ताज़ा खबर
 

असम में कांग्रेस को झटका! MLA रूपज्योति कुमार का इस्तीफा, बोले- INC में युवाओं की नहीं सुनी जाती, सभी सूबों में बिगड़ रहे हालात

रूपज्योति कुर्मी ने पार्टी से और विधानसभा से शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया और कहा कि वह जल्द ही भाजपा में शामिल होंगे। विपक्षी दल कांग्रेस के लिए यह एक बड़ा झटका है।

विधायक रूपज्योति कुर्मी ने कांग्रेस छोड़ने का किया एलान (File photo | ANI)

कांग्रेस पार्टी को एक के बाद एक झटके लग रहे हैं। हालही में दिग्गज नेता जितिन प्रसाद के पार्टी छोड़ने के बाद अब असम में उन्हें बड़ा झटका लगा है। असम विधायक रूपज्योति कुर्मी ने पार्टी छोड़ने का एलान किया है। रूपज्योति कुर्मी का आरोप है कि कांग्रेस पार्टी युवाओं की आवाज सुन नहीं रही।

रूपज्योति कुर्मी ने पार्टी से और विधानसभा से शुक्रवार को इस्तीफा दे दिया और कहा कि वह जल्द ही भाजपा में शामिल होंगे। विपक्षी दल कांग्रेस के लिए यह एक बड़ा झटका है। मारिअनी विधानसभा सीट से विधायक कुर्मी ने विधानसभा अध्यक्ष बिस्वजीत दैमारी को यहां उनके कार्यालय में इस्तीफा सौंपा। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भी अपना इस्तीफा दे चुके हैं। चार बार विधायक रह चुके कुर्मी ने कहा कि वह 21 जून को भाजपा में शामिल होंगे।

रूपज्योति कुर्मी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस आलाकमान युवाओं को नहीं सुनना चाहते हैं, इसलिए सभी राज्यों में पार्टी की स्थिति बिगड़ती जा रही है। रूपज्योति कुर्मी ने राहुल गांधी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी नेतृत्व करने में असमर्थ हैं, अगर वह कांग्रेस की कमान संभालते हैं तो पार्टी आगे नहीं बढ़ेगी।

कविता ‘शव वाहिनी गंगा’ की तारीफ करने वाले ‘साहित्यिक नक्सल’- गुजरात साहित्य अकादमी प्रमुख ने लिखा; लामबंद हुईं 169 साहित्यिक हस्तियां

कुर्मी ने कहा कि इस बार असम विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के पास जीतने का अच्छा मौका था। इस बारे में उन्होंने आलाकमान को भी अवगत कराया था, लेकिन पार्टी ने एआईयूडीएफ के साथ गठबंधन करके सब गड़बड़ कर दिया।

कुर्मी ने आरोप लगाया कि आलाकमान अभी तक बुजुर्ग नेताओं को ही प्राथमिकता देता रहा है। युवाओं की बात वह नहीं सुनना चाहते हैं। इस बीच कांग्रेस ने कुर्मी को ‘‘उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियों’’ के चलते पार्टी से निष्कासित कर दिया है।

असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने एक वक्तव्य में कहा कि इस फैसले को अखिल भारतीय कांग्रेस समिति ने मंजूरी दी है। बोरा ने पूर्व विधायक राणा गोस्वामी की अगुवाई में तीन सदस्यीय दल बनाया है जो मारिअनी क्षेत्र में जाकर वहां राजनीतिक हालात का जायजा लेगा। कुर्मी चाय बागान श्रमिक समुदाय से आते हैं। वह कांग्रेस के मंत्री रह चुके रूपम कुर्मी के पुत्र हैं तथा मरिआनी क्षेत्र से 2006 से चुनाव जीतते रहे हैं।

Next Stories
1 केरल BJP चीफ की बढ़ी मुश्किलें! घूसकांड में केस, जानें- क्या है पूरा मामला?
2 आप राम का नाम लेंगे, वे मुरलीधारी कृष्ण का नाम ले रहे हैं तो क्या दिक्कत है, एंकर के सवाल पर रविकिशन बोले- पहले तो छाती पीटते थे
3 पॉक्सो एक्ट की FIR शेयर करने पर दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता पर पुलिस का शिकंजा
ये पढ़ा क्या?
X