ताज़ा खबर
 

भाजपा नेता ब्रजपाल तेवतिया पर हमले के आरोप में एक गिरफ्तार

भाजपा नेता ब्रजपाल तेवतिया पर हमले की साजिशकर्ता माने जाने वाला मनोज पुलिस की पकड़ में आ गया है। उससे पूछताछ कर पुलिस वारदात की कड़ियां जोड़ने की कोशिश कर रही है।

Author नोएडा | August 15, 2016 5:30 AM
भाजपा नेता ब्रजपाल तेवतिया पर एके 47 समेत अन्य हथियारों से हमला 17 साल पुरानी रंजिश के कारण किया गया था। (Express Photo by Gajendra Yadav)

भाजपा नेता ब्रजपाल तेवतिया पर हमले की साजिशकर्ता माने जाने वाला मनोज पुलिस की पकड़ में आ गया है। उससे पूछताछ कर पुलिस वारदात की कड़ियां जोड़ने की कोशिश कर रही है। वहीं चार आॅपरेशन होने के बावजूद सेक्टर-62 के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती ब्रजपाल की हालत अभी भी नाजुक बनी हुई है। बताया गया है कि वारदात के बाद से ब्रजपाल के मूल गांव महरौली का रहने वाला मनोज फरार था। पुलिस मनोज की पत्नी से पूछताछ कर रही थी। पुलिस सूत्रों के मुताबिक रंजिश, जमीन विवाद और राजनीतिक साजिश के तीन बिंदुओं पर मामले की जांच की जा रही थी।

रेकी करने के बाद हुई वारदात की मुखबिरी करने वाले की धरपकड़ के लिए पुलिस फोन कॉल का डेटा खंगालने और सीसीटीवी में कैद हुए एक स्कूटी सवार की पहचान करने में लगी है। संभावना जताई गई है कि वारदात वाले दिन ब्रजपाल की कार से पीछे कई जगहों पर एक स्कूटी दिखाई दी है। भाजपा नेता पर एके-47 से हमला होने के बाद प्रदेश में कानून-व्यवस्था पर उठे सवालों से सरकार की किरकिरी हुई है। जल्द से जल्द हमलावरों की गिरफ्तारी के लिए 250 से ज्यादा तेजतर्रार पुलिस अफसरों को लगाया है।

पुलिस ने हमले में इस्तेमाल हुई एके-47 को जांच के लिए चंडीगढ़ भेजा है। भाजपा नेता ब्रजपाल तेवतिया पर गुरुवार शाम करीब साढ़े सात बजे रावली रोड पर ताबड़तोड़ गोलियां बरसाई गई थीं। ब्रजपाल को 6 गोलियां लगी थीं जबकि उनके निजी अंगरक्षक समेत अन्य लोग भी हमले में घायल हुए थे। ब्रजपाल का इलाज कर रहे अस्पताल के डॉ. वैभव मिश्र के अनुसार उनकी हालत में सुधार आ रहा है। अलबत्ता अगले 24 घंटे तक गहन निगरानी की जरूरत है।

पुलिस को घटनास्थल से एके-47 के अलावा एके-56 की भी मैगजीन मिली है। हमले में इस्तेमाल हुई फॉर्च्यूनर कार चोरी की थी। गुड़गांव से चोरी हुई कार पुलिस को घटना के कुछ घंटे बाद ही लावारिस हालत में मिल गई थी। सुपारी देकर हुए हमले की वारदात के दो सवालों के जवाब पुलिस के लिए चुनौती बन रहे हैं। ब्रजपाल तेवतिया अपनी बुलेटप्रूफ पजेरो कार का इस्तेमाल करते थे। गुरुवार को पजेरो का वाइपर खराब होने की वजह से उन्होंने स्कार्पियो कार का इस्तेमाल किया था। तो कहीं वाइपर खराब होना भी किसी साजिश का हिस्सा तो नहीं? दूसरा यह कि रेकी करने के बाद हमले को अंजाम दिया गया था। हमलावर पहले से वहां ब्रजपाल का इंतजार कर रहे थे। ब्रजपाल के पहुंचने की मुखबिरी करने वाला वह कौन था?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App