ताज़ा खबर
 

Delhi: ऑटो रिक्शा में सफर करना हो सकता है महंगा, अगले हफ्ते से लागू हो सकता है यह किराया

दिल्ली में ऑटो- रिक्शा में सफर करना महंगा हो सकता है। बता दें कि मांग के लिए भेजी गई रिपोर्ट के मुताबिक ऑटो रिक्शा का किराया 14.3 प्रतिशत तक बढ़ सकता है।

प्रतीकात्मक फोटो, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

दिल्ली में ऑटो रिक्शा का किराया 14.3 प्रतिशत तक बढ़ सकता है। जानकारी के मुताबिक, बढ़ा हुआ किराया अगले हफ्ते से लागू भी हो सकता है। दरअसल, राज्य की ओर से नियुक्त 11 सदस्यीय फेयर रीविजन कमेटी ने दिल्ली सरकार को रिपोर्ट सौंपी है। इसमें ऑटो का किराया 14.3 प्रतिशत बढ़ाने की बात कही गई है।

दिल्ली परिवहन विभाग ने दिल्ली सरकार को भेजा प्रस्ताव: बता दें कि ऑटो और टैक्सी आदि का किराया बढ़ाने से संबंधित सुझाव देने के लिए दिल्ली सरकार ने कुछ महीने पहले परिवहन विभाग के विशेष आयुक्त अनिल बंका के नेतृत्व में कमेटी का गठन किया था। जानकारी के मुताबिक, इस कमेटी ने अपनी रिपोर्ट दिल्ली सरकार को सौंप दी है।

कितना बढ़ सकता है किराया: इस वक्त दिल्ली में ऑटो किराया पहले दो किलोमीटर के लिए 25 रुपए तय है। इसके बाद सफर पर 8 रुपए प्रति किलोमीटर की दर से किराया देना होता है। नई रिपोर्ट में 2 किलोमीटर के सफर के बाद किराए को 8 रुपए प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर 9.15 रुपए करने की बात कही गई है। वहीं, ट्रैफिक जाम आदि में फंसने पर 1 रुपए प्रति मिनट का भी चार्ज प्रस्ताव में शामिल है।

नाइट चार्ज के लिए यह है मांग: बता दें कि नाइट चार्ज यानी रात 9 बजे से सुबह 5 बजे तक किराए पर 25 प्रतिशत अतिरिक्त वसूलने का प्रस्ताव शामिल किया गया है।

राज्य सरकार लेगी अंतिम फैसला : स्टेट ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर कैलाश गहलोत का कहना है कि जल्द ही इस पर फैसला ले लिया जाएगा। किराया बढ़ोत्तरी पर आखिरी फैसला राज्य सरकार का होगा।

महंगी हो सकती हैं ये सेवाएं: गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही परिवहन विभाग में आयोजित बैठक में अन्य पब्लिक ट्रांसपोर्ट का किराया बढ़ाने की भी मांग की गई थी। इन सेवाओं में मिनी बस सेवा, मेट्रो फीडर बस सेवा, फटफट सेवा और ग्रामीण सेवा जैसे यातायात के साधन शामिल हैं। गौरतलब है कि 2009 से इनका किराया नहीं बढ़ाया गया है। वहीं, काली-पीली टैक्सी ने भी किराया बढ़ोत्तरी की मांग रिपोर्ट में की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App