ताज़ा खबर
 

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में हॉस्टल से निकाली गई लड़की, घरवालों से कहा- इसका इलाज करवाइए

बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के महिला महा विद्यालय में लड़की को निकाला गया।

Author January 5, 2018 15:26 pm
बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी में लड़की को सस्पेंड करने का मामला।

महिला महाविद्यालय की एक छात्रा को समलैंगिकता और अनुशासहीनता के आरोप में हॉस्टल छोड़ने के लिए कहा गया है। हालांकि छात्रा को कॉलेज से निलंबित नहीं किया गया है। संस्थान की अनुशासन समिति के एक सदस्य ने नाम न देने की शर्त पर बताया कि छात्रा के खिलाफ दूसरी छात्राओं ने “उत्पीड़न करने की शिकायत” की थी। एक सदस्‍य ने दावा किया कि बीए ऑनर्स में पढ़ने वाली लड़की को समलैंगिक जैसी हरकतें करने की वजह से निकाल दिया गया, ताकि शांति व्यवस्था बनी रहे सके।

असिस्टेंट प्रोफेसर और पांच हॉस्टलों की चीफ कॉर्डिनेटर नीलम आरती ने इंडियन एक्सप्रेस से बात की। उन्होंने बताया कि 16 लड़कियों ने उस लड़की के खिलाफ लिखित में शिकायत दी थी। लड़कियों का आरोप था कि लड़की उनको डराती-धमकाती है। आरोप है कि लड़की कहती थी कि अगर उसकी बात नहीं मानी गई तो वह सुसाइड कर लेगी। इसके बाद लड़की के घरवालों को बुलाया गया और उसका इलाज करवाने की सलाह दी गई। समलैंगिक वाली खबरों पर आरती ने कहा कि जो लोग ऐसी बात कर रहे हैं वे यूनिवर्सिटी का नाम खराब करना चाहते हैं।

हॉस्टल की एक लड़की के मुताबिक, जिस लड़की पर आरोप लगे हैं वह एक आंख से देख नहीं सकती। लेकिन कॉलेज प्रशासन उसकी तरफ अधिक ध्यान देने की जगह उसको बिना किसी जांच के सस्पेंड कर चुका है। लड़की के सस्पेंड होने के बाद यूपी के एक गांव में रहने वाले उसके माता-पिता बड़े परेशान हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App