Bhayyuji Maharaj Suicide Case: Dauhter Kuhu throw Worship related Items when Second Wife Dr Ayushi came to House with Bhayyuji Maharaj - भय्यूजी महाराज के दूसरी पत्‍नी को घर लाते ही बेटी ने फेंक दिया था पूजा का सामान - Jansatta
ताज़ा खबर
 

भय्यूजी महाराज के दूसरी पत्‍नी को घर लाते ही बेटी ने फेंक दिया था पूजा का सामान

आध्यात्मिक गुरु की दूसरी पत्नी डॉ.आयुषी मूलरूप से शिवपुरी की निवासी हैं और उन्होंने पीएचडी की है। शोधकार्य के संबंध में वह भय्यूजी के आश्रम आई थीं, जहां आध्यात्मिक गुरु की मां व बहन ने बेटे से शादी करने के लिए आयुषी से आग्रह किया था।

पहली पत्नी माधवी के निधन के बाद आध्यात्मिक गुरु ने पीएचडी कर चुकीं आयुषी से शादी रचाई थी। (फाइल फोटो)

आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज ने दो शादियां की थीं। दूसरी पत्नी डॉक्टर आयुषी को जब वह घर लाए थे, तो बवाल मचा था। गुस्से में आकर बेटी कुहू ने उस दौरान पूजा का सामान फेंक दिया था। दरअसल, भय्यूजी ने उसे दूसरी शादी करने के बारे में कुछ भी नहीं बताया था। मगर बाद में जब यह बात सामने आई, तो वह दंग रह गई। वह पिता की दूसरी शादी के फैसले से नाखुश थी, इसलिए वह शादी में भी नहीं शामिल हुई थी।

बता दें कि मॉडल से संत और राजनेता तक का सफर तय करने वाले भय्यूजी ने मंगलवार (12 जून) को मध्य प्रदेश के खंडवा स्थित आवास पर खुदकुशी कर ली थी। उन्होंने रिवॉल्वर से खुद को गोली मार ली थी। घटना के फौरन बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, मगर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। घटनास्थल से पुलिस को सुसाइड नोट भी मिला था, जिसमें उन्होंने तनाव को खुदकुशी के पीछे का कारण बताया। कहा जा रहा है कि वह दूसरी पत्नी और बेटी के बीच तालमेल न होने के कारण अक्सर परेशान रहते थे।

Bhayyuji Funeral LIVE: दोपहर 2 बजे होगा भैय्यूजी का अंतिम संस्कार, बेटी देगी मुखाग्नि

भय्यूजी की पहली शादी माधवी से हुई थी, लेकिन वह उनसे कई सालों तक अलग रही थीं। इसी बीच दिल का दौरा पड़ने से उनका देहांत हो गया और वह अपने पीछे भय्यूजी व 15 वर्षीय बेटी कुहू को छोड़ गई थीं। डॉ.आयुषी के पहली बार घर आने पर कुहू नाराज हुई थी। उसने इस बात पर विरोध भी जताया था। आपा खोकर पूजन स्थल के पास रखा दीया और अन्य सामान फेंक दिया था। भय्यूजी उस दौरान शांत थे, जिस पर दूसरी पत्नी ने पूछा था, “आपने कुहू का विरोध क्यों नहीं किया?”

आध्यात्मिक गुरु का जवाब आया था कि कुहू छोटी है। समय के साथ सब चीजें ठीक हो जाएंगी। आयुषी तब कुहू की हरकत के बजाय पति की चुप्पी को लेकर दुखी हो गई थीं। आयुषी मूलरूप से शिवपुरी की निवासी हैं और उन्होंने पीएचडी की है। शोधकार्य के संबंध में वह भय्यूजी के आश्रम आई थीं, जहां आध्यात्मिक गुरु की मां व बहन ने बेटे से शादी करने के लिए आयुषी से आग्रह किया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App