ताज़ा खबर
 

बिहार चुनाव: आज तक ओपिनियन पोल- बतौर सीएम नीतीश कुमार से केवल 4% कम लोकप्रिय तेजस्वी यादव

सर्वे के अनुसार 52 फीसदी लोग नीतीश कुमार के काम से संतुष्ट हैं जबकि 44 फीसदी लोग ऐसे हैं जो नीतीश के काम से खुश नहीं हैं। 61 फीसदी लोगों मोदी सरकार के कामकाज से खुश दिखे।

Bihar Elections 2020, Bihar Elections, RJD, Tejashwi Yadavसीएम नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव। (फाइल फोटो)

बिहार चुनाव को लेकर ओपिनियन पोल में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की लोकप्रियता में कमी देखने को मिली है। हालांकि मुख्यमंत्री के रूप में अभी भी वह पहली पसंद है। लेकिन राष्ट्रीय जनता दल के नेता और उनके बीच महज 4 फीसदी का ही अंतर है।

लोकनीति-सीएसडीएस के सर्वे में 31 फीसदी लोग नीतीश कुमार को फिर से मुख्यमंत्री के रूप में देखना चाहते हैं जबकि 27 फीसदी लोग चाहते हैं कि इस बार तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री बनें। चिराग पासवान के पक्ष में 5 फीसदी लोग हैं। वहीं, 4 फीसदी लोग ऐसे हैं जो चाहते हैं कि मुख्यमंत्री की कुर्सी पर भाजपा नेता सुशील कुमार मोदी बैठें। आज तक के लिए किए गए सर्वे में एनडीए को 133-143 सीटें मिलने का अनुमान जताया गया है।

राजद के नेतृत्व वाले गठबंधन को 88-98 सीटें मिलने की बात कही गई है। लोजपा को सर्वे में महज 2-6 सीटें मिलने की बात कही गई है। सर्वे में निर्दलीय व अन्य को 6 से 10 सीटें मिलने का अनुमान व्यक्त किया गया है। लोकनीति-सीएसडीएस के ओपिनियन पोल में 37 विधानसभा सीटों के 148 बूथों को शामिल किया गया।

सर्वे के दौरान 3731 लोगों से बातचीत की गई। ये सर्वे 10 से 17 अक्टूबर के बीच किया गया। सर्वे में 60 फीसदी पुरुष जबकि 40 फीसदी महिला वोटरों की राय जानी गई। 90 फीसदी सैंपल ग्रामीण इलाकों से और 10 फीसदी शहरी इलाकों के लोगों की राय को शामिल किया गया। इनमें हर आयुवर्ग के लोग शामिल थे।

सर्वे के अनुसार 52 फीसदी लोग नीतीश कुमार के काम से संतुष्ट हैं जबकि 44 फीसदी लोग ऐसे हैं जो नीतीश के काम से खुश नहीं हैं। 61 फीसदी लोगों मोदी सरकार के कामकाज से खुश दिखे। सर्वे के अनुसार 38 फीसदी लोगों ने एक बार फिर से एनडीए की सरकार पर अपना भरोसा जताया हैं। वहीं 32 फीसदी लोग चाहते हैं इस बार राजद की सरकार बने।

इन लोगों को मानना है कि इस बार तेजस्वी यादव को सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए। वहीं, लोजपा के लिए संतोष की बात है कि राज्य में 6 फीसदी लोग ऐसे हैं जो चाहते हैं कि राज्य में चिराग पासवान की पार्टी सत्ता में आए। मालूम हो कि 243 सीटों वाली विधानसभा के तीन चरणों में 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान होना है।

मतों की गिनती 10 नवंबर को की जाएगी। इसके बाद तय हो जाएगा कि राज्य में कौन से दल की सरकार बनेगी और कौन सा दल विपक्ष में बैठेगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार चुनाव: आज तक के ओपिनियन पोल में महागठबंधन को सौ सीटें भी नहीं
2 बिहार चुनावः औरंगाबाद में तेजस्वी यादव पर फेंकी चप्पल, देखें वीडियो
3 बिहार चुनाव: पहले चरण में 1065 में 153 उम्मीदवार करोड़पति, भाजपा-जदयू ने खड़े किए सबसे अधिक 60 फीसदी करोड़पति प्रत्याशी
Birthday Special:
X