ताज़ा खबर
 

असमः बीजेपी सीएम की अल्पसंख्यकों से अपील- गरीबी रेखा से ऊपर आना है तो करें फैमिली प्लानिंग

सरमा ने कहा कि उनकी सरकार अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं को शिक्षित करने की ओर काम करेगी ताकि इस समस्या से प्रभावी रूप से निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार मंदिर, सत्रों और वन भूमि का अतिक्रमण नहीं करने दे सकती है।

Edited By Sanjay Dubey गुवाहाटी | June 10, 2021 4:32 PM
असम के सीएम हिमंत विस्व सरमा। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस फाइल)

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने बृहस्पतिवार को गरीबी कम करने के उद्देश्य से जनसंख्या नियंत्रण के लिए अल्पसंख्यक समुदाय से “उचित परिवार नियोजन नीति” अपनाने का अनुरोध किया। मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार के 30 दिन पूरे होने के मौके पर कहा कि समुदाय में गरीबी कम करने में मदद के लिए सभी पक्षकारों को आगे आना चाहिए और सरकार का समर्थन करना चाहिए। गरीबी की वजह जनसंख्या में अनियंत्रित वृद्धि है।

उन्होंने कहा, “सरकार सभी गरीब लोगों की संरक्षक है लेकिन उसे जनसंख्या वृद्धि के मुद्दे से निपटने के लिए अल्पसंख्यक समुदाय के सहयोग की आवश्यकता है। जनसंख्या वृद्धि गरीबी, निरक्षरता और उचित परिवार नियोजन की कमी की मुख्य वजह है।” सरमा ने कहा कि उनकी सरकार अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं को शिक्षित करने की ओर काम करेगी ताकि इस समस्या से प्रभावी रूप से निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार मंदिर, सत्रों (जहां गुरु रहते थे, या उनके कुछ अवशेष संरक्षित किए गए हैं।) और वन भूमि का अतिक्रमण नहीं करने दे सकती और समुदाय के सदस्यों ने भी सरकार को आश्वस्त किया है कि वे इन भूमि का अतिक्रमण नहीं चाहते। मुख्यमंत्री ने समुदाय के नेताओं से आत्मावलोकन करने और लोगों को जनसंख्या नियंत्रण के लिए प्रेरित करने का अनुरोध किया।

असम में पिछले दिनों राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC), नागरिकता संशोधन कानून (CAA) आदि मुद्दों को लेकर राज्य के कुछ लोगों में काफी नाराजगी रही। इसको लेकर वहां आंदोलन भी हुए। हालांकि तमाम विरोध और दावों के बावजूद वहां बीजेपी सरकार फिर से सत्ता में आने में कामयाब रही।

मुख्यमंत्री ने समुदाय के नेताओं से आत्मनिरीक्षण करने और लोगों को आबादी पर नियंत्रण करने के लिए प्रोत्साहित करने का आग्रह किया। कहा कि जब सब लोग शिक्षित होंगे और छोटा परिवार होगा तो आर्थिक स्थिति भी सुधरेगी और घर का माहौल भी अच्छा होगा। उन्होंने अल्पसंख्यक समुदाय से आग्रह किया कि वे बिना किसी डर के रहें और खुद को शिक्षित कर समाज की मुख्य धारा से खुद को जोड़ें।

Next Stories
1 असम में एयरपोर्ट का रखरखाव अडाणी ग्रुप को सौंपने के खिलाफ उतरा AJP, कहा- सरकार का फैसला एकतरफा और तानाशाही
2 Assam Election Results 2021 Constituency-wise: असम विधानसभा चुनाव परिणाम, जानें कहां कौन जीता, किसकी हुई हार
3 कुर्सी के लिए अभी से दावेदारी करने लगे कांग्रेस के नेता
ये  पढ़ा क्या?
X