scorecardresearch

आजमगढ़ उपचुनाव: यादवों के लिए दिनेश लाल यादव निरहुआ ने उठाया अहीर रेजीमेंट का मुद्दा, पीएम मोदी- ठीक है जीतकर आओ कुछ करते हैं

निरहुआ ने कहा कि आजमगढ़ की जनता मेरे साथ है। सपा ने आजमगढ़ को अपना गढ़ तो माना, लेकिन आजमगढ़ के जो मुद्दे हैं क्या कभी उस पर काम किया।

azamgarh by election | Dinesh Lal Yadav Nirahua | Ahir Regiment
भोजपुरी जगत के सुपरस्टार और बीजेपी नेता दिनेश लाल यादव निरहुआ (फोटो सोर्स- ट्विटर)

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ में लोकसभा सीट पर उपचुनाव से पहले भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव उर्फ निरहुआ ने अहीर रेजीमेंट का मुद्दा उठाया है। इस बात की जानकारी उन्होंने बुधवार ( 8 जून, 2022) को दी। उन्होंने कहा कि जब मैं पीएम मोदी से मिला, तब मैंने सबसे पहले अहीर रेजीमेंट बनाने की उनसे बात कही। इसके जवाब में पीएम मोदी ने कहा कि ठीक है, जीतकर आओ फिर देखते हैं।

निरहुआ ने कहा कि आजमगढ़ की जनता मेरे साथ है। सपा ने आजमगढ़ को अपना गढ़ तो माना, लेकिन आजमगढ़ के जो मुद्दे हैं क्या कभी उस पर काम किया। उन्होंने कहा कि जहां तक यादव की बात है तो कभी सपा ने अहीर रेजीमेंट की बात की क्या? उन्होंने कहा कि जब मैं प्रधानमंत्री से मिला तो सबसे पहले अहीर रेजीमेंट को लेकर ही बात की।

निरहुआ ने अखिलेश यादव पर टिप्पणी करते हुए कहा कि हमारी संस्कृति है कि हम सभी धर्मों का आदर करें। वो हम करते हैं, लेकिन ये नहीं होना चाहिए कि आप अपने धर्म का अपमान करें या फिर कोई और करे तो उसको करने दें। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि ये बहुत छोटी सोच और मानसिकता है कि आप अन्य धर्म का तो बहुत सम्मान करते हैं, लेकिन शिवलिंग के ऊपर टिप्पणी करते हैं। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव कहते हैं कि कहीं पर एक पत्थर रख दो, टीका लगा दो वहं मंदिर बन जाता है।

कांग्रेस ने उपचुनाव में नहीं उतारा कोई प्रत्याशी
आजमगढ़ और रामपुर लोकसभा सीट पर उपचुनाव में कांग्रेस ने उम्मीदवार नहीं उतारने का फैसला किया है। उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने इस फैसले की जानकारी देते हुए बयान जारी किया है। जिसमें कहा गया है कि पार्टी दोनों ही सीटों पर उम्मीदवार नहीं उतारेगी और अब संगठन को फिर से मजबूत करने का काम किया जाएगा।

यूपी कांग्रेस के ट्वीट में लिखा है, ‘भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनावों में अपने प्रत्याशी नहीं उतारेगी। विधानसभा चुनाव के नतीजों को देखते हुए यह जरूरी है कि उत्तर प्रदेश में कांग्रेस स्वयं का पुनर्निर्माण करे जिससे कि 2024 के आम चुनाव में स्वयं को एक मजबूत विकल्प के रूप में पेश कर सके।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X