ताज़ा खबर
 

ग्रेटर नोएडा से दो बांग्लादेशी आतंकी गिरफ्तार, दिल्ली-एनसीआर में बड़ी घटना को देना चाहता था अंजाम

उत्तर प्रदेश एटीएस और पश्चिम बंगाल पुलिस की संयुक्त टीम ने एक कार्रवाई में बांग्लादेश के आतंकवादी संगठन जमात उल मुजाहिदीन (जेएमबी) के दो सदस्यों को ग्रेटर नोएडा से गिरफ्तार किया है।

Author July 24, 2018 5:17 PM
एसआरएस ग्रुप के अध्यक्ष समेत पांच को गिरफ्तार किया गया है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जमात-उल-मुजाहिदीन बांग्लादेश के दो सक्रिय सदस्य गिरफ्तार लखनऊ, 24 जुलाई (भाषा) उत्तर प्रदेश के आतंकवाद रोधी दस्ते (एटीएस) की अगुवाई में आज हुई संयुक्त कार्रवाई में नोएडा से आतंकवादी संगठन जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) के दो सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया गया।
यूपी एटीएस द्वारा यहां जारी बयान के मुताबिक एटीएस, पश्चिम बंगाल पुलिस और गौतम बुद्ध नगर पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में जेएमबी के सक्रिय सदस्यों रूबेल अहमद और मुशर्रफ हुसैन को नोएडा के सूरजपुर थाना क्षेत्र में गिरफ्तार कर लिया गया। पश्चिम बंगाल पुलिस ने कुछ समय पहले इन दोनों के गाजियाबाद और नोएडा में छुपे होने की सूचना दी थी।
बयान के अनुसार पकड़े गये दोनों संदिग्ध आतंकवादियों से अभी तक की पूछताछ में स्पष्ट हुआ है कि वे जेएमबी के सदस्य हैं और मार्च 2018 में बांग्लादेश पुलिस के दबाव में वहां से भाग निकले थे। इन दिनों वे गाजियाबाद और नोएडा में रहकर काम कर रहे थे। पश्चिम बंगाल पुलिस दोनों अभियुक्तों कों ट्रांजिट रिमांड पर लेने के लिये उन्हें न्यायालय में प्रस्तुत करेगी। यूपी एटीएस दोनों से गहन पूछताछ के लिए पश्चिम बंगाल जाएगी। इस दौरान यह जानने का प्रयास किया जाएगा कि इनके क्या उद्द्येश्य थे और यहां उनके सहयोगी कौन-कौन थे। वहीं दूसरी ओर नोएडा पुलिस सूत्रों का कहना है कि दोनों राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में किसी बड़ी आतंकवादी घटना को अंजाम देने की फिराक में थे। इस संबंध में ज्यादा जानकारी पूछताछ के बाद ही मिलेगी।

सूत्रों का कहना है कि खुफिया विभाग से सूचना मिली थी कि जेएमबी के कुछ सदस्य एनसीआर में अपने संगठन के लिए धन जुटा रहे हैं।
जमात उल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश (जेएमबी) का गठन वर्ष 1998 में अब्दुल रहमान ने ढाका डिवीजन के पालमपुर में किया था। 2005 में जेएमबी ने एक एनजीओ पर हमला किया था जिसके बाद बांग्लादेश सरकार ने इसपर प्रतिबंध लगा दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App