scorecardresearch

औरंगजेब ने पहली पत्नी की याद में हमाम के सामने बनवाया था ‘बीबी का मकबरा’, आगरा के ताज महल की थी “नकल”

एएसआई की खुदाई में 36×36 मीटर का स्ट्रक्चर पाया गया है। एएसआई के अधिकारियों ने कहा कि हमाम बीबी का मकबरा के ठीक सामने स्थित है।

Bibi ka Maqbara
'बीबी का मकबरा' के सामने स्थित 400 साल पुराने हमाम की खुदाई (फोटो- ASI)

हाल के दिनों में, वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे पर जारी सियासत के साथ-साथ, महाराष्ट्र के औरंगाबाद स्थित मुगल शासक औरंगजेब के मकबरे तक को लेकर विवाद हुआ है। मुगल सम्राट से जुड़े इतिहास का एक हिस्सा महाराष्ट्र में इन सुर्खियों में आ रहा है। एएसआई की टीम पिछले 6 महीने से औरंगाबाद में औरंगजेब द्वारा बनवाए ‘बीबी का मकबरा’ के सामने स्थित 400 साल पुराने हमाम की खुदाई कर रही है।

छठे मुगल सम्राट ने 1660 में अपनी पहली पत्नी दिलरस बानो बेगम की याद में ‘बीबी का मकबरा’ बनवाया था जो ताजमहल की ‘नकल’ था। ताज को उनके पिता शाहजहां ने अपनी पत्नी की याद में बनवाया था। एएसआई की खुदाई तब शुरू हुई जब उन्हें इस तरह के हमाम के अस्तित्व की जानकारी मिली।

अब तक एएसआई की खुदाई में 36×36 मीटर का स्ट्रक्चर पाया गया है और इसके एक हिस्से को साफ कर दिया गया है। एएसआई के अधिकारियों ने कहा कि हमाम बीबी का मकबरा के ठीक सामने स्थित है। एएसआई के अधिकारियों का मानना ​​है कि हमाम 1960 के दशक के कुछ समय बाद मिट्टी में ढंक गया था, जब इसके और संरक्षित स्मारक के बीच एक सड़क बिछाई गई थी।

एक अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर कहा, “एएसआई के संज्ञान में यह हाल ही में आया जब एक व्यक्ति जिसके पिता एएसआई के साथ काम करते थे और स्मारक में अटेंडेंट थे, कुछ अधिकारियों से मिला।” उसने उन्हें बताया कि जब वह छोटा था तो वह अपने पिता के साथ टिफिन देने के लिए साइट पर जाया करता था और हमेशा हमाम दिखाई देता था जो अब मलबे से ढका हुआ है। उसने एएसआई के अधिकारियों को सही लोकेशन भी दिखाई।

अधिकारी ने कहा, “उसने हमें बताया कि यदि आप साइट की खुदाई करते हैं और मिट्टी को हटाते हैं, तो आपको एक दरवाजा और एक एंट्री पॉइंट मिलेगा। इसके बाद हमने मंजूरी ले ली और खुदाई शुरू की। हमें वहां एक दरवाजा मिला और आगे की खुदाई करने पर बाकी संरचना मिली।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट