Bihar: Bhartiya Janta Party's MP Son arrested for Drinking Liquor in Bodhgaya - बिहार: दोस्तों संग दारू पार्टी करते हुए बीजेपी सांसद का बेटा गिरफ्तार - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बिहार: दोस्तों संग दारू पार्टी करते हुए बीजेपी सांसद का बेटा गिरफ्तार

सूबे में शराब पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है। फिर भी इस तरह शराबबंदी का उल्लंघन किया जा रहा है। बीजेपी नेता के बेटे की गिरफ्तारी से पहले सत्तारूढ़ दल और विपक्ष के कई नेता शराब पीने के आरोप में जेल जा चुके हैं। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के परिवार के कई सदस्य शराब पीते या शराब के साथ गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Pixabay)

बिहार में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद का बेटा अपने दोस्तों के साथ शराब की पार्टी करते हुए पकड़ा गया है। पुलिस ने उसे इसके बाद जेल भेज दिया। गिरफ्तारी के वक्त वह भीषण नशे में था। पुलिस मेडिकल जांच कराने के बाद उसे अदालत में ले गई थी, जहां से उसे जेल भेजा गया।

आपको बता दें कि सूबे में शराब पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा हुआ है। फिर भी इस तरह शराबबंदी का उल्लंघन किया जा रहा है। बीजेपी नेता के बेटे की गिरफ्तारी से पहले सत्तारूढ़ दल और विपक्ष के कई नेता शराब पीने के आरोप में जेल जा चुके हैं। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी के परिवार के कई सदस्य शराब पीते या शराब के साथ गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

ताजा मामला यहां के गया जिले से बीजेपी सांसद हरि मांझी से जुड़ा है। शनिवार (21 अप्रैल) की शाम को उनका बेटा राहुल अपने दोस्तों के साथ पार्टी कर रहा था। उसने और उसके दोस्तों ने इस दौरान काफी शराब पी रखी थी। पुलिस को इस बारे में गुप्त सूचना मिली, जिसके बाद बोधगया थाने के नीम गांव से उसे नशे में गिरफ्तार किया गया।

हरि मांझी गया से बीजेपी सांसद हैं। शनिवार शाम उनका बेटा बोधगया से भीषण नशे में पकड़ा गया। (फोटोः india.gov.in)

पुलिस ने इसके बाद ब्रेथ ऐनलाइजर से उसकी जांच की थी। फिर मेडिकल टेस्ट कराने के बाद उसे अदालत ले जाया गया, जहां जज ने बीजेपी सांसद के बेटे को जेल भेजने का आदेश दे दिया।

बेटे की गिरफ्तारी पर सांसद ने कहा, “मैं शराबियों का समर्थन नहीं करता हूं। बेटे को मेरे राजनीतिक करियर पर कीचड़ उछालने के लिए साजिश में फंसाया जा रहा है। उसने शराब नहीं पी थी।” सांसद के 18 वर्षीय बेटे ने बीते साल भी 13 दिसंबर को मेडिकल कॉलेज के गेट पर नशे में बवाल मचाया था, जिसके बाद उसे पुलिस ने पकड़ लिया था।

बिहार में शराबबंदी कानून का उल्लंघन करने से जुड़े अब तक तकरीबन आठ हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं, जिनमें आरोपियों को जेल भेजा गया था। वहीं, बीते दो सालों का आंकड़ा देखें तो अब तक कुल एक लाख 20 हजार से ज्यादा लोग सलाखों के पीछे भेजे जा चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App