ताज़ा खबर
 

Bihar Elections: तेजस्वी यादव के 1लाख रोजगार के दावे पर BJP के अमित मालवीय ने समझाया ये गणित, लोग करने लगे ऐसे कमेंट्स

BJP आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव द्वारा किए गए 10 लाख रोजगार के दावे पर एक ट्वीट किया है।

amit malviya, BJP IT cell, Tejashwi yadav, naukari sanwad, promise to waiver, education loan up to five lakhBihar Elections: अमित मालवीय ने तेजस्वी यादव द्वारा किए गए 10 लाख रोजगार के दावे पर एक ट्वीट किया है।

बिहार विधानसभा चुनाव में दूसरे चरण के मतदान किए जा रहे हैं। इससे पहले भारतीय जनता पार्टी (BJP) आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के नेता तेजस्वी यादव द्वारा किए गए 10 लाख रोजगार के दावे पर एक ट्वीट किया है। इस ट्वीट में मालवीय ने इन नौकरियों का गणित समझाया है। मालवीय के इस ट्वीट पर यूजर्स उन्हें ट्रोल कर रहे हैं।

तेजस्‍वी यादव ने सोमवार को कहा था कि नीति आयोग की रैंकिंग में बिहार सबसे फिसड्डी है। बिहार को सुधारने के लिए सभी पदों को भरना होगा। तेजस्‍वी ने कहा कि सीएम नीतीश कुमार पूछते हैं कि इन नौकरियों के लिए पैसा कहा से आयेगा। तेजस्वी ने कहा “बिहार सरकार अपने बजट का 40 फीसदी हिस्‍सा खर्च नहीं कर पाती। उस राशि का इस्तेमाल किया जाएगा। यदि इस पर भी शक है तो हमारी सरकार बनेगी तो सीएम और विधायकों की सैलरी रोककर नौजवानों को सैलरी देगी।”

सीएम और विधायकों की सैलरी काट कर रोजगार देने की बात पर मालवीय ने ट्वीट कर लिखा ” एक विधायक का मूल वेतन लगभग 40,000 रुपये है। यहां तक ​​कि अगर पूरा वेतन काट दिया जाता है, तो कुल राशि लगभग 97 लाख (40,000 X 243) होगी। ऐसा माना जाये कि लोगों को 5,000 रुपये की नौकरी दी जाती है, तो इसका मतलब है कि केवल 1,940 नौकरियां ही मिलेंगी 10 लाख नहीं! तेजस्वी को इस बात का कोई अंदाजा नहीं है कि वह क्या बोल रहा है। सब हवा है।”

बीजेपी आईटी सेल के प्रमुख के ट्वीट पर यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उन्हें ट्रोल किया है। एक यूजर ने लिखा “ये दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी के आईटी सेल के प्रमुख हैं और इन्हें सीधी अंग्रेज़ी समझ नहीं आती। चलिये आपके लिए इसका अनुवाद मैं कर देता हूँ। ’10 लाख लोगों को नौकरी देने के लिए, यहां तक ​​कि “अगर” मुख्यमंत्री, मंत्रियों और विधायकों के वेतन में कटौती करने की आवश्यकता है, तो यह किया जाएगा और नौकरी दी जाएगी।’ ”

एक अन्य यूजर ने लिखा “कहा लिखा है कि सिर्फ सीएम और विधायकों की सैलरी से ही नई नौकरियाँ दी जाएगी। मोदीजी विज्ञापन में 6000 करोड़, विमान में 8000 करोड़, सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में 3.7 लाख करोड़ और अपने उद्योगपति दोस्तों का 7 लाख करोड़ का कर्ज़ माफ कर सकते हैं। तो नौरियों में पैसा क्यों नहीं खर्च कर सकते।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बंगाल चुनाव से पहले बीजेपी को सौरव गांगुली की ना, कहा- क्रिकेट की जिम्मेदारियों से खुश हूं
2 बिहार चुनाव: हमें अश्विनी चौबे या शाहनवाज हुसैन ना समझे, पकड़ कर मारूँगा- बीजेपी सांसद के ऑडियो से माहौल गरम
3 आपको ये हक किसने दिया? चुनाव आयोग से सुप्रीम कोर्ट ने पूछा, कमलनाथ को स्टार प्रचारक से हटाने का आदेश रोका
यह पढ़ा क्या?
X