ताज़ा खबर
 

गुजरात: सीएम के खिलाफ मानहानि का केस ठोकेंगे कांग्रेस नेता

गुजरात कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल ने मंगलवार को कहा कि वह मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के खिलाफ यह कहने के लिए आपराधिक एवं दीवानी मानहानि वाद दायर करेंगे कि राज्य में हाल में हिंदी भाषी लोगों पर हुए हमलों के लिए विपक्षी पार्टी के ‘‘बिहार प्रभारी’’ जिम्मेदार हैं।

Author October 17, 2018 11:55 AM
गुजरात के सीएम विजय रुपानी।

गुजरात कांग्रेस नेता शक्तिसिंह गोहिल ने मंगलवार को कहा कि वह मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के खिलाफ यह कहने के लिए आपराधिक एवं दीवानी मानहानि वाद दायर करेंगे कि राज्य में हाल में हिंदी भाषी लोगों पर हुए हमलों के लिए विपक्षी पार्टी के ‘‘बिहार प्रभारी’’ जिम्मेदार हैं। गोहिल बिहार में कांग्रेस पार्टी मामलों के प्रभारी हैं। बिहार के एक श्रमिक के, साबरकांठा जिले में 28 सितम्बर को 14 महीने की एक बच्ची से बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार किए जाने के बाद उत्तर गुजरात के कई जिले हिंसा से प्रभावित हुए थे। इससे राज्य से हजारों लोगों का पलायन हुआ। रूपाणी ने सोमवार को लखनऊ में संवाददाताओं से बातचीत में किसी का नाम लिये बिना कहा था कि कांग्रेस पार्टी के बिहार प्रभारी हिंसा के लिए जिम्मेदार हैं। उन्होंने कहा कि इस सिलसिले में गिरफ्तार किये गए लोगों में 50 से अधिक कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं।

संयोग से कांग्रेस विधायक अल्पेश ठाकोर पार्टी के बिहार प्रभारी सचिव हैं। सत्ताधारी भाजपा ने कई मौकों पर ठाकोर और उनके संगठन क्षत्रिय ठाकोर सेना पर हिंसा के लिए आरोप लगाया है। भाजपा नेताओं ने यह भी उल्लेखित किया है कि ंिहसा के संबंध में गुजरात पुलिस द्वारा दर्ज की गई कई प्राथमिकियों में ठाकोर के संगठन का उल्लेख है।
ठाकोर ने लगातार आरोपों से इनकार किया है और दावा किया है कि ठाकोर समुदाय के खिलाफ दर्ज मामले झूठे हैं।

गोहिल ने मंगलवार को संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं गुजरात के मुख्यमंत्री के खिलाफ उनके इस बयान के लिए आपराधिक एवं दीवानी मानहानि वाद दायर करूंगा कि कांग्रेस के बिहार प्रभारी हमारे राज्य में ंिहसा के लिए जिम्मेदार हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं कल पहले उन्हें एक विधिक नोटिस भेजूंगा और स्पष्टीकरण के लिए दो सप्ताह का समय दूंगा। यदि वह माफी नहीं मांगते हैं तो मैं अदालत जाऊंगा।’’ यह पूछे जाने पर कि यदि रूपाणी का इशारा उनकी ओर नहीं, ठाकोर की ओर हो, तो गोहिल ने कहा कि कांग्रेस एक राज्य के लिए मात्र एक ‘‘प्रभारी’’ नियुक्त करती है और अन्य सभी ‘‘सचिव’’ होते हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं उम्मीद करता हूं कि गुजरात के मुख्यमंत्री को यह मूलभूत ज्ञान हो। यदि वह मेरे बारे में बात नहीं कर रहे थे तो उन्हें स्पष्टीकरण देना चाहिए। आज कई समाचारपत्रों ने खबर दी है कि मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि मैं हिंसा के लिए जिम्मेदार हूं। इसलिए मैंने विधिक कार्रवाई का निर्णय किया है।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App