ताज़ा खबर
 

कोविड-19 : चुनाव आयोग ने बिहार चुनाव के लिए पार्टी पंजीकृत कराने के समय में छूट दी

वहीं, बिहार की राजनीति में गहरी पैठ रखने वाले लोजपा नेता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवाना का निधन हो गया है। उनके बेटे चिराग पासवान ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी।

Author Edited By कीर्तिवर्धन मिश्र पटना | Updated: Oct 09, 2020 8:52:03 am
election commission of indiaप्रतीकात्मक तस्वीर।

निर्वाचन आयोग ने कोविड-19 महामारी के कारण लागू पाबंदियों को ध्यान में रखते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि बिहार चुनाव के मद्देनजर नये दलों का पंजीकरण कराने के लिए अब सिर्फ सात दिन का नोटिस देना होगा। पहले किसी भी मोर्चा या समूह को राजनीतिक दल के रूप में पंजीकरण कराने के लिए अपने गठन से 30 दिन के भीतर निर्वाचन आयोग में आवेदन जमा करना होता था। पंजीकरण के लिए आवेदन करने वालों को पार्टी का प्रस्तावित नाम दो राष्ट्रीय और दो स्थानीय अखबारों में दो अलग-अलग दिन प्रकाशित करवाना होगा। यदि किसी को प्रस्तावित पार्टी के पंजीकरण पर आपत्ति है तो उसे नोटिस प्रकाशित होने के 30 दिन के भीतर आपत्ति दर्ज करानी होगी। आयोग का कहना है कि पंजीकरण में यह छूट अंतिम चरण के चुनाव के नामांकन के अंतिम दिन 20 अक्टूबर तक लागू रहेगा।

वहीं, बिहार की राजनीति में गहरी पैठ रखने वाले  लोजपा नेता और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवाना का निधन हो गया। उनके बेटे चिराग पासवान ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी।चिराग ने ट्वीट करते हुए रामविलास पासवान के साथ अपनी एक बचपन की फोटो साझा की। उन्होंने लिखा है, पापा… अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा हमारे साथ हैं। केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ नेता रामविलास पासवान लंबे समय से बीमार थे। कुछ दिनों पहले उनके दिल का ऑपरेशन हुआ था। उन्होंने कई सरकारों में मंत्री पद संभाला था।

Live Blog

Highlights

    06:07 (IST)09 Oct 2020
    अठावले ने रामविलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त किया

    केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने बृहस्पतिवार को अपने कैबिनेट सहयोगी रामविलास पासवान के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि देश ने एक लोकप्रिय दलित नेता को खो दिया। लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के संस्थापक का बृहस्पतिवार को 74 साल की उम्र में दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया। महाराष्ट्र के प्रमुख दलित नेता अठावले ने कहा कि पासवान की मृत्यु देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है। सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्यमंत्री ने कहा कि वह एक लोकप्रिय सांसद और दलित नेता थे। देश ने एक लोकप्रिय नेता को खो दिया है और यह समाज और देश के लिए एक अपूरणीय क्षति है।

    05:14 (IST)09 Oct 2020
    केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान का निधन, शुक्रवार को राजकीय शोक

    देश के प्रमुख दलित नेताओं में से एक केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान का बृहस्पतिवार को निधन हो गया। वह 74 वर्ष के थे। उनके सम्मान में शुक्रवार को राजकीय शोक की घोषणा की गयी है और इस दौरान तिरंगा आधा झुका रहेगा। उनके पुत्र और लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष चिराग पासवान ने पिता के निधन की सूचना साझा करते हुए ट्वीट किया, ‘‘पापा....अब आप इस दुनिया में नहीं हैं लेकिन मुझे पता है आप जहां भी हैं हमेशा मेरे साथ हैं। मिस यू पापा।’’ लोजपा के संस्थापक और उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री पासवान कई सप्ताह से यहां के एक अस्पताल में भर्ती थे। हाल ही में उनके हृदय की सर्जरी हुई थी।

    03:06 (IST)09 Oct 2020
    रामविलास पासवान के निधन पर राष्ट्रपति कोविंद ने कहा : देश ने दूरदृष्टि वाले नेता को खो दिया

    राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने बृहस्पतिवार को कहा कि केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने दूरदृष्टि वाले एक नेता को खो दिया। कोविंद ने उनके निधन पर शोक जताते हुए कहा कि पासवान दबे-कुचले लोगों की आवाज थे और हाशिये के लोगों के हित के लिए लड़ते थे। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘‘केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन से देश ने एक दूरदर्शी नेता खो दिया है। उनकी गणना सर्वाधिक सक्रिय तथा सबसे लंबे समय तक जनसेवा करने वाले सांसदों में की जाती है। वे वंचित वर्गों की आवाज़ मुखर करने वाले तथा हाशिए के लोगों के लिए सतत संघर्षरत रहने वाले जनसेवक थे।’’

    00:51 (IST)09 Oct 2020
    राजग छोड़ने से पहले नीतीश को लेकर चिराग ने भाजपा से कही थी ये बात

    लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) के प्रमुख चिराग पासवान ने भाजपा के अध्यक्ष जे़ पी. नड्डा से आग्रह किया था कि बिहार में राजग के मुख्यमंत्री पद का चेहरा पेश किया जाए और दावा किया था कि नीतीश कुमार के खिलाफ ‘‘लहर’’ है जिससे राज्य विधानसभा चुनाव में सत्तारूढ़ गठबंधन को नुकसान हो सकता है। नड्डा को 24 सितम्बर को लिखे पत्र में पासवान ने आरोप लगाया कि भाजपा के पूर्व अध्यक्ष अमित शाह सहित राजग के शीर्ष नेताओं के खुलेआम आश्वासन के बावजूद कुमार ने उनके पिता को राज्यसभा की सीट देने को लेकर ‘‘अपमानित’’ किया था। उन्होंने दावा किया कि जद (यू) अध्यक्ष ने ऐसे समय में लोजपा के संस्थापक के खराब स्वास्थ्य के बारे में अनभिज्ञता जताई थी जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी अकसर फोन पर उनके स्वास्थ्य का जायजा लेते थे।

    23:29 (IST)08 Oct 2020
    झारखंड की राज्यपाल ने जताया दुख

    केन्द्रीय उपभोक्ता मामले, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर गुरूवार को झारखंड की राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन, केन्द्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा और भाजपा के केन्द्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास समेत तमाम लोगों ने गहरा दुख प्रकट किया और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है। राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर गहरा दुःख एवं शोक प्रकट किया है और कहा कि वह कुशल राजनेता थे तथा कई दशकों से संसद में रहे। उन्होंने कहा, ‘‘वह दलित एवं पिछड़ों के प्रतिनिधि के रूप में जाने जाते थे।’’ उन्होंने प्रार्थना की कि ईश्वर उनकी आत्मा को चिरशांति प्रदान करें तथा उनके परिजनों को इस पीड़ा को सहने की शक्ति प्रदान करें।’’ मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए कहा कि रामविलास पासवान जी लंबे समय तक सांसद रहे। सार्वजनिक जीवन में उनके योगदान को सदैव याद किया जाएगा।

    22:37 (IST)08 Oct 2020
    राज्यपाल फागू चौहान ने जताया दुख

    राज्यपाल फागू चौहान ने अपने शोक संदेश में कहा है कि केन्द्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने रेल सहित कई महत्वपूर्ण विभागों के केन्द्रीय मंत्री के रूप में, अपनी प्रतिभा, योग्यता, कर्तव्य परायणता एवं अनुभव के बल पर देश एवं समाज की अप्रतीम सेवा की। वह समाज के प्रत्येक वर्ग में काफी लोकप्रिय राजनेता रहे तथा गरीबों एवं वंचितों की सेवा में आजीवन लगे रहे। उनके निधन से संपूर्ण देश व समाज, विशेषकर बिहार राज्य को अपूरणीय क्षति हुई है। राज्यपाल ने दिवंगत नेता पासवान की आत्मा को चिर शांति तथा शोक-संतप्त उनके सभी परिजनों एवं प्रशंसकों को धैर्य-धारण की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

    22:18 (IST)08 Oct 2020
    पीएम मोदी ने भी प्रकट की संवेदना

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि उनके निधन से देश में ऐसा शून्य पैदा हुआ है जो शायद कभी नहीं भरेगा। उनके निधन पर मोदी ने कहा, ‘‘दुख बयान करने के लिए शब्द नहीं हैं मेरे पास। हमारे देश में ऐसा शून्य पैदा हुआ है जो शायद कभी नहीं भरेगा’’ उन्होंने कहा, ‘‘रामविलास पासवान जी का निधन मेरी निजी क्षति है। मैंने अपना एक दोस्त, बहुमूल्य सहयोगी और एक ऐसा व्यक्तित्व खो दिया है जो हर गरीब इंसान को सम्मान का जीवन सुनिश्चित करने को लेकर बहुत भावुक थे।’’

    22:10 (IST)08 Oct 2020
    रामविलास पासवान का निधन भारतीय राजनीति के लिये अपूरणीय क्षति : नीतीश कुमार

    केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के निधन पर गहरा शोक प्रकट करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरूवार को कहा कि उनका निधन भारतीय राजनीति के लिये अपूरणीय क्षति है । मुख्यमंत्री ने अपने शोक संदेश में कहा, ‘‘ रामविलास पासवान भारतीय राजनीति के बड़े हस्ताक्षर थे । वे प्रखर वक्ता, लोकप्रिय राजनेता, कुशल प्रशासक, मजबूत संगठनकर्ता और बेहद मिलनसार व्यक्तित्व के धनी थे । ’’ उन्होंने कहा कि वह (पासवान) पहली बार 1969 में बिहार विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए थे । 1977 में वे पहली बार हाजीपुर लोकसभा सीट के लिये चुने गए थे और उनकी यह जीत विश्व रिकार्ड के रूप में दर्ज हुई थी । नीतीश कुमार ने रामविलास पासवान के साथ अपने आत्मीय संबंधों की चर्चा करते हुए कहा कि उनके साथ हमारा पुराना रिश्ता रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘ उनके पासवान) निधन से मुझे व्यक्तिगत तौर पर दुख पहुंचा है । उनका निधन भारतीय राजनीति के लिये अपूरणीय क्षति है ।’’

    19:58 (IST)08 Oct 2020
    पिछले चुनाव में बिहार में 31 रैलियां कर गए थे मोदी?

    पीएम मोदी ने 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में रिकॉर्डतोड़ 31 रैलियां की थीं। दरअसल, उस साल भाजपा चुनाव में अकेले खड़ी थी और नीतीश कुमार की जदयू, राजद और कांग्रेस महागठबंधन में खिलाफ खड़ी थीं। ऐसे में पीएम ने इस चुनाव को जीतने के लिए पूरी ताकत झोंक दी थी। पिछले साल लोकसभा चुनाव में जदयू और लोजपा के साथ रहते हुए पीएम ने बिहार में 10 रैलियां की थीं।

    19:19 (IST)08 Oct 2020
    ओवैसी ने राजद जदयू बीजेपी और कांग्रेस पर साधा निशाना

    तीसरे मोर्चे के गठबंधन समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक का नेता उपेंद्र कुशवाहा को बनाया गया है। वह इस गठबंधन की तरफ से चुनाव में मुख्यमंत्री पद का चेहरा भी होंगे। इस दौरान AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने  बीजेपी जदयू, राजद और कांग्रेस के गठबंधन पर निशाना साधा, उन्होंने कहा कि 15- 15 साल दोनों गठबंधनों को मिला है लेकिन बिहार अभी भी कई मोर्चों पर पीछे है। यह नया मोर्चा बिहार के विकास के लिए काम करेगा।

    19:05 (IST)08 Oct 2020
    बिहार चुनाव, 54 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव नहीं होने से आफत नहीं आ जाती : कुमारस्वामी

    कोविड-19 महामारी के बीच बिहार विधानसभा चुनाव और विभिन्न राज्यों में 54 विधानसभा सीटों पर हो रहे उपचुनाव पर आपत्ति जताते हुए जद (एस) के नेता एच. डी. कुमारस्वामी ने बृहस्पतिवार को कहा कि अगर इस प्रक्रिया को रोक दिया जाता तो आफत नहीं आ जाती। उन्होंने चुनाव आयोग, केंद्र और राज्य सरकारों को चेतावनी दी कि वे आम आदमी के जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं क्योंकि चुनावी प्रक्रिया और प्रचार के दौरान सामाजिक दूरी बनाए रखने जैसे कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करना मुश्किल है। कर्नाटक के सीरा और राजराजेश्वरी नगर विधानसभा क्षेत्र में भी तीन नवम्बर को उपचुनाव होने वाले हैं।

    18:09 (IST)08 Oct 2020
    मोदी को अपना आदर्श मानते हैं चिराग पासवान

    भाजपा नेताओं ने साफ कहा है कि एनडीए के सहयोगी ही पीएम मोदी के फोटो का इस्तेमाल अपने पोस्टर बैनर में कर सकते हैं लेकिन चिराग पासवान का कहना है कि पीएम मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं और वह उन्हें आदर्श मानते हैं, इसलिए पीएम के फोटो को अपने पोस्टर में इस्तेमाल कर सकते हैं। 

    17:31 (IST)08 Oct 2020
    ‘लालू कहां रहेंगे कहां नहीं’, इसका फैसला झामुमो नहीं, जेल प्रशासन करेगा: सुप्रियो

    झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) की केन्द्रीय महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने बुधवार को साफ किया कि राजद प्रमुख, चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव कहां रहेंगे, कहां नहीं, इसका फैसला उनकी पार्टी नहीं करती है बल्कि इसका फैसला जेल प्रशासन एवं रिम्स प्रबंधन करेगा। बिहार विधानसभा चुनाव में महागठबंधन का नेतृत्व कर रहे राष्ट्रीय जनता दल से एक भी सीट न पाने के बाद झामुमो के बिहार में अकेले ही चुनाव मैदान में उतरने के फैसले से उपजी परिस्थितियों में रांची में रिम्स निदेशक के बंगले में इलाजरत लालू प्रसाद को मिली तमाम छूट वापस लिये जाने के कयासों के बीच बुधवार को भट्टाचार्य ने यह स्पष्टीकरण दिया।

    15:27 (IST)08 Oct 2020
    सुशांत मामले में बोले गुप्तेश्वर पांडेय- मैंने कोई गलती नहीं की

    सुशांत मामले में मीडिया में अपने बयानों को लेकर खासा चर्चित हुए थे। टीवी चैनलों पर दिए उनके बयानों की कहीं आलोचना हुई तो कहीं सराहना। इससे जुडे़ सवाल पर उन्होंने कहा, "मैंने कोई गलती नहीं की। कोई अफ़सोस भी मुझे नहीं है। महाराष्ट्र के डीजीपी और मुंबई पुलिस ने जैसा बर्ताव मेरे अधिकारियों के साथ किया, उसके बाद मेरे पास मीडिया में बोलने के अलावा कोई चारा नहीं था।"

    14:58 (IST)08 Oct 2020
    पटना में तेजस्वी के घर के बाहर राजद कार्यकर्ताओं ने लगाए मुर्दाबाद के नारे

    बिहार चुनाव के मद्देनजर पार्टियां जैसे-जैसे उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कर रही हैं, वैसे ही उनके कार्यकर्ताओं में रोष बढ़ता जा रहा है। दरअसल, ज्यादातर पार्टियां जिताऊ चेहरों को मौका देना चाहती हैं, जिससे कई पुराने कार्यकर्ताओं के नाम छूट रहे हैं। इसे लेकर बाकी लोग नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। ऐसा ही वाकया पटना में तेजस्वी यादव के आवास के बाहर हुआ। यहां कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया। बताया गया है कि यह कार्यकर्ता मोतिहारी के RJD से थे। इन्होंने मुर्दाबाद के नारे लगाए और तेजस्वी के आवास पर तैनात सुरक्षाकर्मी से धक्का-मुक्की की।

    14:36 (IST)08 Oct 2020
    उपेंद्र कुशवाहा आज घोषित कर सकते हैं उम्मीदवारों के नाम

    रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा गुरुवार को सीट शेयरिंग और उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर सकते हैं। इसके लिए उन्होंने पत्रकार वार्ता भी बुलाई है। हालांकि, रालोसपा ने आधिकारिक रूप से घोषणा नहीं की है। लेकिन कहा जा रहा है कि पार्टी नेताओं ने सभी प्रत्याशियों को फोन कर टिकट मिलने की जानकारी दे दी है।

    14:05 (IST)08 Oct 2020
    गुप्तेश्वर पांडेय ने प्रेसवार्ता में किया चुनाव लड़ने से इनकार

    पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय ने गुरुवार को प्रेसवार्ता कर चुनाव लड़ने से इनकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि मैं पूरी तरह एनडीए के साथ हूं। उन्होंने सुशांत मामले में सवाल पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस मामले में मेरी भूमिका बिल्कुल साफ है। जो सच है वो जांच के बाद सामने आएगा।

    13:33 (IST)08 Oct 2020
    बक्सर में पूर्व डीजीपी पर भारी पड़ गया पूर्व सिपाही

    बिहार में विधानसभा सीटों पर उम्मीदवारों के ऐलान के साथ ही यह साफ हो गया है कि डीजीपी पद से वीआरएस लेकर जदयू में शामिल होने वाले गुप्तेश्वर पांडेय फिलहाल चुनाव नहीं लड़ेंगे। उनके पहले उनके बक्सर सीट से लड़ाने की योजना थी। लेकिन इस सीट पर 15 साल पहले कॉन्स्टेबल पद छोड़कर भाजपा में शामिल हुए परशुराम चतुर्वेदी को मौका दिया गया है। ऐसे में राजनीतिक हलकानों में चर्चा है कि एक कॉन्स्टेबल ने डीजीपी पर भारी पड़ गया।

    12:57 (IST)08 Oct 2020
    लोजपा ने घोषित किए 30 उम्मीदवारों के नाम

    एनडीए से अलग होकर चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुकी लोजपा ने अपने 30 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी कर दी है। इसमें झाझा में डॉ. रवींद्र यादव, दिनारा में राजेंद्र सिंह, सासाराम में रामेश्वर चौरसिया, पालीगंज में ऊषा विद्यार्थी, जगदीशपुर में भगवान सिंह कुशवाहा, जहानाबाद में इंदु कश्यप, कुटुंबा में सरुण पासवान, चेनारी में शेखर पासवान, तारापुर में मीना देवी, बरबीघा में डॉ. मधुकर कुमार, शेखपुरा में इमाम गजाली, करगहर में राकेश कुमार सिंह, बेलहर में कुमारी अर्चना उर्फ बेबी यादव, सिकंदरा में रविशंकर पासवान, अमरपुर में डॉ. मृणाल शेखर, गोविंदपुर में रणजीत यादव, नवादा में शशि भूषण कुमार, मोकामा में सुरेश सिंह निषाद, सूर्यगढ़ा में रविशंकर प्रसाद सिंह, मसौढ़ी में परशुराम पासवान, रफीगंज में मनोज सिंह, नोखा में डा कृष्ण कबीर, चकाई में संजय कुमार मंडल, संदेश में श्वेता सिंह, बाराचट्टी में रेणुका देवी, कुर्था में भुनेश्वर पाठक, बेलागंज में रामश्रय शर्मा, राजपुर में निर्भय कुमार निराला, अतरी में अरविंद कुमार सिंह, डुमरांव में अखिलेश सिंह को टिकट दिया गया है।

    12:29 (IST)08 Oct 2020
    उम्मीदवारों के खर्च का ब्योरा रखने के लिए तैनात किए गए ऑब्जर्वर

    चुनाव आयोग ने सभी निर्वाचन क्षेत्र के लिए एक्सपेंडिचर ऑब्जर्वर तैनात किए हैं। ये आईआरएस अधिकारी हैं। हर क्षेत्र में वीडियो सर्विलांस टीम बनाई गई है। इसमें एक अधिकारी व एक वीडियोग्राफर को शामिल किया गया है। वीडियो व्यूइंग टीम बनी है। यह सोशल मीडिया या चैनलों पर प्रत्याशी के पक्ष में या विरोध में हो रहे प्रचार पर नजर रखेगी।

    11:55 (IST)08 Oct 2020
    टिकट बँटवारे पर जदयू में उठे बगावत के सुर

    बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के नामांकन की आखिरी तारीख से एक दिन पहले सत्तारूढ़ पार्टी जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) ने अपने 115 उम्मीदवारों की आधिकारिक सूची जारी कर दी है। इस दौरान पार्टी हाईकमान ने कई मौजूदा विधायकों की टिकट काट दी है। इन उम्मीदवारों के नामों की घोषणा हो रही थी तब पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान ही एक बुजुर्ग कार्यकर्ता की मंत्री अशोक चौधरी से जमकर बहस हो गई। इस दौरान चौधरी ने उन्हें समझने की कोशिश भी की, लेकिन जब बुजुर्ग कार्यकर्ता उनकी बात नहीं माने तो मंत्री ने उन्हें धक्का देकर कार्यालय से बाहर कर दिया। जेडीयू ने 18 नये कार्यकर्ताओं पर इस बार दाव लगाया है और 10 मौजूदा विधायकों का पत्ता साफ कर दिया है।

    11:31 (IST)08 Oct 2020
    कोरोना के मद्देनजर चुनाव आयोग ने सीमित की स्टार प्रचारकों की संख्या

    चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव के लिए संशोधित गाइडलाइंस जारी की हैं। आयोग ने विधानसभा चुनाव के लिए मान्यताप्राप्त राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारकों की संख्या को 40 से कम करते हुए 30 कर दिया है। बताया गया है कि आयोग ने यह फैसला कोरोना महामारी के मद्देनजर लिया है। अब राजनीतिक दलों के स्टार प्रचारकों में सिर्फ 30 नेता ही इसमें शामिल किए जा सकेंगे।

    Next Stories
    1 बिहार चुनाव: टिकट बँटवारे पर जदयू में बग़ावत, बुजुर्ग कार्यकर्ता, को मंत्री ने दिया धक्का
    2 बिहार चुनाव: मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांड में पद गंवाने वाली मंत्री को नीतीश ने दिया टिकट
    3 Bihar Election: नीतीश ने दो मंत्रियों का क्षेत्र बदला, 10 विधायक की कर दी छुट्टी; जानें सीएम ने कैसे साधा सामाजिक समीकरण
    यह पढ़ा क्या?
    X