ताज़ा खबर
 

सामने आया रामजन्म भूमि पूजन समारोह का कार्ड, पीएम मोदी के अलावा इन तीन लोगों के हैं नाम

राम मंदिर भूमि पूजन का कार्ड पहली बार पहली बार सामने आया है। कार्ड में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम सबसे ऊपर लिखा है।

PM Narendra Modi Yogi Adityanath Anandiben Patel Mohan Bhagwatआमंत्रण पत्र के मुताबिक राम मंदिर का भूमि पूजन बुधवार (5 अगस्त, 2020) को दोपहर 12.30 बजे होगा। इस कार्यक्रम में कुछ चुनिंदा लोगों को ही आने न्योता दिया गया है। (ट्विटर)

अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। भूमि पूजन से पहले तीन दिनों तक चलने वाले धार्मिक अनुष्ठानों की भी शुरुआत हो चुकी है। जिन मेहमानों को बुलाना है, उन्हें न्योता भी भेजा जा चुका है। इस बीच राम मंदिर भूमि पूजन का कार्ड पहली बार पहली बार सामने आया है। कार्ड में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम सबसे ऊपर लिखा है।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास की तरफ से भेजे गए इस कार्ड में लिखा है श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का भूमि पूजन और कार्यारम्भ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कर कमलों के द्वारा होगा। आमंत्रण पत्र में पीएम मोदी के बाद आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का नाम विशिष्ट अतिथि के तौर पर दर्ज है। दो अन्य नाम उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल और प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के हैं।

आमंत्रण पत्र के मुताबिक राम मंदिर का भूमि पूजन बुधवार (5 अगस्त, 2020) को दोपहर 12.30 बजे होगा। इस कार्यक्रम में कुछ चुनिंदा लोगों को ही आने न्योता दिया गया है। बाबरी मस्जिद के मुद्दई रहे इकबाल अंसारी को भी आमंत्रण पत्र भेजा गया है। आमंत्रण मिलने पर उन्होंने कहा कि मैं कार्यक्रम में जरूर जाऊंगा। भगवान राम की मर्जी से हमें न्योता मिला है। अयोध्या में गंगा-जमुनी तहजीब बरकरार है।

Rajasthan Government Crisis LIVE Updates

उन्होंने कहा कि मैं हमेशा मठ-मंदिरों में जाता रहा हूं। कार्ड मिला है तो जरूर जाऊंगा। इकबाल अंसारी, भूमिपूजन में पीएम नरेंद्र मोदी को राम चरित मानस और राम नामा भेंट करेंगे।

इस बीच वरिष्ठ भाजपा नेता उमा भारती ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते वो पीएम मोदी और अन्य लोगों की पांच अगस्त को अयोध्या में भगवान राम के मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम से वापसी के बाद ही रामलला के दर्शन करने पहुंचेंगी।

उन्होंने कहा कि कल जब से मैंने (केन्द्रीय गृह मंत्री) अमित शाह जी तथा भाजपा के नेताओं के बारे में कोरोना वायरस पॉजिटिव होने का सुना, तभी से मैं अयोध्या में मंदिर के शिलान्यास में उपस्थित लोगों के लिये खासकर नरेंद्र मोदी जी के लिये चिंतित हूं। इसीलिए मैंने रामजन्मभूमि न्यास के अधिकारियों को सूचना दी है कि शिलान्यास के कार्यक्रम के मुहूर्त पर मैं अयोध्या में सरयू (नदी) के किनारे पर रहूंगी।

उन्होंने आगे कहा कि यह सूचना मैंने अयोध्या में राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ अधिकारी और प्रधानमंत्री कार्यालय को भेज दी है कि माननीय नरेंद्र मोदी के शिलान्यास कार्यक्रम के समय उपस्थित समूह की सूची में से मेरा नाम अलग कर दें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 JNU में कनकलता बरुआ जैसे आजादी के ‘गुमनाम हीरो’ का जश्न मनाएगी ABVP, स्वराज पखवाड़े का होगा आयोजन
2 Bihar, Jharkhand Coronavirus Highlights: बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 64 हजार के पार, 42 हजार से ज्यादा लोग हुए ठीक
3 Rajasthan Government Crisis: सूर्यगढ़ में होटल में ही मनाया गया रक्षाबंधन, महिला विधायकों ने गहलोत को बंधी राखी
IPL 2020 LIVE
X