ताज़ा खबर
 

बिहार: नई दिल्ली-भागलपुर एक्सप्रेस में डकैती, 4 एसी और एक जनरल कोच से 25 लाख का माल ले गए बदमाश

नई दिल्ली से बिहार के भागलपुर आ रही साप्ताहिक ट्रेन (12350 डाउन) में करीब 25 हथियारबंद बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम दिया।

Author Published on: January 10, 2019 10:37 AM
नई दिल्ली भागलपुर साप्ताहिक एक्सप्रेस ट्रेन में हथियारबंद बदमाशों ने की लूट फोटो सोर्स- ANI

नई दिल्ली से बिहार के भागलपुर आ रही साप्ताहिक ट्रेन (12350 डाउन) में करीब 25 हथियारबंद बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम दिया। बदमाशों ने दर्जनों मोबाइल और नकदी समेत करीब 25 लाख की लूट की। लुटेरों ने 4 एसी और 1 जनरल बोगी में वारदात को अंजाम दिया है। घटना की सूचना मिलने के बाद रेल एसपी आमिर जावेद, रेल थानाध्यक्ष कामेश्वर सिंह ने सुरक्षाबल के साथ मौके पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया। यह घटना लखीसराय जिले के किऊल से धनौरी के पवई ब्रह्मस्थान हॉल्ट के पास की है।

बताया जा रहा है कि लुटेरों ने वैक्यूम पाइप काटकर नई दिल्ली-भागलपुर एक्सप्रेस ट्रेन को रोका। फिर चालक और गार्ड को कब्जे में लेकर ट्रेन की एसी बोगी सहित करीब आधा दर्जन बोगियों में हथियार के बल पर यात्रियों से लूटपाट की। स्लीपर बोगी के कुछ यात्रियों ने विरोध किया तो लुटेरों ने उन्हें चाकू मारकर घायल कर दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लुटेरों ने मौका ए वारदात पर गोलियां भी चलाई। लुटेरे करीब 1 घंटे से अधिक समय तक ट्रेन के अंदर उत्पात मचाते रहे।

लूटपाट के दौरान कुछ यात्रियों ने मोबाइल फोन से घटना की सूचना रेलवे के कंट्रोल रूम को दी। जिसके बाद धनौरी के स्टेशन अधीक्षक सुधीर कुमार ने इस घटना की बात मुंगेर के डीआईजी, एसपी लखीसराय, एसआरपी जमालपुर और डीएम तक पहुंचाई। लेकिन तभी पुलिस के आने की खबर लगते ही लुटेरे ड्राइवर और असिस्टेंट ड्राइवर को छोड़कर भाग खड़े हुए।

देर रात जब ट्रेन भागलपुर से निकलकर जमलापुर पहुंची तो यात्रियों ने रेल पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यात्रियों का आरोप है कि आए दिन इस रूट पर इस तरह की घटनाएं होती लेकिन फिर भी सुरक्षा का कोई इंतजाम नहीं है। इस मामले में जमालपुर रेल एसपी आमिर जावेद ने कहा कि इस बात की जांच की जा रही है कि वारदात के पीछे कहीं नक्सली कनेक्शन तो नहीं है। फिलहाल अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर सभी पहलुओं की जांच की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 छत्तीसगढ़ : 150 साल के मगरमच्छ की मौत हुई तो भावुक हो गया पूरा गांव, यह थी वजह
2 कार-मोटरसाइकिल मॉडिफाई करने वालों पर शिकंजा? सुप्रीम कोर्ट ने दी अहम राय
3 36 साल की महिला ने फेसबुक पोस्ट में किया दावा- सबरीमला मंदिर में की प्रार्थना, किसी ने नहीं किया विरोध