ताज़ा खबर
 

जमीन विवादः रिवॉल्वर है, जरूरत पड़ी तो ठोंक देंगे…बोले नीतीश के MLA – हम आदमी तोड़ देंगे बाउंड्री क्या है…

विवादित जमीन को लेकर पूछे गए सवाल पर विधायक गोपाल मंडल ने कहा कि 'यह जमीन लिए नौ महीने हो गया। इसी बीच उनलोगों ने मकान बना लिया कहीं बॉउंड्री बना दिया,....हम उसमें स्कूल बनाना चाहते थे।

crime, crime newsफाइल फोटो। फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

अभी हाल ही में यह खबर आई थी कि बिहार के भागलपुर के गोपालपुर से जनता दल यूनाइटेड के विधायक गोपाल मंडल को कुछ आक्रोशित ग्रामीणों ने उस वक्त बंधक बना लिया जब वो एक जमीन विवाद में गांव पहुंचे थे। श्याम बाजार के चंदवयगढ़ स्थित दुर्गा मंदिर के सामने स्थित जिस जमीन को लेकर विवाद हुआ था उसके बारे में विधायक का दावा है कि वो जमीन उनकी है। सत्तारूढ़ पार्टी के विधायक को बंधक बनाए जाने की खबर उजागर होने के बाद खुद गोपाल मंडल ने इस पूरे मामले पर एक चैनल से बातचीत के दौरान अपनी बात रखी है।

नीतीश कुमार के विधायक गोपाल मंडल ने कहा कि ‘हम सिर्फ देखने के लिए आए थे और कोई बात नहीं थी।’ इसके बाद जब उनसे बंधक बनाए जाने के विषय में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ‘ये झूठ बात है। अरे भाई एक घंटा डिस्टर्ब किया…बंधक कहिये चाहे जो कहिये…गोपाल मंडल कहीं बंधक में जाता है…बंधक बन गया तो उसी टाइम मर गया। घटना नहीं होती…वहां दोनों तरफ से मारपीट होता….हमसे वो ज्यादा लाठीबाज नहीं था…हमारे सामने वो टिकेगा…एक बार लाठी पकड़ लेंगे तो फिर कितने आदमी को हम झाड़ देंगे…लड़ाकू आदमी तो हम हैं और फिर हमारे पास तो रिवॉल्वर रहता ही है हर वक्त…जरुरत पड़ा तो ठोंक देंगे…हो सकता कि आक्रोश में आकर हम ही मार देते…उन लोगों का इलाका था…गांव था…हम दूर से गए हुए थे।’

विवादित जमीन को लेकर पूछे गए सवाल पर विधायक गोपाल मंडल ने कहा कि ‘यह जमीन लिए नौ महीने हो गया। इसी बीच उनलोगों ने मकान बना लिया, कहीं बॉउंड्री बना दिया,….हम उसमें स्कूल बनाना चाहते थे। अब हम सिस्टम से जाएंगे और खाली करवाएंगे। विधानसभा सत्र खत्म होने के बाद हम जाएंगे कागज लेकर अगर हमारा जमीन निकला तो हम तोड़ देंगे…हम आदमी तोड़ देंगे तो बॉउंड्री क्या है..पेपर ही बताएंगा ना कि सच क्या है किसकी जमीन है वो।’

बताया जा रहा है कि रविवार को विधायक गोपाल मंडल अपने कुछ लोगों को लेकर हथियार व लाठी-डंडे से लैस होकर श्याम बाजार पहुंचे थे। वहां उनकी झड़प विवादित जमीन पर रह रहे श्याम बाजार निवासी नंदकिशोकर साह से हो गई थी। आरोप है कि विधायक ने उनका कॉलर पकड़ लिया और उसे जबरन अपने वाहन पर बैठाने का प्रयास किया।

जिसके बाद मामले ने तूल पकड़ लिया और स्थानिय लोगों ने विधायक को घेर लिया। जिसके बाद विधायक करीब 1 घंटे तक वहां फंसे रहे। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस ने विधायक को वहां से निकाला।

Next Stories
1 जो 2 साल में कांग्रेस चीफ न बना पाए, वे CM बनाने की बातें कर रहे है- सिंधिया पर बोले राहुल तो MP के मंत्री का पलटवार
2 Times Now-CVoter Opinion Poll: असम में बीजेपी+ को 7 सीटों का नुकसान, कांग्रेस+ को 18 के फायदे का अनुमान
3 मुकेश अंबानी के एंटीलिया केस में नया मोड़, NIA के करेगी जांच; CM उद्धव बोले- कुछ तो गड़बड़ है
ये पढ़ा क्या?
X