ताज़ा खबर
 

Pune: बिहार ATS की गिरफ्त में 19 वर्षीय संदिग्ध, भारत में इस्लामिक स्टेट्स का नेटवर्क फैलाने का आरोप

बिहार ATS की गिरफ्त में आया यह संदिग्ध युवक भारत में कथित तौर पर इस्लामिक स्टेट्स ऑफ बांग्लादेश का नेटवर्क फैलाने की कोशिश कर रहा था। बिहार ATS ने इसे पुणे से शिकंजे में लिया है।

representational photoबिहार एटीएस टीम ने कथित तौर पर आतंकी संगठन से जुड़े युवक को पकड़ा, (प्रतीकात्मक तस्वीर- इंडियन एक्सप्रेस)

बिहार पुलिस के आतंक रोधी दस्ते (एटीएस) ने बुधवार (27 मार्च) को पुणे में एक 19 वर्षीय युवक को ‘इस्लामिक स्टेट ऑफ बांग्लादेश’ (आईएसबीडी) आतंकी संगठन के साथ कथित संबंधों के चलते गिरफ्तार किया। बिहार एटीएस के अधिकारियों ने बताया कि शरीयत अनवरुलहक मंडल नाम का यह शख्स आईएसबीडी का सक्रिय सदस्य है जो भारत में इस प्रतिबंधित आतंकी संगठन का विस्तार करने में शामिल है। चाकन में रह रहा शरीयत पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के वाजिदपुर का रहने वाला है। बताया जा रहा है कि वह दो बांग्लादेशी नागरिकों खैरुल मंडल और अबू सुल्तान से जुड़ा हुआ था जो प्रतिबंधित आतंकी संगठन जमात उल मुजाहिदीन बांग्लादेश (जेएमबी) और आईएसबीडी से जुड़े हुए हैं। एटीएस ने 24 मार्च (रविवार) को पटना से उन्हें गिरफ्तार किया।

पुलिस ने बरामद किए महत्वपूर्ण दस्तावेजः एटीएस अधिकारियों ने खैरुल मंडल और अबू सुल्तान के पास से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद किए जिनमें पुलवामा हमले के बाद जम्मू-कश्मीर में अर्धसैनिक बलों की तैनाती के आदेश की फोटोकॉपी आईएसआईएस और अन्य आतंकी संगठनों के पोस्टर और पर्चे  शामिल थे। पुलिस को उनसे पूछताछ में शरीयत के ठिकाने का पता चला। शरीयत को पुणे के चाकन इलाके के खालूंबरे गांव से गिरफ्तार किया गया। वह पिछले एक महीने से पुणे में रह रहा था और मजदूर के रूप में काम कर रहा था। बिहार एटीएस ने उसके पास से दो मोबाइल फोन और एक एसडी कार्ड बरामद किया। बिहार के एडीजी कुंदन कृष्णन ने बताया कि पुणे की एक अदालत से ट्रांजिट रिमांड लेने के बाद उसे आगे की जांच के लिए बिहार भेजा गया है।

National Hindi News Today LIVE: जानें दिन भर के अपडेट्स

बौद्ध केंद्रों में आतंकी हमले की थी योजनाः एटीएस अधिकारियों ने बताया कि मंडल और सुल्तान ने बांग्लादेश से अवैध रूप से भारतीय सीमा में नकली वोटिंग कार्ड और पैन कार्ड के जरिए प्रवेश किया था। यही नहीं एटीएस ने उनके कब्जे से तीन मोबाइल फोन और एक मेमोरी कार्ड भी बरामद किया। बिहार एटीएस ने प्रेस रिलीज में बताया कि नारुल होदा मासूम, रिंकू मंडल और सैबुर जो कथित तौर पर आतंकी संगठन से जुड़े हुए हैं उनको पहले भी बांग्लादेशी पुलिस ने कथित आतंकी गतिविधियों के सिलसिले में गिरफ्तार किया था। जानकारी के मुताबिक जेएमबी और आईएसबीडी के सरगनाओं के आदेशानुसार खैरूल और अबू सुल्तान ने अपने संगठन में मुस्लिम युवकों की भर्ती के लिए कथित तौर पर कोलकाता, दिल्ली, पटना, गया और केरल की यात्रा की थी। बिहार एटीएस ने बताया कि ये दोनों बौद्ध केंद्रों में आतंकी हमले की योजना बना रहे थे।

आईएसआईएस से संबंध की आशंकाः पुलिस अधिकारियों की तरफ से जारी की गई प्रेस रिलीज के मुताबिक खैरूल और सुल्तान पर सीरिया में आईएसआईएस संगठन से संबंध रखने का शक है। बिहार एटीएस ने बताया कि इन संदिग्ध आतंकियों के पास से दिल्ली से हावड़ा, गया से पटना के रेलवे टिकट साथ ही कोलकाता से गया की बस टिकट बरामद की गई है।

Next Stories
1 Mumbai: 64 रुपए है इस फ्लैट का किराया, फिर भी 11 सालों से है खाली, जानें वजह
2 परीक्षा में पूछा- किसानों का हितैषी कौन, येदियुरप्पा, कुमारस्वामी या केंचुआ? टीचर बर्खास्त
3 Dehradun: पिटाई कर शव दफनाने के बाद बोर्डिंग स्कूल का एक और मामला आया सामने, 2017 से लापता है एक छात्र
ये पढ़ा क्या?
X