ताज़ा खबर
 

बीएचयू में छात्र को गोली मारी, मौत

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में बिड़ला छात्रावास चौराहे के पास मंगलवार की रात बाइक सवार बदमाशों ने एमसीए के छात्र गौरव सिंह (23) पर ताबड़तोड़ फायरिंग की।

Author वाराणसी | April 4, 2019 12:27 AM
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में बिड़ला छात्रावास चौराहे के पास मंगलवार की रात बाइक सवार बदमाशों ने एमसीए के छात्र गौरव सिंह (23) पर ताबड़तोड़ फायरिंग की।

अरविंद कुमार
बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में बिड़ला छात्रावास चौराहे के पास मंगलवार की रात बाइक सवार बदमाशों ने एमसीए के छात्र गौरव सिंह (23) पर ताबड़तोड़ फायरिंग की। गौरव को ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने गौरव की जान बचाने की कोशिश की लेकिन रात एक बजे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने गौरव के पिता की शिकायत के बाद मामला दर्ज कर चार लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। घटना के बाद गुस्साए छात्रों ने ट्रॉमा सेंटर में हंगामा और तोड़फोड़ करते हुए रूइया हॉस्टल में रहने वाले एक छात्र की पिटाई भी की। उन्होंने बिड़ला ए छात्रावास में आरोपियों के मौजूद होने के संदेह में पत्थरबाजी की। सूचना पाकर डीएम सुरेंद्र सिंह, एसएसपी आनंद कुलकर्णी पुलिस बल और सीआइएसएफ के जवानों के साथ बीएचयू पहुंचे। इस टीम ने देर रात से बुधवार सुबह तक बीएचयू के कई हॉस्टलों और आसपास के क्षेत्रों में छापेमारी की। पुलिस ने मौत के पहले गौरव के बताए चारों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। वारदात की वजह छात्र गुटों की पुरानी रंजिश और वर्चस्व की लड़ाई बताई गई है। गौरव को पिछले दिनों हुई मारपीट की घटना के बाद बीएचयू से निष्कासित कर दिया गया था।

एसपी ने बताया कि गौरव रोहनियां थाना अंतर्गत अखरी निवासी राकेश सिंह का बड़ा बेटा था। राकेश सिंह बीएचयू के कमर्चारी हैं। उनका छोटा बेटा सौरभ भी बीएचयू में पढ़ता है। गौरव दिसंबर 2017 में बीएचयू में हुए बवाल का आरोपी था। 2018 में उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था और तभी से वह निष्कासित था।  पुलिस पूछताछ में छात्रों ने बताया कि बिड़ला ए चौराहे पर गौरव अपने दोस्तों से बात कर रहा था तभी दो बाइकों पर सवार चार लोग आए और गौरव पर दो पिस्तौलों से आठ से दस राउंड फायरिंग की। वारदात को अंजाम देने के बाद बाइक सवार बिड़ला सी चौराहे की ओर भाग निकले।

बीएचयू ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टरों के अनुसार गौरव के पेट और पसलियों में तीन गोलियां लगी थीं। गौरव के पिता की तहरीर पर बीएचयू के चीफ प्रॉक्टर रोयना सिंह, विनय, आशुतोष लिपाल्ली, कुमार मंगलम, रूपेश तिवारी सहित अन्य अज्ञात के खिलाफ 147, 148,149,120 बी, 302,34, 7 आपराधिक कानून (संशोधन) अधिनियम के तहत बुधवार को लंका थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

लंका एसओ ने बताया कि जांच के दौरान पता चला कि सफेद रंग की एक बाइक से तीन युवक आए तीनों को देखकर गौरव को कुछ आशंका हुई। जब तक वह कुछ समझ पाता, एक और बाइक पर दो लोग आए। दोनों बाइक पर सवार लोगों ने पिस्टल निकालकर गौरव पर अंधाधुंध फायरिंग की। पुलिस को आशंका है कि गोली चलाने वाले प्रोफेशनल शूटर हो सकते हैं। घटना स्थल से पुलिस को 32 बोर के दो खोखे मिले।

गौरव का अंतिम संस्कार बुधवार को हरिश्चंद्र घाट पर करते समय छात्रों ने एक लड़के की संदेह होने पर पिटाई की। दूसरी ओर घटना के बाद जिला प्रशासन ने बीएचयू परिसर में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है। बुधवार को पुलिस ने आरोपियों की तलाश में कई हॉस्टलों पर छापे भी मारे। एसएसपी ने बताया कि हत्यारों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस टीम पूर्वांचल के कई जिलों में रवाना की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App