ताज़ा खबर
 

भीम-आधार पे एप्प से आयकर भुगतान में ईमानदारी को मिलेगा बढ़ावा, जानिए कैसे

केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किये गये भीम-आधार पे मोबाइल एप्प से देश में आयकर के भुगतान में ‘पारदर्शिता और ईमानदारी’ आएगी।

Author नागपुर | Updated: April 14, 2017 11:17 PM
केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 30 दिसंबर को लॉन्‍च की गई BHIM एप गूगल प्‍ले स्‍टोर पर सबसे ज्‍यादा डाउनलोड की जाने वाली एप्‍स में शामिल हो गई है। हालांकि मशहूर होते ही कुछ डेवलपर्स ने इससे मिलती-जुलती एप्‍स बनाकर विभिन्‍न पोर्टल्‍स और प्‍ले स्‍टोर पर डाल दी हैं। Bhim payment updater 2017, Modi Bhim, *99# BHIM UPI Bank No internet जैसे नामों से कई एप्‍स प्‍ले स्‍टोर पर नजर आती हैं। कुछ एप्‍स में असली BHIM एप के इस्‍तेमाल और असली एप डाउनलोड करने का लिंक तक दिया गया है। अगर आप अभी तक नहीं समझ पाए हैं कि असली एप कौन सी है और कौन सी फर्जी, तो हम आपको यह पहचान करने का तरीका बताते हैं। BHIM नाम की एप को डेवलप किया है National Payments Corporation of India (NPCI) ने, उसका आधिकारिक ट्विटर हैंडल NPCI_BHIM जो कि अभी तक अनवेरिफाइड है।

इस बारे में केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने आज कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किये गये भीम-आधार पे मोबाइल एप्प से देश में आयकर के भुगतान में ‘पारदर्शिता और ईमानदारी’ आएगी। प्रसाद ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री की ‘डिजिटल इंडिया’ की पहल का मर्म और विचार यह है कि अगर हम दिल्ली से 100 रूपये भेजते हैं तो यह निश्चित रूप से पूर्ण रूप में गरीब लाभान्वित तक पहुंचना चाहिए। यही कारण है कि पिछले दो साल में गरीबों के लिए करीब 28 करोड़ बैंक खाते खोले गये।’

मनकापुर इलाके में स्थित विभागीय स्पोर्ट्स स्टेडियम में नीति आयोग की ओर से आयोजित ‘डिजि धन मेला’ के समापन पर आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने यह बात कही।
इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी के अलावा केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, पीयूष गोयल, हंसराज अहीर, रामदास अठावले और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस मंच पर उपस्थित थे।
प्रधानमंत्री मोदी ने आज भीमराव अंबेडकर को उनकी 126वीं जयंती पर दीक्षाभूमि पर श्रद्धांजलि दी। इसी स्थान पर दलित नेता ने बुद्ध धर्म को स्वीकार किया था।

उन्होंने इस अवसर पर भीम-आधार मोबाइल एप्प की शुरच्च्आत की। यह एक बॉयोमेट्रिक आधारित भुगतान व्यवस्था है। यह अंगूठे के निशान के जरिये भुगतान के विचार को हकीकत बनाएगा। केंद्रीय राजमार्ग मंत्री गडकरी ने अपने संबोधन में डिजिटल इंडिया की पहल को बाबासाहब अंबेडकर के सपनों को पूरा करने वाला बहुत बड़ा और प्रगतिशील विचार बताया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 मुंबई: कॉफी के बहाने शख्स ने 40 वर्षीय महिला से किया रेप, 3 साल पहले फेसबुक पर हुई थी दोस्ती
2 “देश में ऐसा माहौल है कि अगर पतंजलि का फेशवॉश नहीं लगाया तो ठहरा दिया जाएगा राष्ट्रविरोधी”
3 दौड़कर ट्रेन पकड़ने की कर रहा था कोशिश, तभी पैर फिसल गया, आने लगा ट्रेन की चपेट में तो दौड़कर आरपीएफ जवानों ने बचाया, देखिए वीडियो
जस्‍ट नाउ
X