ताज़ा खबर
 

पश्चिम बंगाल: 9 बार सांसद रहे CPM नेता को TMC कार्यकर्ताओं ने जमकर पीटा

नौ बार सांसद रहे सीपीएम नेता बासुदेव आचार्य को पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लाठी-डंडे से बुरी तरह पीटा। यह घटना पुलिस के सामने उस वक्त हुई जब वे पंचायत चुनाव के नामांकन के सिलसिले में कार्यकर्ताओं के साथ जुलूस में हिस्सा ले रहे थे।

Author नई दिल्ली | April 7, 2018 14:53 pm
सांकेतिक तस्वीर।

नौ बार सांसद रहे सीपीएम नेता बासुदेव आचार्य को पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लाठी-डंडे से बुरी तरह पीटा। यह घटना पुलिस के सामने उस वक्त हुई जब वे पंचायत चुनाव के नामांकन के सिलसिले में कार्यकर्ताओं के साथ जुलूस में हिस्सा ले रहे थे। वामपंथी नेताओं पर हमले की यह दूसरी घटना है। जिस दिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने वामपंथी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य से शिष्टाचार मुलाकात की थी, उसी दिन सात बार के सांसद रहे राम चंद्र डोम पर बीरभूम में हमला हुआ था।
दरअसल काशीपुर बीडीओ कार्यालय पर सौ से अधिक लोगों के जुलूस का का आचार्य और पूर्व विधायक सत्य बौरी नेतृत्व कर रहे थे। सीपीएम के पुरुलिया जिला सचिव प्रदीप राय ने बताया-वे अचानक आए और लाठी-डंडे से पीटने लगे। उन्होंने डंडे को पेट में भी घुसाने की कोशिश की। घायल सीपीएम नेता आचार्य को पुरुलिया देबेन महतो जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं तृणमूल कांग्रेस के सचिव जनरल पार्थ चटर्जी ने कहा-हमारी पार्टी का कोई कार्यकर्ता हमले की घटना में शामिल नहीं रहा। हम ऐसी राजनीति में भरोसा नहीं करते। पुरुलिया के पुलिस अधीक्षक जॉय बिश्वास ने पुलिस के समक्ष पूर्व सांसद की पिटाई की घटना से इन्कार किया।

उन्होंने बताया कि शिकायत मिलने पर पुलिस घटना की जांच कर रही है। सदन में लेफ्ट नेता सुजन चक्रवर्ती ने कहा-एक तरह मुख्यमंत्री लेफ्ट नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बुद्धदेव भट्टाचार्य का हाल-चाल लेकर शिष्टाचार की राजनीति कर रहीं हैं, दूसरी तरह उनके पार्टी कार्यकर्ता ईमानदार नेताओं की पिटाई कर रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के एक मंत्री ने कहा कि आचार्य और डोम दोनों ने अपने कार्यकाल में नैतिक मूल्यों को स्थापित किया। ऐसे लोगों पर हमला मूर्खता का काम है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App