ताज़ा खबर
 

Maharashtra Assembly Election 2019: शिवसेना ने दिखाए तेवर, कहा- सीटें बराबर नहीं तो गठबंधन मुश्किल

महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले सीटों के बंटवारे को लेकर शिवसेना ने अपना रुख साफ कर दिया है। पार्टी का कहना है कि बीजेपी के साथ उनका गठबंधन बराबरी पर ही संभव है। फिफ्टी-फिफ्टी के फॉर्म्यूले का सम्मान किया जाना चाहिए।

शिवसेना नेता संजय राउत (फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस)

Maharashtra Assembly Election 2019: महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की तारीख अक्टूबर तक घोषित हो सकती है। हालांकि, इससे पहले ही शिवसेना ने अपने तेवर फिर दिखाने शुरू कर दिए। पार्टी का कहना है कि राज्य में उसका गठबंधन बराबरी पर है, न कि बड़े-छोटे की तरह। पार्टी का कहना है कि शिवसेना को अगर राज्य में आधी सीट नहीं दी जाती है तो भाजपा के साथ उनका गठबंधन टूट सकता है। पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने गुरुवार को मुंबई में कहा कि बीजेपी को 50-50 के फार्मुले का सम्मान करना चाहिए। इसका फैसला गृगमंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस की उपस्थिति में हुआ था।

सरकार में मंत्री के बयान को सही बताया : संजय राउत ने कहा कि हम गठबंधन टूटने की बात नहीं कह रहे हैं, लेकिन हमारी पार्टी के वरिष्ठ नेता दिवाकर राउटे का कहना भी गलत नहीं है। गौरतलब है कि शिवसेना के वरिष्ठ नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री दिवाकर राउटे ने बुधवार को कहा था कि बीजेपी ने बराबर संख्या में सीटें नहीं दी तो चुनाव पूर्व गठबंधन टूट सकता है। वैसे चुनाव में अभी समय है और दोनों दलों के बीच बातचीत से मुद्दा हल हो सकता है।

National Hindi News, 19 September 2019 LIVE Updates: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

2014 के विधानसभा में अलग-अलग लड़े थे : 2014 का विधान सभा चुनाव बीजेपी और शिवसेना ने अलग-अलग लड़ा था, क्योंकि चुनाव पूर्व उनके बीच सीट-शेयरिंग फार्मुले पर सहमति नहीं बन पाई थी। इनकी वजह से दोनों पार्टियों में से किसी को भी सरकार बनाने लायक सीटें नहीं मिल पाई थीं।

चुनाव बाद मिलकर सरकार बनाई  : हालांकि चुनाव के बाद जब किसी पार्टी को बहुमत नहीं मिला तो दोनों पार्टियों ने मिलकर सरकार बनाई थी। मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस ने 16 सितंबर को कहा था कि शिवसेना के साथ सीट शेयरिंग को लेकर बातचीत जारी है और जल्द ही फैसला कर लिया जाएगा। इस साल के अंत में 288 सदस्यों वाली विधानसभा का चुनाव होगा। इस साल के अंत और अगले साल की शुरुआत में कई राज्यों के विधानसभाओं का चुनाव होना है।

Next Stories
1 ‘दिग्विजय सिंह की एंट्री बैन हो’, भोपाल के मंदिर में हिंदू समाज ने लगाए पोस्टर, बयानों के चलते हुआ पूर्व सीएम का विरोध
2 करीना का जन्मदिन मनाने पटौदी पहुंचे सैफ अली खान, अपने ही घर का रास्ता भूले
3 प्रियंका गांधी ने सीएम योगी पर बोला हमला, कहा- उन्नाव की तरह चिन्मयानंद को भी संरक्षण दे रही बीजेपी सरकार
ये पढ़ा क्या?
X