ताज़ा खबर
 

Bihar Election: जदयू ने जारी की अपने 115 उम्मीदवारों की सूची, देखें किसे कहां से मिला टिकट

बिहार विधानसभा चुनाव के लिये एनडीए में सीटों के बंटवारे के तहत भाजपा को 121 सीटें मिलीं जबकि जद(यू) के हिस्से में 122 सीटें आईं। जद(यू) ने अपने खाते से जीतनराम मांझी की 'हम' पार्टी को सात सीट दी हैं।

Bihar election, JDU list, 115 candidates, cm nitish kumarजदयू ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पार्टी के चुनाव में उतरने के एजेंडे को स्पष्ट किया। (फोटो- twitter@jduonline)

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर जदयू ने अपने कोटे की 115 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने उम्मीदवारों की सूची जारी की। पार्टी ने खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री मदन सहनी को दरभंगा के बहादुर पुर से टिकट दिया है।

गन्ना विभाग की मंत्री बीमा भारती को पूर्णिया के रूपौली से पार्टी की उम्मीदवार होंगी। समाज कल्याण विभाग के मंत्री रामसेवक सिंह गोपालगंज के हथुआ से पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे। जदयू ने लालू प्रसाद यादव के समधी और राजद छोड़ कर आए चंद्रिका राय को परसा से टिकट दिया है। उम्मीदवारों की घोषणा करते हुए जदूय के प्रदेशाध्यक्ष बशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा कि हमारी सूची की खासियत यह है कि सभी समाजों का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया है।

उन्होंने कहा कि  हमारे संकल्प के अनुसार इसमें महिलाओं को विशेष जगह दी गई है। उन्होंने कहा कि हमारा संकल्प है, समावेशी विकास के साथ-साथ समावेशी समाज की स्थापना है। सिंह ने कहा कि पिछले 15 वर्षों में हमारे नेता ने समावेशी विकास किया है और इस सूची में समावेशी विकास के लिए सभी समाज का प्रतिनिधित्व है।

महिला, महादलित समाज, अतिपिछड़ा समाज, अल्पसंख्यक और सवर्ण समाज के साथ पिछड़े वर्गों का भी प्रतिनिधित्व सुनिश्चित किया गया है। जदयू प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि काम हमने किया है, काम ही हमारी कसौटी है, हम सेवा का भाव लेकर जनता के बीच गए हैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कामों ने कीर्तिमान स्थापित किया है।

उन्होंने कहा कि किसी भी सरकार ने पर्यावरण को एजेंडे में रखने पर विचार नहीं किया लेकिन बिहार ने वो कर दिखाया है। हम वोट मांगते हैं अपने काम पर, वादों पर नहीं। हमें विश्वास है कि हम जीतेंगे सेवा के दम पर और अपने कार्यों के दम पर। सिंह ने कहा कि जय प्रकाश नारायण जी ने कहा था कि मैं राजनेताओं को वहां जाने के लिए मजबूर कर दूंगा, जहां रोटी व रोशनी नहीं पहुंचती। आज गांवों तक सड़क बनी हैं, टोले भी सड़कों से जुड़ गए हैं, ऐसे कई काम 15 सालों में हुए हैं जो कि देश में ऐतिहासिक है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कोरोना से बढ़ा मौतों का आंकड़ा, दिल्ली के इस कब्रिस्तान में बढ़ानी पड़ी 5 एकड़ जमीन
2 हाथरस: कांग्रेस कर रही थी दंगे की साजिश? अर्णब गोस्वामी के चैनल रिपब्लिक भारत का दावा
3 शेखपुरा: कांग्रेस से आए नेता को टिकट मिलने पर JDU में बगावत, विरोध में इस्तीफों का दौर
ये पढ़ा क्या?
X