ताज़ा खबर
 

लॉकडाउन के बावजूद मस्जिद में सामूहिक नमाज़, रोका तो पुलिस पर पथराव; किसी तरह बिगड़ने से बचे हालात

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर फ्लैग मार्च किया और स्थानीय लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है।

Hajj Yatra saudi arabia bihar friday prayersइस साल सऊदी अरब सरकार ने भी हज यात्रा के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा है। (AP Photo)

बिहार के भागलपुर में कोरोना माहमारी की गाइडलाइंस के चलते सामूहिक नमाज रोकने गई पुलिस ने नाराज लोगों ने पथराव कर दिया। इस दौरान गुस्साए लोगों ने पुलिस की गाड़ी पर पथराव भी किया। जिसमें पुलिस का वाहन क्षतिग्रस्त हो गया है। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण है और इलाके में पुलिस बल तैनात है। घटना भागलपुर के असानंदपुर लाइनबाग इलाके की है, जहां मौजूद मस्जिद में जुमे की नमाज के लिए भारी भीड़ जुट गई। इस पर तातारपुर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर लोगों के समझाने का प्रयास किया।

पुलिस ने लोगों से लॉकडाउन का उल्लंघन नहीं करने की अपील की। इसके बावजूद लोग नहीं माने तो पुलिस ने बलप्रयोग करते हुए लोगों पर लाठियां चला दी। इससे लोग भड़क गए और उन्होंने पुलिस के वाहन पर पथराव कर दिया। किसी तरह पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित किया। एसएसपी को जब इस मामले की सूचना मिली तो उन्होंने एसपी सिटी और सिटी डीएसपी को कई थानों की फोर्स समेत मौके पर भेजा।

पुलिस ने मौके पर पहुंचकर फ्लैग मार्च किया और स्थानीय लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। फिलहाल स्थिति तनावपूर्ण लेकिन नियंत्रण में है। गौरतलब है कि जहां हमारे देश में सामूहिक नमाज के लिए लोग कानून अपने हाथ में लेने से भी नहीं डर रहे हैं। वहीं इस्लाम की सबसे पवित्र जगह माने जाने वाले सऊदी अरब के काबा में काफी कम संख्या में लोगों को एंट्री दी जा रही है।

इतना ही नहीं काबा यात्रा के दौरान लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग रखने के निर्देश हैं। हज यात्रा बुधवार से शुरू हो गई है। कोरोना के चलते इस साल सऊदी अरब सरकार ने बेहद कम संख्या में लोगों को हज पर आने की अनुमति दी है और जो 10 हजार लोग पहले से ही सऊदी अरब में रह रहे थे, उन्हें हज करने की अनुमति दी गई है।

कोरोना के चलते इस साल हज यात्रा में कई तरह के प्रतिबंध भी लगाए गए हैं, जैसे इस साल पवित्र काबा को हजयात्री छू या चूम नहीं सकेंगे। बता दें कि आमतौर पर हर साल हज यात्रा के लिए दुनियाभर से करीब 25 लाख लोग सऊदी अरब आते हैं। बता दें कि कोरोना माहमारी के चलते दुनियाभर में धार्मिक स्थल बंद रहे थे। फिलहाल इन्हें खोल दिया गया है लेकिन अभी भी सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए कम लोग ही धार्मिक स्थल पहुंच रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 लॉकडाउन में तंगी से मजबूर हुआ मजदूर: परिवार को पाल नहीं सका तो भेज दिया ससुराल, खुद दे दी जान
2 बिहार में दो नाव हादसे, आठ लोगों की मौत, बाढ़ से 40 लाख लोग प्रभावित
3 लॉकडाउन तोड़ने पर केस हुआ तो पुलिस को ट्रांसफर की धमकी देने लगा हिंदू युवा वाहिनी अध्यक्ष गिरफ़्तार, धराते ही नरम पड़ गए तेवर
ये पढ़ा क्या?
X