ताज़ा खबर
 

“Didi की तस्वीर के सामने खड़े होने से मुझे मिलती है Energy”, ममता बनर्जी के लिए BDO ने कही मन की बात

कहा, "आप मैडम की तस्वीर देखिए, यदि रोजाना आप दो मिनट इनके सामने खड़े होंगे तो आपको कुछ अजीब ताकत मिलती है। मैं स्वयं दो तस्वीरों के सामने खड़ा होता हूं, एक स्वामी विवेकानंद और दूसरी मैडम, मैं कुछ नया बल पाता हूं, मैं रिचार्ज महसूस करता हूं। "

Author कोलकाता | Updated: December 2, 2019 7:15 PM
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फोटो -ANI)

पश्चिम बंगाल के एक अधिकारी ने स्वामी विवेकानंद से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की तुलना करके विवाद खड़ा कर दिया। उसका कहना है कि सीएम की तस्वीर के सामने खड़े होने पर उसको वैसी ही ताकत और प्रेरणा मिलती है, जैसे स्वामी विवेकानंद के सामने खड़े होने से मिलती है। उत्तरी 24 परगना जिले में हसनाबाद खंड के ब्लाक डिवलपमेंट ऑफिसर (BDO) अरिंदम मुखर्जी ने एक राहत वितरण कार्यक्रम में यह बयान दिया।

बीडीओ बोला, सीएम एक ग्रेट एचीवर हैं : मुखर्जी ने कहा, “आप मैडम की तस्वीर देखिए, यदि रोजाना आप दो मिनट इनके सामने खड़े होंगे तो आपको कुछ अजीब ताकत मिलती है। मैं स्वयं दो तस्वीरों के सामने खड़ा होता हूं, एक स्वामी विवेकानंद और दूसरी मैडम, मैं कुछ नया बल पाता हूं, मैं रिचार्ज महसूस करता हूं। ” हालांकि मीडिया के सामने उसने अपने बयान की यह कहकर बचाव किया कि सीएम एक ग्रेट एचीवर हैं। उन्होंने कहा, “यदि आप उनके सामने खड़े होइए, तो आप भी प्रेरित होंगे।”

Hindi News Today, 02 December 2019 LIVE Updates: देश की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

बीजेपी नेता ने कसा तंज, कहा वे टीएमसी का झंडा उठा लें : अधिकारी के बयान के वायरल होने पर बसीरहाट जिले के बीजेपी अध्यक्ष गणेश घोष ने बीडीओ का यह कहते हुए मजाक उड़ाया कि उन्हें तृणमूल कांग्रेस का झंडा लेकर सड़क पर आ जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि सीएम आजकल राज्य को इसी अधिकारी की तरह के बीडीओ, एसडीओ, डीएम और पुलिस के जरिए चला रही हैं।

टीएमसी नेता ने अधिकारी का किया बचाव : गणेश घोष ने आगे कहा, “वास्तव में वे पार्टी के लिए काम कर रहे हैं तो वे क्यों नहीं टीएमसी का झंडा लेकर बाहर आ जाते हैं।” इस बीच अधिकारी का पक्ष लेते हुए टीएमसी नेता फिरोज कमल गाजी ने कहा कि सरकारी अधिकारी होने के बावजूद हर व्यक्ति को अपनी भावना को व्यक्त करने का अधिकार है। गाजी ने कहा, “वह दीदी के काम के प्रति प्रेम और सम्मान रख सकता है। उसने इसे अपने अंदाज में व्यक्त किया।”

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 20 फीट गड्ढे में गिरे मजदूर को बचाने में फंसे 3 दमकल कर्मी, 1 की मौत, अभी भी अटके हैं लोग
2 अयोध्या में शुरू हुई राम रसोई, रामलला के भक्तों को रोजाना मिलेगा मुफ्त में भोजन; गोविंद भोग व कतरनी चावल
जस्‍ट नाउ
X