ताज़ा खबर
 

बदमाशों ने टोल प्लाजा में तोड़फोड़ कर लूटे पैसे, कर्मचारियों को सरिये से पीटा, बूथ मालिक बोला- बजरंग दल के थे गुंडे

टोल प्लाजा के मैनेजर इंद प्रताप ने आरोप लगाया कि बदमाश बजरंग दल के थे। उन्होंने कैश काउंटर तोड़कर सारे पैसे लूट लिए।

चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

मध्य प्रदेश के इंदौर-देवास बॉर्डर स्थित टोल प्लाजा पर रविवार को करीब 25 बदमाशों ने हमला कर दिया। उन्होंने टोल कर्मचारियों को लोहे की रॉड से बुरी तरह पीटा और टोल बूथ में तोड़फोड़ कर पैसे भी लूट लिए। यह पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई। इन दिनों यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बदमाश भगवा झंड़ा लगीं 4 गाड़ियों में भरकर आए थे। टोल प्लाजा के मैनेजर इंद प्रताप ने आरोप लगाया कि बदमाश बजरंग दल के थे। उन्होंने कैश काउंटर तोड़कर सारे पैसे लूट लिए।

उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है कि जब बजरंग दल के बदमाशों ने एेसा उत्पात मचाया हो। इन लोगों का कहना था कि उनकी गाड़ियों से टोल न वसूला जाए। सिंह ने कहा, एेसा हर वक्त मुमकिन नहीं होता। इस बार हमने पेमेंट मांगी तो वह चार गाड़ियों में आए और सारा टोल प्लाजा तोड़ दिया। मामले की जांच कर रहे एएसआई राम सिंह ने इंडिया टुडे से कहा, मामले की शिकायत दर्ज हो चुकी है, लेकिन अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई। उन्होंने कहा कि हम सीसीटीवी फुटेज को खंगालकर आरोपियों की पहचान कर रहे हैं। इसी के बाद कोई एक्शन लिया जाएगा।

इससे पहले 20 अप्रैल को फतेहगंज टोल प्लाजा पर बीजेपी विधायक राकेश राठौड़ ने एक टोल प्लाजा कर्मचारी को थप्पड़ जड़ दिया था। राकेश राठौड़ सितापुर से विधायक है। यह घटना सीसीटीवी में कैद हुई थी, जिसके बाद इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया था। जानकारी के मुताबिक राकेश राठौड़ अपने समर्थकों के साथ टोल प्लाजा की तरफ से गुजर रहे थे कि तभी टोल कर्मचीरी ने उन्हें टोल देने के लिए रोका। राकेश के समर्थक टोल देने से मना करते रहे लेकिन बिना पैसे दिए कर्मचारी उन्हें निकलने नहीं दे रहा था।

इसके बाद विधायक का गुस्सा इतना बढ़ गया था कि उसने टोल कर्मचारी को थप्पड़ ही मार दिया और वहां से बिना टोल दिए ही निकल गए। इस मामले पर राकेश राठौड़ का कहना था कि मैंने कर्मचारी को थप्पड़ नहीं मारा केवल धक्का दिया था। उन्होंने कहा कि मैंने कर्मचारी को धक्का इसलिए दिया था क्योंकि उसने मेरे साथ बदतमीजी की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App