ताज़ा खबर
 

पुलिस का दावा- 12 हजार के फोन के लिए जिम ट्रेनर ने काटा फ्लिपकार्ट डिलीवरीमैन का गला, कई दिन छुपाए रखी लाश

पुलिस ने बताया कि वरुण ने 29 वर्षीय नंजुंदास्वामी के सिर पर पहले लोहे के रॉड और फ्लॉवर पॉट से हमला किया। जब वह बेहोश हो गया तो उसके बाद वरुण ने चाकू से उसका गला काट दिया।

फ्लिपकार्ट कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि नंजंदूस्वामी के परिजनों को आर्थिक सहायता दी जाएगी।

बेंगलुरु पुलिस ने हत्या के आरोप में एक जिम ट्रेनर को गिरफ्तार किया है। जिम ट्रेनर पर आरोप है कि उसने 12 हजार के फोन के लिए फ्लिपकार्ट कंपनी के डिलीवरी मैन का गला चाकू से काट दिया और उसे छिपा दिया। पुलिस ने जिम के बेसमेंट से डिलीवरी मैन की लाश बरामद की है। दरअसल, 22 साल के जिम ट्रेनर वरुण कुमार के पास स्मार्टफोन नहीं था, उसके पास पैसे भी नहीं थे कि वो महंगा स्मार्टफोन खरीद सके, इसलिए उसने ऑनलाइन फोन बुक किया और डिलीवरी मैन का इंतजार करने लगा। 9 दिसंबर को जब फ्लिपकार्ट का डिलीवरी मैन नंजुंदास्वामी फोन की डिलीवरी करने पहुंचा तो पहले से ही चाकू लेकर उसका इंतजार कर रहे जिम ट्रेनर ने उसका गला रेत दिया। पुलिस ने कुछ दिन बाद डिलीवरी मैन की लाश जिम के बेसमेंट से बरामद की।

पुलिस ने बताया कि वरुण ने 29 वर्षीय नंजुंदास्वामी के सिर पर पहले लोहे के रॉड और फ्लॉवर पॉट से हमला किया। जब वह बेहोश हो गया तो उसके बाद वरुण ने चाकू से उसका गला काट दिया और लाश घसीटकर बेसमेंट में पहुंचा दिया। इसके बाद वरुण ने अपना फोन और डिलीवरी मैन के बैग से अन्य फोन निकाल लिए।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41999 MRP ₹ 52370 -20%
    ₹6500 Cashback
  • Apple iPhone 7 Plus 128 GB Black
    ₹ 60999 MRP ₹ 70180 -13%
    ₹7500 Cashback

जब नंजुंदास्वामी दो दिनों तक घर नहीं पहुंचा तो उसके घरवालों ने पुलिस में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। उसकी आखिरी डिलीवरी की रिपोर्ट के आधार पर पुलिस जिम के बेसमेंट तक आ पहुंची जहां उसकी लाश छिपाकर रखी गई थी। पुलिस की शक की सूई तुरंत जिम ट्रेनर के पास घूम गई जिसने मर्डर के बाद से जिम नहीं खोला था। पुलिस ने उसे इस हफ्ते के शुरुआत में गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस का मानना है कि जिम ट्रेनर ने इस मर्डर की प्लानिंग की थी। इसी के तहत उसने धारदार चाकू फोन डिलीवरी से पहले किसी किचेन से लाया था। पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि इस हत्या में किसी ने उसका साथ तो नहीं दिया। उधर, फ्लिपकार्ट कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि नंजंदुस्वामी किसी एजेंसी में काम करता था जो उनके सामानों की डिलीवरी करती है। हालांकि, उन्होंने कहा कि कंपनी की तरफ से नंजंदूस्वामी के परिजनों को आर्थिक सहायता दी जाएगी।

वीडियो देखिए- नशे में धुत्‍त बीजेपी विधायक ने बीच सड़क पर किया डांस, गोली भी चलाई

वीडियो देखिए- सुप्रीम कोर्ट का आदेश- “हाइवे से 500मी. के दायरे में नहीं बिकेगी शराब”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App