ताज़ा खबर
 

‘छुट्टी चाहिए तो अंग्रेजी में लिखो Application’, एसपी के फरमान से मचा हड़कंप- English Learning में जुटी पुलिस

पुलिस कप्तान ने कहा है कि जब कोई पुलिसकर्मी अवकाश का प्रार्थना पत्र लेकर आएगा तो उसे रजिस्टर, शब्दकोश और अंग्रेजी अखबार खरीदने की रसीद भी दिखानी होगी। तभी अवकाश स्वीकृत होगा।

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश के बलरामपुर जिले में पुलिस वालों को अब फिर से किताबें खोलने को विवश होना पड़ रहा है। दरअसल वहां के पुलिस कप्तान ने सभी पुलिस कर्मचारियों को कहा है कि वे अब छुट्टी का आवेदन सिर्फ अंग्रेजी में ही दें। हिंदी में आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। इसकी वजह से अंग्रेजी नहीं जानने वाले पुलिसकर्मी अब अंग्रेजी किताबें पढ़ने की कवायद में जुट गए हैं। एसपी ने उनसे अंग्रेजी अखबारों को भी पढ़ने के लिए कहा है।

शब्दकोश खरीदने की रसीद दिखानी होगी: पुलिस कप्तान ने कहा है कि जब कोई पुलिसकर्मी अवकाश का प्रार्थना पत्र लेकर आएगा तो उसे रजिस्टर, शब्दकोश और अंग्रेजी अखबार खरीदने की रसीद भी दिखानी होगी। तभी अवकाश स्वीकृत होगा। ऐसा नहीं करने वाले को अवकाश नहीं मिल पाएगा। कहा कि कार्यशैली सुधारने के लिए यह सब कवायद जरूरी है।

‘रोज पांच शब्द सीखें और बात करें’:  एसपी ने कहा है कि सभी पुलिसकर्मी अंग्रेजी शब्दकोश की मदद लें। वे इसे खरीदकर रोजाना कम से कम पांच नए शब्द याद करें। इसको रोज एक डायरी में लिखें भी। इतना ही नहीं उनसे यह भी कहा गया है कि वे आपस में बातचीत के दौरान अधिक से अधिक अंग्रेजी शब्दों का प्रयोग करें।

National Hindi News, 5 October Top Breaking 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

थानों में होंगी कार्यशालाएं: एसपी का कहना है कि अपराधी नए तरीके से अपना काम कर रहे हैं, जबकि पुलिसकर्मी पुराने ढर्रे पर ही चल रहे हैं। इससे उनमें बदलाव लाए जाने की सख्त जरूरत है। एसपी के आदेश के बाद अब सभी थानों और चौकियों पर कार्यशालाएं आयोजित होंगी। इसमें पुलिसकर्मियों को अंग्रेजी सिखाई जाएगी।

अंग्रेजी में होते हैं कोर्ट के आदेश : एसपी का तर्क है कि हाईकोर्ट – सुप्रीम कोर्ट का आदेश अंग्रेजी में आते हैं। कानून और क्राइम से जुड़े मामलों के अध्ययन के लिए किताबें अंग्रेजी में हैं। साइबर क्राइम, सर्विलांस और कंप्यूटर की किताबें भी अधिकतर अंग्रेजी में हैं। इनको पढ़ने और समझने के लिए अंग्रेजी जानना बहुत जरूरी है। अगर पुलिसकर्मी अंग्रेजी सीखेंगे तो उनको इसे पढ़ने में आसानी होगी और फिर उनकी कार्यशैली सुधरेगी।

 

 

Next Stories
1 Mumbai: पेड़ कटाई पर बवाल का विरोध, लाठीचार्ज और गिरफ्तारियों के बाद बोले उद्धव ठाकरे- सरकार बन जाए फिर निपटेंगे पेड़ों के हत्यारों से
2 दुर्गा पूजा पर अच्छी पहलः प्लास्टिक-थर्मोकॉल की प्लेट में नहीं मिलेगा प्रसाद, पत्तों से बनीं पत्तल का हो रहा उपयोग
3 जमीन की जंग में भड़के बेरहम पोते ने किया डबल मर्डर, कुल्हाड़ी लेकर दादा-दादी को काट डाला
ये पढ़ा क्या?
X