ताज़ा खबर
 

अयोध्या आंदोलन और बम से उड़ाने की धमकी का जिक्र कर साक्षी महाराज ने मांगी जेड प्लस सुरक्षा

साक्षी ने पत्र में लिखा, 'मैं पहले से ही आतंकियों के निशाने पर हूं। इसलिए भारत सरकार ने मुझे पूरे भारत में थ्रेड वाई प्लस सुरक्षा दी है। अब जान माल के खतरे को देखते हुए मुझे जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाए, जिससे मेरा जीवन सुरक्षित हो सके।'

भाजपा सांसद साक्षी महाराज। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

दिल्ली की जामा मस्जिद तोड़ने का विवादित बयान देने वाले उन्नाव से भाजपा सांसद साक्षी महाराज को हत्या की धमकी मिली है। उन्हें दो बार अज्ञात फोन के जरिए बम से उड़ाने की धमकी दी गई। भाजपा सांसद ने अब केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर उन्हें सुरक्षा देने की मांग की है। साक्षी ने बताया कि 23 और 24 नवंबर को फोन पर उन्हें मारने की धमकी दी गई। फोन करने वाले ने खुद को डॉन दाऊद इब्राहिम का गुर्गा बताया। सांसद की शिकायत पर यूपी के सदर कोतवाली में मुकदमा भी दर्ज किया गया है। वहीं केंद्र से सुरक्षा की मांग करते हुए साक्षी महाराज ने पत्र में लिखा, ‘अयोध्या आंदोलन से शुरू से ही जुड़ा रहा हूं। 6 दिसंबर, 1992 की घटना का प्रत्यक्षदर्शी भी हूं। अयोध्या आंदोलन अपने चरम पर है और मैं हिंदुत्व व इस प्रकरण में प्रखर वक्ता भी हूं।’ पत्र में साक्षी ने आगे लिखा कि 23 नवंबर की रात उन्हें डी कंपनी का फोन आया। इसके बाद 24 दिसंबर को शाम के वक्त दो बार फोन आया। फोन करने वाले ने खुद का नाम अली अलजोनी बताया और जान लेने की धमकी दी। शख्स ने साक्षी से यह भी कहा कि वह उनके आश्रम को भी बम से उड़ा देगा। साक्षी ने पत्र में लिखा, ‘मैं पहले से ही आतंकियों के निशाने पर हूं। इसलिए भारत सरकार ने मुझे पूरे भारत में थ्रेड वाई प्लस सुरक्षा दी है। अब जान माल के खतरे को देखते हुए मुझे जेड श्रेणी की सुरक्षा दी जाए, जिससे मेरा जीवन सुरक्षित हो सके।’

बता दें कि पिछले दिनों भाजपा सांसद ने विवादित बयान देते हुए दिल्‍ली स्थित जामा मस्जिद को तोड़ने की वकालत कर डाली। उन्‍होंने एक सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘आप जामा मस्जिद तोड़िए और यदि मस्जिद की सीढ़ियों के नीचे मूर्तियां ना मिलें तो मुझे फांसी पर लटका दीजिए।’ साक्षी ने कहा, ‘मैं राजनीति में जब आया तो मेरा पहला बयान मथुरा में था। मैंने उस वक्‍त कहा था कि ‘अयोध्‍या, मथुरा छोड़ो…दिल्‍ली की जामा मस्जिद तोड़ो। अगर सीढ़ि‍यों में मूर्तियां ना मिले तो मुझे फांसी पर लटका देना। मैं आज भी अपने उस बयान पर कायम हूं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App