ताज़ा खबर
 

बिहार चुनावः गांव में भाजपा विधायक की प्रचार गाड़ी पहुंचते ही भड़क गई महिलाएं, अपशब्द बोलते हुए फाड़ डाले पोस्टर

भाजपा विधायक केदार प्रसाद गुप्ता की प्रचार गाड़ी गांव में पहुंची थी। जैसे ही गाड़ी गांव में दाखिल होने लगी तो गांव के लोग गाड़ी के सामने आ गए और गालियां देकर उसे वापस जाने को कह दिया।

bihar election 2020, muzaffarpur news, bjp, viral videoकई जनप्रतिनिधियों को जनता के गुस्से का सामना करना पड़ रहा है। (फाइल फोटो)

बिहार चुनाव के लिए समर्थन मांगने पहुंच रहे कई जनप्रतिनिधियों को जनता के गुस्से का सामना भी करना पड़ रहा है। ऐसा ही एक मामला मुजफ्फरपुर के कुढ़नी इलाके के एक गांव का सामने आया है। जहां भाजपा विधायक केदार प्रसाद गुप्ता की प्रचार गाड़ी पहुंची, तो गांव के लोग खासकर महिलाएं भड़क गए और उन्होंने गाली-गलौज कर प्रचार गाड़ी को वापस लौटने पर मजबूर कर दिया। इस घटना का वीडियो भी सामने आया है।

दरअसल भाजपा विधायक केदार प्रसाद गुप्ता की प्रचार गाड़ी गांव में पहुंची थी। जैसे ही गाड़ी गांव में दाखिल होने लगी तो गांव के लोग गाड़ी के सामने आ गए और गालियां देकर उसे वापस जाने को कह दिया। कई महिलाएं गाड़ी के पास पहुंचकर भाजपा विधायक के खिलाफ भला-बुरा कहने लगीं। महिलाओं का कहना था कि पांच साल में अब वोट मांगने के समय उन्हें फिर से हमारी याद आयी है, लेकिन अब तक हमारी कोई सुध नहीं ली।

लोगों का गुस्सा देखकर ड्राइवर ने गाड़ी घुमा ली और वापस जाने लगा तो लोगों की भीड़ ने गुस्से में गाड़ी पर लगे पोस्टर फाड़ डाले। बता दें कि यह बिहार चुनाव में यह पहली घटना नहीं है, जब किसी जनप्रतिनिध को जनता के गुस्से का सामना करना पड़ा है। इससे पहले बीते हफ्ते ही जहानाबाद विधानसभा सीट से राजद उम्मीदवार सुदय यादव को भी जनता के गुस्से से दो चार होना पड़ा था।

दरअसल राजद विधायक सुदय यादव जहानाबाद के रतनी प्रखंड के मुरहारा गांव में प्रचार के लिए पहुंचे थे। लेकिन वहां गांव के लोगों ने विधायक के खिलाफ नारेबाजी करनी शुरू कर दी और विधायक और उनके समर्थकों को गांव से खदेड़ दिया। दरअसल स्थानीय लोग गांव की सड़क ना बनाए जाने से नाराज थे, जिसका वादा कथित तौर पर विधायक द्वारा किया गया था।

इसी तरह जदयू विधायक सत्यदेव कुशवाहा को भी जनता ने इसी तरह नाराजगी में गांव से लौटा दिया था। दरअसल सत्येदव कुशवाहा अरवल जिले के कुर्था विधानसभा सीट से प्रत्याशी हैं। जब वह इलाके के एक गांव में प्रचार के लिए पहुंचे तो वहां के लोगों ने विधायक को घेर लिया और उन्हें इलाके में कोई विकास कार्य ना कराने पर आड़े हाथों ले लिया। लोगों के गुस्से को देखते हुए विधायक सत्यदेव कुशवाहा वहां से चुपचाप निकल गए।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बहन-बेटी के लिए हथियार उठाना आवश्यक, हिंदू महासभा के नेता ने कहा- हिंदू 100 रुपये कमाता है तो 20 रुपए का हथियार खरीदे
2 यूपी में कानून व्यवस्था पर भाजपा विधायक ने खड़े किए सवाल, कहा- मेरे परिवार की बहनें, बेटियां अकेले नहीं जा सकती हैं
3 बिहार चुनाव: लालू की गैरहाजिरी में तेजस्वी को सिखाया समाजवादी राजनीति ककहरा, जानें कौन है संजय यादव
यह पढ़ा क्या?
X