ताज़ा खबर
 

बिहार चुनाव: तुमको वोट नहीं देना है मत दो लेकिन…, सभा में लालू जिंदाबाद के नारे पर भड़के सीएम नीतीश

सीएम ने कहा कि हम भी विधायक थे 1985 में, और आप (चंद्रिका राय) भी विधायक होकर गए थे। सीएम ने कहा कि चंद्रिका राय हमारे मित्र हैं। इस दौरान ही सभा में हंगामा शुरू हो गया।

नीतीश कुमार परसा विधानसभा में जदयू उम्मीदवार के समर्थन में रैली करने पहुंचे थे। (फोटोः twitter@Jduonline)

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार के दौरान बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को हूटिंग का सामना करना पड़ा। नीतीश कुमार छपरा के परसा में निश्चय संवाद कार्यक्रम के तहत एक चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे।

परसा विधानसभा से जदयू ने लालू यादव के समधी और बिहार सरकार में मंत्री रहे चंद्रिका यादव को उम्मीदवार बनाया है। मुख्यमंत्री परसा विधानसभा के डेरनी में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान सभा में मौजूद लोगों के बीच से लालू यादव जिंदाबाद के नारे लगने लगे। इतना सुनते ही नीतीश कुमार का पारा गरम हो गया। नीतीश कुमार ने कहा, ‘हमको पता नहीं है ये बीच में क्या बोल रहे हो जी, क्या बोल रहे हो जरा हाथवा उठाओ। तुम क्या अनाप शनाप बोल रहे हो। जरा अपना हाथ उठाओ।’

नीतीश को गुस्से में देख कर पार्टी समर्थकों में से एक ने कहा कि ये चारा चोर है सब। मुख्यमंत्री ने कहा कि यहां पर ये सब हल्ला मत करो। तुमको अगर वोट नहीं देना है तो मत दो। सीएम ने जनसभा में मौजूद लोगों की तरफ इशारा करते हुए कहा कि जरा बताइए भाई ये हल्ला कर रहा है, ये सही है कि गलत?

नीतीश कुमार ने लोगों से कहा कि बोलिए जोर से इस पर लोगों ने नीतीश के समर्थन में हुंकार किया। सीएम ने कहा कि अब सुन लिए ना। इससे पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार परसा विधानसभा सीट से जदयू प्रत्याशी चंद्रिका राय से जुड़ा वाकया सुना रहे थे। सीएम ने कहा कि हम भी विधायक थे 1985 में, और आप (चंद्रिका राय) भी विधायक होकर गए थे। सीएम ने कहा कि चंद्रिका राय हमारे मित्र हैं।

इस दौरान ही सभा में हंगामा शुरू हो गया। मालूम हो कि चंद्रिका राय ने बेटी ऐश्वर्या और दामाद तेज प्रताप के बीच विवाद होने के बाद राजद छोड़ कर जदयू का दामन थाम लिया था। वहीं, चंद्रिका राय के पार्टी में आने के बाद जदयू से विधायक रहे छोटेलाल राय ने पार्टी छोड़ दी। छोटे लाल राय ने राजद की लालटेन थाम ली।

पार्टी ने चंद्रिका राय के खिलाफ छोटेलाल राय को उम्मीदवार बनाया है। बाढ़ के दौरान तेजस्वी यादव ने खुद परसा पहुंचकर लोगों को राहत सामग्री बांटने का काम किया था। मालूम हो कि परसा में दूसरे चरण में मतदान होना है। राज्य में तीन चरणों में 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान होना है। वोटों की गिनती 10 नवंबर को होगी।

Next Stories
1 27 स्कूली छात्रों को हुआ कोरोना, प्रशासन ने आनन-फानन में 4 प्राइवेट स्कूलों को बंद करने के दिए आदेश
2 पशुओं का चारा तक न छोड़ने वाले नौकरी क्या देंगे, बिहार के चुनावी समर में उतरे योगी आदित्यनाथ
3 क्या आप ऐसे हालात पैदा कर देंगे कि मैं आत्महत्या कर लूंगा? नवाब मलिक पर अर्नब गोस्वामी का हमला
यह पढ़ा क्या?
X