ममता को हराने के लिए सब कुछ दांव पर, बीजेपी ने केंद्रीय मंत्रियों को भवानीपुर की सड़कों पर उतारा

बुधवार को केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल के समर्थन में घर-घर जाकर प्रचार किया। उन्होंने कहा कि उन्हें क्षेत्र में भगवा दल के लिए ‘‘स्पष्ट समर्थन’’ दिखाई दिया।

Bhawanipur, West Bengal
पश्चिम बंगाल के भवानीपुर विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में प्रचार करते केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी। (फोटो- एएनआई)

पश्चिम बंगाल में एक बार फिर चुनावी माहौल तेज हो गया है। राज्य की भवानीपुर सीट के लिए होने जा रहे उपचुनाव में सीएम ममता बनर्जी और भाजपा प्रत्याशी प्रियंका टिबरेवाल के बीच मुकाबला कड़ा होने की उम्मीद है। इसको देखते हुए बीजेपी ने सीएम को हराने के लिए पूरी ताकत लगा दी है। बुधवार को केंद्रीय आवास और शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल के समर्थन में घर-घर जाकर प्रचार किया। उन्होंने कहा कि उन्हें क्षेत्र में भगवा दल के लिए ‘‘स्पष्ट समर्थन’’ दिखाई दिया। नरेंद्र मोदी मंत्रिमंडल में सिख समुदाय का चेहरा पुरी ने स्थानीय गुरुद्वारे में अरदास भी की।

पुरी ने ट्वीट किया, ‘‘भवानीपुर के रे स्ट्रीट इलाके में राम मोहन दत्ता रोड पर स्थानीय निवासियों के साथ बातचीत के दौरान मैंने उनके मसलों और चिंताओं पर चर्चा की।’’ उन्होंने कहा कि भाजपा उम्मीदवार प्रियंका टिबरेवाल के लिए स्पष्ट समर्थन है। भवानीपुर से बनर्जी को चुनौती दे रहीं टिबरेवाल भी इस दौरान पुरी के साथ थीं।

उल्लेखनीय है कि पिछले विधानसभा चुनाव में भवानीपुर विधानसभा सीट जीतने वाले तृणमूल कांग्रेस के सोवनदेब चट्टोपाध्याय ने ममता बनर्जी के इस सीट से चुनाव लड़ने के लिए इस्तीफा दे दिया था। उनके इस्तीफे के कारण उपचुनाव कराया जा रहा है। बनर्जी नंदीग्राम से भाजपा के शुभेंदु अधिकारी से चुनाव हार गई थीं और उन्हें मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए पांच नवंबर तक निर्वाचित होना होगा। संयुक्त राष्ट्र में भारत के पूर्व राजदूत पुरी ने नेताजी सुभाष चंद्र बोस और जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी के घर जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी।

उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘मैं भारत की एकता और विकास में दृढ़ विश्वास रखने वाले और सच्चे राष्ट्रवादी डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के घर गया और भाजपा की बंगाल इकाई के कार्यकताओं के साथ मिलकर मैंने भारतीय जनसंघ के संस्थापकों में से एक को श्रद्धांजलि अर्पित की। उनका नजरिया और आदर्श हमें प्रेरित करते रहे हैं।’’ पुरी ने बाद में कहा कि इस निर्वाचन क्षेत्र में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को लेकर लोगों का मोहभंग हो गया है और अगर लोग “स्वतंत्र रूप से” मतदान करते हैं, तो यह परिणाम में दिखाई देगा।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को कहा कि भवानीपुर उपचुनाव के लिए उन्हें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के आवास के पास प्रचार नहीं करने दिया गया। भाजपा की राज्य इकाई के अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने दावा किया कि उन्हें हरीश चटर्जी स्ट्रीट पर प्रचार करने से रोका गया, जो ममता बनर्जी के आवास की ओर जाती है। ममता भी इस उपचुनाव में उम्मीदवार हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि पुलिस ने भाजपा को प्रचार करने से रोक दिया क्योंकि तृणमूल कांग्रेस को 30 सितंबर को होने वाले चुनाव में हार का डर है।

पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) आकाश मघारिया ने आरोपों को खारिज करते हुए कहा, ‘‘ उनके पास टीकाकरण प्रमाणपत्र नहीं था और वे उच्च सुरक्षा क्षेत्र में दाखिल होने की कोशिश कर रहे थे, इसलिए उन्हें दूसरी सड़क पर जाने को कहा गया।’’ भाजपा सांसद ज्योतिर्मय सिंह महतो और मघरिया के बीच मौके पर कहासुनी भी हुई। महतो ने दावा किया कि वे घर-घर प्रचार करने के लिए चुनाव आयोग द्वारा लोगों की निर्दिष्ट सीमित संख्या का पालन कर रहे थे, लेकिन पुलिस ने कहा कि दल में अधिक लोग थे।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट