ताज़ा खबर
 

मिसाइल के युग में तीर का क्या काम, एनडीए सरकार के मंत्री के बयान को लेकर तेजस्वी ने किया पलटवार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) का शुभारंभ करेंगे। साथ ही किसानों के प्रत्यक्ष उपयोग के लिए एक समग्र नस्ल सुधार, बाजार और सूचना संबंधी ‘ई-गोपाला ऐप’ की भी शुरुआत करेंगे।

Bihar Elections 2020, Bihar Elections, RJD, Tejashwi YadavBihar Election 2020 Live Updates: चुनाव से पहले बिहार में सियासी माहौल बेहद गरम है।

बिहार में विधानसभा चुनाव करीब आते ही विरोधी दल एक दूसरे पर अपने हमले तेज कर रहे हैं। राजद नेता तेजस्वी यादव ने जब मिसाइल का जमाना आ गया है तो तीर का क्या काम रह गया है। दरअसल तेजस्वी नीतीश सरकार के मंत्री नीरज कुमार के बयान को लेकर जवाब दे रहे थे। सूचना एवं जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार ने कहा था कि नीतीश कुमार के शासन में एलईडी में जीने वाले लोग लालटेन को भूल चुके हैं।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) का शुभारंभ करेंगे। साथ ही किसानों के प्रत्यक्ष उपयोग के लिए एक समग्र नस्ल सुधार, बाजार और सूचना संबंधी ‘ई-गोपाला ऐप’ की भी शुरुआत करेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) से जारी एक बयान में कहा गया कि मोदी इस मौके पर बिहार में मछली पालन और पशुपालन क्षेत्र से जुड़ी कुछ अन्य योजनाओं की भी शुरुआत करेंगे। बिहार में इस साल अक्टूबर-नवम्बर में विधानसभा चुनाव होने हैं। डिजिटल माध्यम से आयोजित इस कार्यक्रम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अलावा केन्द्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री गिरिराज सिंह भी उपस्थित रहेंगे।

 

Live Blog

Highlights

    09:47 (IST)10 Sep 2020
    बिहार में भीम आर्मी महागठबंधन में हो सकती है शामिल

    दूसरी तरफ, विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे पास आ रहे हैं राज्य में राजनीति गरम होती जा रही है। इसी बीच भीम आर्मी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद ने बिहार चुनाव में एंट्री की है। चंद्रशेखर ने मंगलवार को मोतिहारी के मधुबन में एक विशाल सभा को संबोधित किया। चंद्रशेखर ने इस सभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और भाजपा पर करारा प्रहार किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि भाजपा व नीतीश को हराने के लिए किसी से भी गठबंधन कर सकते हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि आज़ाद महागठबंधन के साथ जुड़ सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो राज्य में दलित वोट बैंक को लेकर सियासत और गरम हो जाएगी।

    09:03 (IST)10 Sep 2020
    आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत मत्स्य क्षेत्र पर केंद्रित है योजना

    पीएमएमएसवाई मत्स्य क्षेत्र पर केंद्रित और सतत विकास योजना है। जिसे आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत वित्त वर्ष 2020-2021 से 2024-2025 की अवधि के दौरान सभी राज्यों में कार्यान्वित किया जाना है। इस योजना में 20,050 करोड़ रुपये का अनुमानित निवेश होना है।

    22:50 (IST)09 Sep 2020
    डिजिटल प्रचार के लिए भाजपा, राजद ने बनाए वाट्सएप ग्रुप

    भाजपा ने अपनी सबसे नीचे की इकाई पन्ना प्रमुखों का भी वाट्सएप ग्रुप बना लिया है। राजद की तैयारी भी कुछ इसी तरह की है। उसने भी बूथ स्तर पर वाट्सएप ग्रुप बना लिया है। कांग्रेस ने प्रखंड स्तर पर इस तरह का समूह बना रखा है। जदयू की तैयारी भी लोगों के घर-घर तक पहुंचने की है, लेकिन भाजपा का डिजिटल अभियान सभी दलों अलग और व्यापक है।

    21:57 (IST)09 Sep 2020
    बेनामी संपत्ति पर जवाब नहीं दे पाए तेजस्वी यादव

    उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि मुख्यमंत्री ने वर्चुअल रैली में विपक्ष की हर बात का बिंदुवार जवाब दिया। सड़क, बिजली, स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि, कब्रिस्तान-मंदिर, महिला आरक्षण और रोजगार से लेकर कानून-व्यवस्था तक एक भी मुद्दे पर विपक्ष तथ्यों को चुनौती नहीं दे पाया, जबकि तेजस्वी प्रसाद यादव बेनामी सम्पत्ति के आरोप पर आज तक बिंदुवार जवाब नहीं दे पाए।

    21:35 (IST)09 Sep 2020
    बेरोजगारी को लेकर पूरा देश हताश, बोले तेजस्वी

    बिहार चुनाव से पहले राजद ने नीतीश सरकार को 15 साल के शासन पर घेरने में जुट गया है। तेजस्वी यादव ने बेरोजगारी के खिलाफ लालटेन जलाने के बाद कहा कि बेरोजगारी को लेकर बिहार ही नहीं पूरे देश के युवा हताश है।

    21:24 (IST)09 Sep 2020
    बैंक आत्मनिर्भर भारत योजना का अधिकाधिक लाभ किसानों, उद्यमियों को दें : सुशील मोदी

    बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने बैंकों से आत्मनिर्भर भारत योजना का अधिकाधिक लाभ किसानों एवं उद्यमियों को देने का आह्वान किया है। पटना के अधिवेशन भवन में बुधवार को आयोजित राज्यस्तरीय बैंकर्स समिति की 73 वीं बैठक में आत्मनिर्भर भारत योजना के विभिन्न पहलुओं की गहन समीक्षा करते हुए सुशील ने कोरोना संकट से पूरे देश में निबटने के लिए भारत सरकार द्वारा घोषित 20 लाख करोड़ के पैकेज का अधिकाधिक लाभ बिहार के किसानों, उद्यमियों, छोटे कारोबारियों तक पहुंचाने में बैंकों को सहयोग करने का आह्वान किया।

    20:56 (IST)09 Sep 2020
    15 में बिहार को कुछ भी नहीं मिलाः कांग्रेस

    कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री प्रमोद तिवारी ने आरोप लगाया कि आरोप लगाया कि बीते 15 सालों में बिहार और मिथिलांचल को कुछ नहीं मिला। तिवारी ने कहा कि कोरोना काल में बिहार के लोगों ने परेशानी झेली है। जब दूसरे राज्य अपने लोगों को बुलाने के लिए गाड़ियां भेज रहे थे, तब बिहार में उन्हें आने से रोका जा रहा था। प्रमोद तिवारी बुधवार को कांग्रेस के मधुबनी-सुपौल जिला के बिहार क्रांति वर्चुअल महासम्मेलन में बोल रहे थे। 

    20:26 (IST)09 Sep 2020
    ...तब जदयू के खाते में आई थीं तीन सीट

    खगड़िया जिले के अलौली, खगड़िया, बेलदौर व परबत्ता विस में वर्ष 2015 के चुनाव के दौरान जदयू ने तीन सीटों पर कब्जा कर लिया था। यहां केवल अलौली की सीट पर राजद ने जीत दर्ज की थी। साल 2010 के विस चुनाव के दौरान भी जदयू ने तीन सीटों पर जीत हासिल की थी।

    20:05 (IST)09 Sep 2020
    तेज प्रताप के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं ऐश्वर्या

    वहीं मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने कहा है कि वो तेजप्रताप के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं। चंद्रिका राय बात को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं कि ऐश्वर्या अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र है और ऐसी परिस्थिति में वो उसका सपोर्ट करेंगे। चंद्रिका राय के मुताबिक 'मैं ऐश्वर्या को चुनाव लड़ने से नहीं रोकूंगा चाहें वो जिस सीट पर भी खड़े होने का निर्णय करे।' वहीं तेज प्रताप यादव महुआ विधानसभा छोड़ कर हसनपुर से चुनाव लड़ सकते हैं। सोमवार को तेज प्रताप ने हसनपुर में रोड शो भी किया है।

    19:25 (IST)09 Sep 2020
    विधानसभा चुनाव में बड़े भाई की ही भूमिका में रहेगा जदयू

    राज्य में विधानसभा चुनाव-2020 को लेकर एनडीए में जदयू बड़े भाई की भूमिका निभाने की तैयारी में है। एनडीए के बड़े नेताओं ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही सीएम पद के उम्मीदवार होंगे। यह स्पष्ट होने के बाद से ही एनडीए में जदयू का कद बड़ा हो चुका है। अब मुख्य मुद्दा एनडीए में सीटों के तालमेल को लेकर रह गया है।

    18:59 (IST)09 Sep 2020
    बेगूसराय में भाजपा का नहीं खुला था खाता

    2015 के चुनाव में बेगूसराय जिले में भाजपा का खाता नहीं खुल पाया था। वहीं, जिले के चेरिया बख्तियारपुर, बछवाड़ा, तेघरा, मटिहानी, साहबपुर कमाल, बेगूसराय व बखरी में वर्ष 2015 के विस चुनाव के दौरान राजद ने सबसे अधिक तीन सीटें जीती थीं। इसके अलावे जदयू व कांग्रेस को दो-दो सीटों का लाभ हुआ था।

    18:25 (IST)09 Sep 2020
    लोजपा को उकसाने में जुटा महागठबंधन

    महागठबंधन, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के एनडीए में शामिल होने से नाराज़ लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के प्रमुख चिराग पासवान को महागठबंधन उकसाने में लगा है। महागठबंधन ने एलजेपी को उनके साथ जुड़ने के संकेत दिया हैं। वहीं पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान को एनडीए में "अपमान सहन नहीं करने" की नसीहत दी है।

    17:58 (IST)09 Sep 2020
    मुंगेर प्रमंडल में महागठबंधन ने किया था 21 में 19 सीटों पर कब्जा

    मुंगेर प्रमंडल के छह जिलों मसलन मुंगेर, बेगूसराय, जमुई, खगड़िया, लखीसराय व शेखपुरा के लगभग 21 विस के चुनाव में राजद, जदयू, कांग्रेस, जेएमएम मजबूत रही है। वर्ष 2015 के विस चुनाव के दौरान जेएमएम व सीपीआइ को एक भी सीट नहीं मिल पायी थी। वहीं, इस चुनाव में महागठबंधन ने 21 में से 19 सीटों पर कब्जा कर लिया था।

    16:59 (IST)09 Sep 2020
    राजद में शामिल हो सकती हैं पुतुल सिंह

    बिहार के मशहूर राजनीतिक परिवार की सदस्य पुतुल सिंह अपनी बेटी श्रेयसी सिंह समेत सभी समर्थकों के साथ राष्ट्रीय जनता दल में अब कभी भी एंट्री कर सकती हैं। जमुई में आयोजित एक जनसभा में उन्होंने अपने समर्थकों का मन टटोला. हालांकि, वे किस तिथि को राजद में शामिल होंगी. यह अभी तय होना है।

    16:32 (IST)09 Sep 2020
    जेडीयू का पारंपरिक रूप से गढ़ रही है महुआ सीट

    वैशाली जिले के तहत आने वाली महुआ सीट पारंपरिक रूप से जेडीयू का गढ़ रहा है लेकिन 2015 में राजद-जेडीयू गठबंधन होने के नाते लालू यादव ने अपने बेटे की इस सीट से सेफ लॉन्चिंग कराई थी और उनकी जीत भी हुई थी। तेज प्रताप के चुनाव क्षेत्र बदलने पर बीजेपी ने कहा कि वे कहीं से भी लड़ें, हार तय है।

    15:29 (IST)09 Sep 2020
    मांझी का प्रभाव गया जिले और उसके आसपास के इलाक़ों में ज्यादा

    जीतन राम मांझी का प्रभाव गया जिले और उसके आसपास के इलाक़ों में माना जाता है। राजनीति में आने के बाद से मांझी फ़तेहपुर, बाराचट्टी, बोधगया, मखदूमपुर और इमामगंज से भी चुनाव लड़े और जीत हासिल की, लेकिन गया सीट से सांसद के रूप में उनके निर्वाचित होने का सपना उनका अभी तक पूरा नहीं हो सका है, जो उनकी सीमितता को दर्शाता है। वर्ष 2015 के विधानसभा चुनावों में जीतनराम मांझी की पार्टी ने 21 सीटों पर चुनाव लड़ा था, लेकिन, पार्टी एक सीट ही जीत पाई थी।

    15:05 (IST)09 Sep 2020
    एनडीए में एलजेपी की जगह लेंगे मांझी, बिहार में महादलितों की आबादी 15 प्रतिशत

    मांझी की एनडीए में एंट्री से एनडीए की हार-जीत में बहुत अंतर भले नहीं पड़ेगा, लेकिन इससे एलजेपी कुछ हद तक कमजोर ज़रूर होगी क्योंकि वह एनडीए में एकमात्र दलित चेहरा होने को लेकर अब जेडीयू को ब्लैकमेल नहीं कर पाएगी। जीतन राम मांझी अनुसूचित जाति की बिरादरी से आते हैं। चिराग पासवान भी इसी बिरादरी का हिस्सा हैं। बिहार में महादलित व अनुसूचित जातियों की आबादी करीब 15 प्रतिशत है। इनमें पासवान यानी दुसाध बिरादरी 5 प्रतिशत और मुसहर 1.8 प्रतिशत हैं। वहीं, ओबीसी आबादी करीब 50% प्रतिशत है।

    14:25 (IST)09 Sep 2020
    करीब चार दर्जन सीटों में मुस्लिम वोटरों का दबदबा

    राज्य की 243 सीटों वाली विधानसभा में करीब चार दर्जन (47) सीटें ऐसी हैं, जहां मुस्लिम वोटरों का न सिर्फ दबदबा है बल्कि वो उम्मीदवारों की हार-जीत तय करते हैं। इन सीटों पर मुस्लिम आबादी 20 से 40 फीसदी तक है। राज्य में 16 फीसदी मुस्लिम आबादी और करीब 14 फीसदी यादव वोटरों को राजद अपना वोट बैंक समझता रहा है। इसी के सहारे लालू-राबड़ी ने पंद्रह वर्षों तक शासन किया। अब लालू के लाल भी उसी वोट बैंक की बदौलत सत्ता में वापसी का सपना देख रहे हैं लेकिन आंकड़े बताते हैं कि ये राह आसान नहीं है।

    13:40 (IST)09 Sep 2020
    एलजेपी के आंकड़े ऐसे नहीं जो सहयोगियों पर दबाव बना सके

    बिहार में एलजेपी हर तरह से दांव आजमा चुकी है, अकेले भी लड़कर व गठबंंधन के सहारे भी, लेकिन नतीजे कुछ खास नहीं रहे। पिछले 15 साल में हुए चार चुनावों में एलजेपी के आंकड़े ऐसे नहीं रहे जो उसे सहयोगियों पर दबाव बनाने की स्थिति में ला सकें। 2005 में फरवरी में हुए चुनाव में उन्होने 178 सीटों पर उम्मीदवार उतारकर 29 सीटें जीतीं थी। अब तक के सर्वाधिक 12.62 फीसद वोट भी उसी चुनाव में मिले। हालांकि, वह जीत काम नहीं आई। सरकार ही नहीं बनी और विधानसभा भंग कर दी गई थी।

    13:07 (IST)09 Sep 2020
    बिहार चुनाव में भीम आर्मी की एंट्री, आज़ाद ने भाजपा-जेडीयू सरकार को कठघरे में खड़ा किया

    जैसे-जैसे बिहार में चुनाव की घड़ी नजदीक आ रही है, वैसे वैसे राजनीतिक दल अपना-अपना पांसा फेंकने में जुट गए हैं। इसी कड़ी में मंगलवार को भीम आर्मी ने भी चम्पारण की धरती से अपना चुनावी बिगुल फूंक दिया है। यहां भीम आर्मी के संस्थापक अध्यक्ष चंद्रशेखर आज़ाद ने मधुबन के अम्बेडकर चौक पर एक महती सभा को संबोधित किया। चंद्रशेखर ने सुशासन की सरकार पर जमकर हमला किया। साथ ही भाजपा-जेडीयू सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए कई आरोप भी लगाए। उन्होंने बिहार चुनाव में अपनी पार्टी के चुनाव लड़ने की भी घोषणा की।

    12:37 (IST)09 Sep 2020
    ओवैसी और मायावती भाजपा के पक्ष में माहौल बनाते हैं

    दिग्विजय सिंह ने बिहार में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बसपा प्रमुख मायावती और AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी हमेशा भाजपा के पक्ष में माहौल बनाते हैं। मायावती और ओवैसी को BJP विरोधियों के वोट कटवाने के लिए चुनाव लड़वाती है। इन लोगों की वजह से हमेशा भाजपा को लाभ मिलता है।

    12:08 (IST)09 Sep 2020
    दिग्विजय सिंह ने राम विलास पासवान और चिराग पासवान को महागठबंधन में आने का निमंत्रण दिया

    कांग्रेस ने NDA में नाराज चल रही LJP को अपने पाले में लाने के लिए जद्दोजहद शुरू कर दी है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने राम विलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान को महागठबंधन में आने का निमंत्रण दिया है। दिग्विजय सिंह ने एक सम्मेलन में कहा कि ईश्वर रामविलास पासवान को सद्बुद्धि दे और वे वापस कांग्रेस के साथ आ जाएं।

    11:33 (IST)09 Sep 2020
    चंद्रिका राय ने आरजेडी पर लगाए थे ये आरोप

    ऐश्वर्या के पिता और पूर्व मुख्यमंत्री दारोगा राय के बेटे चंद्रिका राय ने हाल ही में RJD छोड़ दी और नीतीश की JDU में शामिल हो गए। इससे पहले चंद्रिका राय ने पार्टी जॉइन करने के बाद कहा कि कहा कि आरजेडी गरीबों की पार्टी नहीं रही है। आज पार्टी पैसों वालों की पार्टी बन गई है। जिन गरीबों ने पार्टी को खड़ा किया आज उनकी बात नहीं सुनी जा रही है। पार्टी ने जो पुराने कार्यकर्ता हैं, उनकी अनदेखी की जा रहा है।

    10:38 (IST)09 Sep 2020
    तेजप्रताप के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं ऐश्वर्या

    एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक ऐश्वर्या के पिता चंद्रिका राय ने कहा है कि वो तेजप्रताप के खिलाफ चुनाव लड़ सकती हैं। चंद्रिका राय बात को आगे बढ़ाते हुए कहते हैं कि ऐश्वर्या अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र है और ऐसी परिस्थिति में वो उसका सपोर्ट करेंगे। चंद्रिका राय के मुताबिक 'मैं ऐश्वर्या को चुनाव लड़ने से नहीं रोकूंगा चाहें वो जिस सीट पर भी खड़े होने का निर्णय करे।'

    09:57 (IST)09 Sep 2020
    तेज प्रताप यादव ने तो महुआ विधानसभा छोड़ कर अपना रुख हसनपुर की ओर किया

    लालू यादव के दोनों लाल तेज प्रताप यादव और तेजस्वी यादव की चुनावी गाड़ी फंसती दिख रही है। बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने तो महुआ विधानसभा छोड़ कर अपना रुख हसनपुर की ओर कर लिया है। सोमवार को तेज प्रताप ने हसनपुर में रोड शो भी किया। उनकी पूरी टीम अब यहां फोकस कर रही है। वैशाली जिले के तहत आने वाली महुआ सीट पारंपरिक रूप से जेडीयू का गढ़ रहा है लेकिन 2015 में राजद-जेडीयू गठबंधन होने के नाते लालू यादव ने अपने बेटे की इस सीट से सेफ लॉन्चिंग कराई थी और उनकी जीत भी हुई थी।

    09:29 (IST)09 Sep 2020
    केवल हवाबाजी कर रही है एलजेपी, बिना मंत्री पद के जीवित नहीं रह सकते पासवान

    आरजेडी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि एलजेपी केवल हवाबाजी कर रही है। चिराग पासवान 143 सीट पर उम्मीदवार उतारने की बात कह रहे हैं। कुछ नहीं ये सिर्फ अधिक सीट पर उम्मीदवारी जताने का तरीका है। अगर वो ज़्यादा सीट पर उम्मीदवार उतारेंगे तो उन्हें एनडीए से बाहर होना पड़ेगा। तिवारी ने कहा "क्या रामविलास पासवान बिना मंत्री पद के जीवित रह सकते हैं? ये लोग केवल जनता को बेवकूफ बनाते हैं।"

    09:00 (IST)09 Sep 2020
    एनडीए में माहौल कुछ भी ठीक नहीं

    कांग्रेस नेता डॉ. अजय उपाध्याय ने कहा कि डूबती नाव को बचाने के लिए तिनके का सहारा और खेवैये को धक्का लगाया जा रहा है। उन्होने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी और एनडीए के और दलों में सूरदास और कालिदास पर जिस तरीके से चर्चा हो रही है इससे साफ पता चलता है कि एनडीए में माहौल कुछ भी ठीक नहीं है।

    08:35 (IST)09 Sep 2020
    तकनीकी रूप से एलजेपी के साथ हमारा कोई गठबंधन नहीं

    जेडीयू के प्रवक्ता के सी त्यागी ने 'द इंडियन एक्सप्रेस' को बताया, “यह एलजेपी है जो कहती है कि हमारे बीच इसका कोई गठबंधन नहीं है। मैं कहना चाहता हूं कि तकनीकी रूप से 1998 के लोकसभा चुनाव से लेकर 2005 और 2010 के विधानसभा चुनाव तक एलजेपी के साथ हमारा कोई गठबंधन नहीं था। एलजेपी नीतीश कुमार का नेतृत्व स्वीकारने को तयार नहीं है। जबकि पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा जैसे वरिष्ठ भाजपा नेता बिहार विधानसभा का चुनाव नीतीश कुमार में नेतृत्व में ही लडऩे की घोषणा कर चुके हैं।"

    08:15 (IST)09 Sep 2020
    बेरोजगारी और सरकारी संस्थाओं के निजीकरण के खिलाफ रात 9 बजे नौ मिनट तक लाइट बंद कर दीया जलाएं

    बिहार में विधानसभा चुनाव को अब ज्यादा समय नहीं बचा है। ऐसे में राज्य में सियासत गरमाई हुई है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने अपील की है कि बेरोजगारी और सरकारी संस्थाओं के निजीकरण के खिलाफ राज्यवासी बुधवार यानी 9 सितम्बर को 9 बजे रात में 9 मिनट तक के लिए घर का लाइट ऑफ कर एक दीया, लालटेन या मोमबत्ती जलाएं। बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम और नेता प्रतिपक्ष ने मंगलवार की रात 9 बजे फेसबुक लाइव में यह संदेश दिया।

    Next Stories
    1 चिराग को उकसाने में जुटी आरजेडी, कहा- एनडीए में न सहें अपमान, जेडीयू बोली- विपक्षियों को देर रहे हैं मसाला
    2 यूपी में बछड़े को बचाने में गई 5 लोगों की जान, जहरीली गैस के संपर्क में आने से हुआ हादसा
    3 Bihar Election: लालू के समधी ने दामाद तेज प्रताप को बताया भगोड़ा, कहा- बिहार में उनके लिए कोई सीट सुरक्षित नहीं
    ये पढ़ा क्या?
    X