ताज़ा खबर
 

बरेली में निकाह हलाला के खिलाफ पहला केस दर्ज, दो बार शिकार बनी पीड़‍िता

पीड़िता के पति ने साल 2011 में उसे तीन तलाक दे दिया था। उसके बाद पीड़िता के पति ने उससे दोबारा शादी करनी चाही, लेकिन ऐसा करने से पहले पीड़िता को निकाह हलाला का सामना करना था, इसलिए उसके पति ने उसका निकाह अपने पिता यानी पीड़िता के ससुर से करा दिया।

Author Published on: July 18, 2018 2:57 PM
निकाह हलाला और तीन तलाक से पीड़ित महिलाओं ने सरकार से इन प्रथाओं को खत्म करने के लिए मजबूत कदम उठाने की मांग की। (फोटो सोर्स- एएनआई ट्विटर)

उत्तर प्रदेश के बरेली में कुछ दिनों पहले 35 महिलाओं ने निकाह हलाला और तीन तलाक के खिलाफ सरकार से सख्त कदम उठाने की अपील की थी। इन महिलाओं में शामिल एक महिला ऐसी भी थी, जिसकी आपबीती ने हर किसी को चौंका दिया था। बरेली की इस महिला के साथ उसके पति ने कुछ ऐसा किया था जिसके बारे में आप और हम कल्पना भी नहीं कर सकते। पीड़िता को निकाह हलाला के तहत अपने ससुर के साथ सोने पर मजबूर किया गया था। इतना ही नहीं पीड़िता के ऊपर देवर के साथ सोने के लिए भी दबाव बनाया जा रहा था।

दरअसल, पीड़िता के पति ने साल 2011 में उसे तीन तलाक दे दिया था। उसके बाद पीड़िता के पति ने उससे दोबारा शादी करनी चाही, लेकिन ऐसा करने से पहले पीड़िता को निकाह हलाला का सामना करना था, इसलिए उसके पति ने उसका निकाह अपने पिता यानी पीड़िता के ससुर से करा दिया। हलाला के बाद पीड़िता के पति ने एक बार फिर उससे निकाह कर लिया और दोनों साथ में रहने लगे। कुछ समय बाद दोनों के बीच फिर झगड़ा हुआ और पीड़िता के पति ने 2017 में उसे एक बार फिर तलाक दे दिया। बात यहीं पर नहीं खत्म हुई, बरेली की इस पीड़िता के पति ने एक बार फिर उसके ऊपर हलाला का दबाव बनाया और इस बार देवर के साथ सोने की बात कही, लेकिन पीड़िता इस बार तैयार नहीं हुई और उसने विरोध के स्वर ऊंचे कर दिए।

पीड़िता ने निदा खान से मुलाकात की। निदा खान वही महिला थीं जो तीन तलाक के खिलाफ लड़ रही थीं। निदा खुद तीन तलाक पीड़िता थीं। उन्होंने बरेली की इस पीड़िता के साथ हुए अन्याय के खिलाफ आवाज बुलंद की और 8 जुलाई को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करवाई गई। इस कॉन्फ्रेंस में तीन तलाक और निकाह हलाला से पीड़िता करीब 35 महिलाओं ने अपना दर्द बयां किया और सरकार से सख्त कदम उठाने की अपील भी की।

बरेली में दर्ज हुआ हलाला के खिलाफ पहला केस
पीड़िता की समस्या और पूरी आपबीती जब सामने आई तब पुलिस महकमा भी सक्रीय हो गया। हलाला के मामले में उत्तर प्रदेश के बरेली में पहला केस दर्ज कर लिया गया है। न्यूज़ 18 के मुताबिक इस मामले में पीड़िता के ससुर समेत पूरे परिवार को आरोपी बनया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 माफिया से परेशान आईएएस ने मांगा ट्रांसफर, विरोध में बिहार सरकार पहुंची हाई कोर्ट
2 छत्तीसगढ़: सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में महिला नक्सली को किया ढेर, 5 लाख का था इनाम
India vs New Zealand 3rd T20:
X