ताज़ा खबर
 

कोर्ट में पहुंचा एक अनोखा अयोध्या विवाद, इंसाफ मांगने पहुंचे 8 ‘राम’, डीएम ने भी जताया आश्चर्य

मीडिया में भी राम मंदिर और राम नाम को लेकर रोजाना खबरें आ रही हैं। अब ताजा मामला अयोध्या के जिलाधिकारी के सामने आ गया है। उसे ही उन्होंने अपने ट्वीटर के जरिए सबके सामने लाया है।

Author अयोध्या | Published on: November 18, 2019 5:13 PM
अयोध्या का सरयू तट, प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस)

यूपी के अयोध्या में राम मंदिर के साथ ही कई और ऐसे मामले हैं जो चर्चा का विषय बनते रहते हैं। ऐसा ही एक मामला अभी हाल में सामने आया है। इसको स्वयं अयोध्या के जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने अपने ऑफिशयल ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर बताया है। इस मामले में एक नहीं बल्कि कई ‘राम’ प्रतिवादी हैं। प्रतिवादी पक्ष से कुल 8 लोग ऐसे हैं, जिनमें से अधिकतर के नाम के आगे राम लगा हुआ है। जिलाधिकारी ने लिखा वाकई अयोध्या भगवान राम की स्थली है।

केस की कॉफी भी ट्वीट की:  जिलाधिकारी अनुज झा ने केस की कॉपी ट्वीट की, इसमें प्रतिवादियों के नाम कुछ इस तरह हैं- रामकुमार, रामकेवल, रमाकांत, सीताराम, सियाराम, अनंतराम, धनीराम और रामचंद्र। मामला यह रेवेन्यू कोर्ट से जुड़ा है। इसे ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा, ‘मेरी कोर्ट में एकमात्र ऐसा केस जिसमें प्रतिवादियों के रूप में 8 राम हैं। वाकई, अयोध्या भगवान राम की भूमि है।’

Hindi News Today, 18 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें

अयोध्या विवाद के अलावा भी राम का नाम चर्चा में है : जब से अयोध्या में राम मंदिर का विवाद कोर्ट में चल रहा है, तब से राम का नाम लोगों के जेहन में है। हर तरफ राम-राम ही चर्चा में है। मीडिया में भी राम मंदिर और राम नाम को लेकर रोजाना खबरें आ रही हैं। अब ताजा मामला अयोध्या के जिलाधिकारी के सामने आ गया है। उसे ही उन्होंने अपने ट्वीटर के जरिए सबके सामने लाया है।

अयोध्या में शांति बनाए रखने में डीएम की हुई थी सराहना : इन दिनों अयोध्या लगातार चर्चा में बना हुआ है। पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में महत्वपूर्ण फैसला सुनाया था। इस दौरान अयोध्या में दुरुस्त प्रशासन व्यवस्था को लेकर जिलाधिकारी अनुज झा की प्रशंसा हुई थी, जिन्होंने बेहद सहूलियत से अयोध्या में शांति व्यवस्था बनाए रखी। बता दें कि इसी साल फरवरी में उनका तबादला अयोध्या हुआ था। इससे पहले वह बुलंदशहर के जिलाधिकारी थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
जस्‍ट नाउ
X