scorecardresearch

बिहार: नीतीश कुमार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह बोले- अधिकारी और कर्मचारी पैसे मांगे तो जूतों से पीटिए

Bihar News: सुधाकर सिंह ने कहा कि किसान अनाज का उत्पादन करते-करते दुबले पतले हो गए और इसका उपभोग करने वाले मोटे हो गए। पूरे सिस्टम को दुरुस्त करने में वक्त लगेगा।

बिहार: नीतीश कुमार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह बोले- अधिकारी और कर्मचारी पैसे मांगे तो जूतों से पीटिए
बिहार के पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह (Photo Source- ANI)

Bihar News: बिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह एक बार फिर से अपने बयान को लेकर सुर्खियों में हैं। सुधाकर सिंह ने कहा है कि मेरे विभाग के अधिकारी भ्रष्ट हैं, उन्हें जल्द सुधारा जायेगा। अगर मेरे विभाग के अधिकारी और कर्मचारी पैसा मांगते हैं तो जूते से पीटिए, जो होगा मैं देख लूंगा।

रामगढ़ विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुधाकर सिंह रविवार को कैमूर के भगवानपुर में पहुंचे थे। इस मौके पर किसानों ने अपनी समस्या से मंत्री को अवगत कराया और कृषि विभाग के अंतर्गत आने वाले विभागों के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा रिश्चत मांगने की शिकायत की। इस पर सुधाकर सिंह ने कहा कि जो भी कृषि विभाग का अधिकारी या कर्मचारी पैसा मांगता है तो उसको पकड़ कर जूता से पीटिए, जो होगा मैं देख लूंगा।

मेरे विभाग के अधिकारी भ्रष्ट: किसान संगोष्ठी को संबोधित करते हुए कृषि मंत्री ने कहा कि मेरे विभाग के अधिकारी भ्रष्ट हैं। 25 से 50 हजार की वसूली करते हैं, लेकिन जल्द ही सारे अधिकारी ठीक हो जाएंगे। उन्होंने अपना मोबाइल नंबर किसानों को बताते हुए कहा कि इसे नोट कर लें, अगर अधिकारी उन्हें परेशान करते हैं तो फोन कर बताएं। जांच कराने के बाद कार्रवाई की जाएगी। मंत्री ने कहा कि भ्रष्ट अधिकारी के बदले में एक ईमानदार अधिकारी आ रहा है।

बिहार के कृषि मंत्री ने कहा कि यह सिस्टम पिछले 17 सालों से जर्जर हो गया है, लेकिन किसानों के हित में मैं एक दर्जन योजनाएं लेकर आ रहा हूं। इससे कृषि से जुड़े लोगों को रोजगार मिलेगा। अभी एक महीना काम करते हुआ है, लेकिन इस एक महीने में पूरे बिहार में 3000 खाद की दुकानों में ताला लगवाया है। इन दुकानों से फर्जीवावाड़े का मामला सामने आया था।

सब्सिडी नाम की बीमारी को खत्म करना है: कृषि मंत्री ने कहा कि सब्सिडी नाम की बीमारी को खत्म करना है क्योंकि सब्सिडी एक दो के लिए नहीं सभी के लिए आती है। इसका फायदा एक दो लोग ही उठा पाते हैं। अब सब्सिडी का पैसा बाजार समिति और मंडी बनाने में खर्च किया जाएगा जिससे सभी किसानों को लाभ होगा और निश्चित तौर पर किसानों की समस्या का समाधान होगा।

कृषि मंत्री ने कहा कि डिजिटल खेती के विस्तार के लिए एक एप का निर्माण करा रहा हूं। एप के माध्यम से किसानों को सरकार से मिलने वाली हर सुविधा की जानकारी मिलेगी। उन्होंने कहा की ड्रोन के माध्यम से दवा का छिड़काव करने की तकनीक लागू की जाएगी।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 03:57:17 pm