ताज़ा खबर
 

नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने दिया इस्तीफा, आज ही संभाला था कार्यभार

बिहार की नीतीश कुमार सरकार में शिक्षा मंत्री बने मेवालाल ने अपने ओहदे से इस्तीफा दे दिया है। मेवालाल ने आज ही ओहदे की ज़िम्मेदारियां संभाली थीं। बताया जा रहा है कि भ्रष्टाचार के इल्ज़ामात चलते उन्हें इस्तीफा देना पड़ा है।

Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: November 19, 2020 4:42 PM
बिहार के पूर्व शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने खुद मानी थी नियुक्ति में गड़बड़ी की बात। (file)

नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी ने गुरुवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। चौधरी ने आज ही अपना कार्यभार संभाला था। मेवालाल 72 घंटे भी मंत्री नहीं रह पाए और इस्तीफा दे दिया। उनपर बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर का वीसी रहते नियुक्ति में घोटाले का आरोप है। इसके अलावा विपक्ष ने उनकी पत्नी की संदिग्ध मौत के मामले में मेवालाल की कथित संलिप्तता को लेकर जांच की मांग भी की थी। मेवालाल चौधरी की पत्नी नीता चौधरी की 2019 में जलने से मौत हो गई थी।

भ्रष्टाचार का मामला साल 2012 का है जब विश्वविद्यालय में कृषि वैज्ञानिक, असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती होनी थी। उसी साल 281 पदों के लिए विज्ञापन निकाला गया और परीक्षा के बाद 166 लोगों की नियुक्ति हुई थी। इसके बाद से ही नियुक्ति मामला विवादों में है। आरोप लगे और खुलासा हुआ कि परीक्षा में जिसे कम नंबर मिले उसे पार कर दिया गया और अधिक नंबर पाने वाले उम्मीदवार को फेल कर दिया गया।

कृषि विश्वविद्यालय में नियुक्ति घोटाले का मामला सबौर थाने में 2017 में दर्ज किया गया था। हालांकि इस मामले में उन्होंने कोर्ट से अग्रिम जमानत मिल गई थी और अभी तक कोर्ट में उनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल नहीं की गई है। इन आरोपों को लेकर चौधरी ने कहा कि मेरे खिलाफ कोई चार्जशीट दायर नहीं हुई है ना ही मेरे खिलाफ कोर्ट की तरफ से आरोप सिद्ध हुआ है। मेरे खिलाफ कोई आरोप नहीं हैं।

इससे पहले शिक्षामंत्री बनाए जाने पर आरजेडी के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने चौधरी पर हमला बोला था। लालू प्रसाद यादव के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर कहा था “तेजस्वी जहां पहली कैबिनेट में पहली कलम से 10 लाख नौकरियां देने को प्रतिबद्ध था वहीं नीतीश ने पहली कैबिनेट में नियुक्ति घोटाला करने वाले मेवालाल को मंत्री बना अपनी प्राथमिकता बता दिया। विडंबना देखिए जो भाजपाई कल तक मेवालाल को खोज रहे थे आज मेवा मिलने पर मौन धारण किए हैं।”

पत्नी की संदिग्ध मौत के मामले को लेकर चौधरी ने आरजेडी नेता तेजस्वी यादव के खिलाफ 50 करोड़ का मुकदमा दायर करने की बात कही है। उन्होंने कहा था कि मेरी पत्नी की मौत के मामले में जिस तरीके से आरोप लगाए जा रहे हैं उसको लेकर मैं तेजस्वी को कानूनी नोटिस भेजूंगा और 50 करोड़ का मानहानि का मुकदमा भी करूंगा।

Next Stories
1 दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर लगेगा 2000 रुपये जुर्माना, सीएम केजरीवाल बोले- सभी प्राइवेट अस्पतालों में 80% ICU बेड होंगे रिजर्व
2 28 साल की विधवा ने किया दूसरे निकाह से इनकार, तो ससुरालवालों ने काटी नाक और जीभ, हालत गंभीर
3 संबित पात्रा बोले, तुष्टीकरण की राजनीति करती है टीएमसी, गली-गली में लगवाए नमाज पढ़ते हुए फोटो
ये पढ़ा क्या?
X