकि, कुछ समय पहले ही शक्ति मलिक ने राजद नेता तेजस्वी यादव पर रानीगंज सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ने के लिए टिकट को लेकर 50 लाख रुपये मांगने का आरोप लगाया था। मलिक की पत्नी ने कहा कि रविवार को सुबह 6 बजे मेरे पति को तीन अज्ञात हमलावरों ने करीब से गोली मार दी। इसके बाद जल्दी से उन्हें सदर अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पत्नी ने आरोप लगाया कि मेरे पति को तेजस्वी यादव की शह पर मारा गया है।

पुलिस का कहना है कि तीन अज्ञात नकाबपोश हमलावर हथियार लेकर मलिक के कमरे में घुसे और करीब से गोली मार दी। उसे तीन गोलियां मारी गई जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। वहीं, इस मामले में एफआईआर को लेकर राष्ट्रीय जनता दल का कहना है कि विधानसभा चुनाव से पहले यह राजनीतिक से प्रेरित होकर कदम उठाया गया है। राजद के राज्य प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि तेजस्वी और तेजप्रताप के खिलाफ लगाए जा रहे आरोप झूठे और आधारहीन हैं। यह एफआईआर भी राजनीतिक भावना से प्रेरित हो कर की गई है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 पंजाब में बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, प्रतिबंधित खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के दो लोग गिरफ्तार
2 Bihar Election: एनडीए से अलग हुई लोजपा, अब अकेले लड़ेगी चुनाव, कहा- जदयू के खिलाफ उतारेंगे उम्मीदवार
3 ‘CM नशे में हैं’, SP के बयान पर बिफरीं BJP नेत्री- आपके गुंडे अपनी डिंपल भौजाई को नहीं छोड़ते हैं और…देखें शो में आगे क्या हुआ?
यह पढ़ा क्या?
X